सीकर

--Advertisement--

लड़की बोली- वो जबरन दुबई भेजना चाहता है , रोज दे रहा था ऐसी धमकी

ये धमकी उसके घर के पास स्थित एक दुकान पर बैठने वाला आसिफ नाम का युवक पिछले कई दिनों से दे रहा था।

Danik Bhaskar

Jan 26, 2018, 05:20 AM IST

सुदुलपुर। कस्बे के निजी स्कूल में 10वीं क्लास में पढ़ने वाली एक 15 साल की छात्रा का भाई व पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी के डर से गुरुवार को भादरा चली गई। ये धमकी उसके घर के पास स्थित एक दुकान पर बैठने वाला आसिफ नाम का युवक पिछले कई दिनों से दे रहा था। छात्रा के अनुसार आसिफ उसे जबरन दुबई भेजना चाह रहा है। दुबई नहीं जाने पर उसके परिवार को मारने की धमकी दे रहा था। इसलिए उसके कहने पर वह भादरा चली गई। पुलिस ने 3 घंटे के अंदर ही मामले का सॉल्व करते हुए छात्रा को भादरा के होटल से बरामद कर लिया।

छात्रा सुबह करीब साढ़े नौ बजे स्कूल जाने के लिए घर से निकली थी, लेकिन वह स्कूल नहीं पहुंची। गुरुवार से ही 10वीं के प्री-बोर्ड एग्जाम शुरू हुए हैं। इसलिए 10.30 बजे तक छात्रा स्कूल नहीं पहुंची, तो मोहता पब्लिक स्कूल के प्रिंसीपल आरके अरोड़ा ने परिजनों को फोन कर सूचना दी। तब परिजन स्कूल पहुंचे। वहां उसके साथ स्कूल जाने वाली छात्रा से पूछताछ की तो उसने बताया कि अग्रसेन सर्किल पर बाइक सवार युवक व एक महिला चाकू दिखाकर छात्रा को अपने साथ ले गए। अपहरण की आशंका पर परिजनों ने तत्काल पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने चारों तरफ नाकाबंदी करवाई। अपहरण की सूचना मिलने पर लोग आक्रोशित हो गए।

विधायक मनोज न्यांगली व पूर्व चेयरमैन नंदकिशोर मरोदिया स्कूल परिसर में धरने पर बैठ गए, वहीं पूर्व सांसद रामसिंह कस्वां, पूर्व संसदीय सचिव इंद्रसिंह पूनिया व चेयरमैन जगदीश बैरासरिया ने स्कूल पहुंचकर घटना की जानकारी ली। लोगों में बढ़ते आक्रोश को देखते हुए पुलिस के हाथ-पांव फूल गए। लेकिन कुछ ही देर बाद छात्रा ने परिजनों को फोन कर भादरा के होटल में रुकने की जानकारी दी। इसके बाद पुलिस ने भादरा पुलिस के सहयोग से छात्रा को बरामद कर लिया और परिजनों को सौंप दिया।

मनचलों के खिलाफ कार्रवाई की मांग

कस्बे के लोगों ने एएसपी राजेंद्र मीणा के समक्ष शहरी क्षेत्र में बाइक सवार मनचलों द्वारा लड़कियों के साथ की जा रही बदमाशी पर रोक लगाने की मांग की। विहिप के प्रखंड मंत्री प्रवीण सरदारपुरा, वासुदेव लुहारीवाला, मुकेश रामपुरा, राजेश बैरासरिया ने बताया कि शहरी क्षेत्र में बाइक सवार कई मनचले छात्राओं के साथ छेड़छाड़ व बदतमीजी करते हैं। (नाबालिग होने के कारण भास्कर छात्रा की पहचान उजागर नहीं कर रहा )

किडनैपिंग मानकर पुलिस ने करवाई थी नाकाबंदी विधायक ने धरना भी दिया
छात्रा बोली-घर के पास दुकान पर बैठने वाला आसिफ उसे जबरन दुबई भेजना चाहता है, रोज धमकी दे रहा था
छात्रा के फोन करने पर भादरा पुलिस ने वहां के एक होटल से बरामद किया, 3:30 बजे परिजनों के सुपुर्द

