सीकर

--Advertisement--

बिजली पोल से टकराया ट्रेलर, धमाके के साथ आग से खलासी जिंदा जला

जीर की घाटी से पाटन की तरफ जा रहा था ट्रेलर, हादसे के आधा घंटे बाद तक नहीं मिली मदद

Danik Bhaskar

Jan 25, 2018, 06:57 AM IST

नीमकाथाना/सीकर. भराला मोड़ पर मंगलवार रात रोड़ी से ओवरलोड ट्रेलर लंबे ढलान वाले घुमाव में अनियंत्रित होकर पलट गया। सड़क पर करीब 20 फीट तक ट्रेलर घसीटते हुए बिजली पोल से टकरा गया। इससे ट्रेलर पर 11 केवी बिजली लाइन के तार गिर गए। इससे तेज धमाके के साथ आग लग गई। हादसे में खलासी की मौत हो गई, जबकि चालक बच गया। हादसा इतना भीषण था कि एक घंटे तक आग की लपटें उठती रही। चालक दूर खड़ा मदद के लिए चिल्लाता रहा। उसका मोबाइल भी ट्रेलर में छूट गया। इससे सहायता के लिए किसी को फोन भी नहीं कर पाया। दहशत के कारण वह मौके से भाग गया।

ट्रेलर पलटा तो मैं कूद गया, तेज धमाके से लगी आग में पिंकू जिंदा जल गया: ड्राइवर

ड्राइवर भवानी सिंह ने बताया कि भराला मोड़ पर सड़क के बड़े घुमाव में ट्रेलर अनियंत्रित हो गया। गाड़ी कंट्रोल नहीं हुई तो मैं कूद गया। पिंकू को बचाने जाता, इससे पहले ही ट्रेलर बिजली के पोल से टकरा गया। तेज धमाके के साथ उसमें आग लग गई। हादसे से मैं बुरी तरह घबरा गया था। मेरा मोबाइल भी ट्रेलर में ही रह गया था। पिंकू बचाने के लिए चिल्लाने लगा, लेकिन मैं बेबस क्या कर सकता था। कुछ समझ नहीं आया। कुछ देर मैं वहीं पर रुका फिर डर के कारण मौके से भाग गया। बिजली के तार बिखरे होने से करंट के डर से पास नहीं जा सका।

छह भाइयों में 5वें नंबर का था पिंकू, अविवाहित था
हादसे की सूचना मिलने पर परिजन सदमे में आ गए। परिजनों ने बताया कि नरेशसिंह उर्फ पिंकू अपने चचेरे भाई भवानीसिंह के साथ ट्रेलर पर कई दिनों से खलासी का काम करता था। जीर की घाटी में स्टोन क्रेशर से रोड़ी भरकर दोनों रात करीब 11 बजे पाटन की तरफ निकले थे। पिंकू छह भाइयों में पांचवें नंबर का था। वह अविवाहित था।

सड़क पर बिखरे थे तार, पुलिस व दमकल आने तक कोई ट्रेलर के पास नहीं गया

भराला मोड़ पर ट्रेलर में में फंसा खलासी चिल्लाता रहा। आग की लपटों में वह जिंदा जल गया, लेकिन कोई पास नहीं गया। सड़क पर 11 केवी बिजली लाइन के तार बिखरे थे। करंट के डर से कोई ट्रेलर तक जाने की हिम्मत नहीं जुटा सका। सीकर कंट्रोल रूम से सदर पुलिस को रात 12 बजे हादसे की सूचना मिली। सीआई शीशराम ओला पुलिस व दमकल के साथ मौके पर पहुंचे। सीआई ने रास्ते से एवीएनएल अधिकारियों से बात कर बिजली सप्लाई बंद कराई।


हादसे के बाद सड़क पर रोड़ी व डीजल फैल गया। पुलिस ने वाहनों को पुरानी सड़क से बालेश्वर मोड़ होकर निकाला। देर रात ट्रेलर को सड़क से हटाने के बाद यातायात सुचारु हो सका। सड़क पर हादसे के निशान बिखरे हुए थे। ग्रामीणों ने घुमाव खत्म करने की मांग की।

स्टेट हाईवे का एक हिस्सा क्षतिग्रस्त होना

कोटपूतली-कुचामन स्टेट हाईवे का एक हिस्सा क्षतिग्रस्त है। निर्माण में खामियों व हैवी ट्रैफिक के कारण सड़क का एक हिस्सा पूरी तरह धंस गया। अमूमन वाहन चालक सड़क के बीच से गाड़ियों को निकालते हैं। रोड़ी से भरा ट्रेलर सड़क पर ढलान में तेज गति से पाटन की तरफ जा रहा था। घुमाव में संतुलन बिगड़ने से ट्रेलर पलट गया। घसीटते हुए करीब 20 फीट तक बिजली पोल से टकराया।

तेज घुमाव व सड़क के सहारे बिजली पोल

स्टेट हाईवे पर जीर की घाटी से भराला मोड़ के बीच बड़ा घुमाव है। सड़क के सहारे बिजली के पोल लगे हैं। 11 केवी बिजली लाइन के तार गिरने से ट्रेलर में आग लगी। हादसे में ट्रेलर की स्पीड, तेज घुमाव व सड़क के सहारे बिजली पोल को मुख्य वजह माना जा रहा है।

स्टेट हाईवे से निकलने वाले वाहन चालकों ने पुलिस को सूचना दी

- जब तक सहायता पहुंची, ट्रेलर के अगले हिस्से में फंसा खलासी जिंदा जल गया। आग की लपटें व धुआं उठता देखकर आसपास के लोग भी मौके पर पहुंचे।

- पुलिस ने दमकल की मदद से आग पर काबू पाया। खलासी का शव पूरी तरह जल गया। पुलिस ने शव को निकालकर मोर्चरी में रखवाया।

- मृतक की पहचान कोटपूतली के बनेठी निवासी नरेश सिंह उर्फ पिंकू (28) पुत्र तेजसिंह के रूप में हुई। सूचना पर देर रात परिवार के लोग भी नीमकाथाना पहुंच गए। बुधवार को पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंपा गया।

Click to listen..