पुलिस ने खंगाले सीसीटीवी फुटेज, नहीं मिला कोई क्लू तो हुआ शक
पुलिस ने छात्रा के साथ स्कूल जाने वाली छात्रा के बताए अनुसार अग्रसेन सर्किल के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले। लेकिन बाइक पर छात्रा का अपहरण कर ले जाने जैसा कोई क्लू नहीं मिला तो पुलिस को शक हुआ। फिर भी पुलिस ने स्कूल और स्कूल से घर के रास्ते में लगे सीसीटीवी फुटेज देखे। इस बीच छात्रा ने खुद फोन कर परिजनों को भादरा में होने की बात कही तो पुलिस की जान में जान आई। पुलिस ने भादरा पुलिस के सहयोग से छात्रा को बरामद कर परिजनों को सौंप दिया। डीवाईएसपी सुरेशचंद्र के अनुसार गुरुवार सुबह थाने में सूचना मिली कि बाइक सवार युवक व एक औरत मोहता पब्लिक स्कूल में अध्ययनरत छात्रा काे चाकू दिखाकर बाइक पर बैठाकर अपहरण कर ले गए। इस सूचना पर क्षेत्र में नाकाबंदी करवाई गई तथा स्कूल व बैंक के सीसीटीवी फुटेज खंगाले गए, जिनमें घटना की पुष्टि नहीं हुई। छात्रा के अपहरण की सूचना पर बड़ी संख्या में अभिभावक व अन्य लोग स्कूल पहुंच गए। मैन गेट के ऊपर लगे सीसीटीवी कैमरे के खराब होने पर स्कूल प्रबंधन को खूब खरी खौटी सुनाई। लोगों ने कहा कि स्कूल जैसी संस्था के मैन गेट पर कैमरा खराब होना चिंताजनक है। एक घटना पहले भी घट चुकी है।


भादरा पुलिस ने नाबालिग को हिरासत में लिया
डीएसपी ने बताया कि छात्रा की तरफ से बताए गए निशांत के बारे में जांच की गई, तो उसकी पहचान भादरा के ही नाबालिग युवक रूप में हुई। पुलिस ने लड़के से पूछताछ की, तो दूसरी कहानी सामने आई। लड़के के अनुसार छात्रा का भादरा ननिहाल है और उसका उसके परिवारवालों से परिचय है। छात्रा ने भादरा आकर उसे सूचना दी, जिसके आधार पर वह उसके पास मिलने पहुंचा। छात्रा ने उसे चार हजार रुपए दिए और दुबई की टिकट बनवान की कही। उसने छात्रा से कहा कि दुबई की टिकट ऐसे ही नहीं बनती। इसके बाद छात्रा उसके साथ बाजार गई और एक दुकान से 5800 रुपए का मोबाइल खरीदा।

परीक्षा के लिए आने का कहकर मांगा था कमरा
होटल मालिक ने पुलिस को बताया कि उक्त छात्रा बस स्टैंड से उतरते ही उसके यहां आई थी। छात्रा ने कहा कि वह यहां परीक्षा देने आई है, दो दिन के लिए कमरा चाहिए। कमरे के लिए मना करने पर छात्रा ने कहा कि उसे कपड़े बदलने हैं, कुछ समय के लिए कमरा दे दो। इस पर उसने एक कमरा खुलवा दिया। इसके बाद छात्रा ने उसके मोबाइल से किसी युवक से बात की। उक्त युवक का उसके मोबाइल पर दो बार मिस कॉल आया, तो उसने छात्रा को इसके बारे में बताया। थोड़ी देर बाद लड़का बाइक लेकर आ गया, छात्रा उसके साथ चली गई। डेढ़ घंटे बाद वापस आई। फिर वेटर के फोन से घर पर परिजनों को फोन से सूचना दी। इसके बाद वह होटल से निकल गई। होटल से निकलने के बाद कुछ दूर जाकर छात्रा ने वहां लोगों को इक्कठा कर लिया और कहा के उसके बम बांधा हुआ है। इधर राजगढ़ पुलिस व भादरा से परिजनों का फोन आने पर होटल मालिक आदि छात्रा को देखने निकले, तो कुछ ही दूरी पर वह लोगों के बीच खड़ी दिखाई दी।

इस तरह चला घटनाक्रम
घर से निकली- सुबह 9.15 बजे
स्कूल के गेट तक पहुंची-9.30 बजे, वहां से बस स्टैंड चली गई और बस से भादरा रवाना हो गई
स्कूल प्रिंसिपल ने परिजनों को फोन किया- सुबह 10.30 बजे
परिजन स्कूल पहुंचे- 10.40 बजे
पुलिस को फोन किया-10.45 बजे
भादरा होटल से युवक को फोन कर के बुलाया-11.30 बजे
छात्रा का परिजनों के पास फोन आया- दोपहर 1.15 बजे
पुलिस होटल पहुंची- 1.30 बजे
राजगढ़ पुलिस छात्रा को लेकर पहुंची-दोपहर 3.30 बजे
चाचा ने कराया किडनैपिंग का मामला दर्ज
पुलिस के अनुसार छात्रा के चाचा ने रिपोर्ट दी कि गुरुवार सुबह नौ बजे उसके परिवार में भतीजी राजगढ़ के मोहता पब्लिक स्कूल जाने के लिए निकली थी। 11 बजे स्कूल से फोन आया कि वह स्कूल नहीं पहुंची। उसकी सहेली से पूछा तो पता चला कि उसका चाकू दिखाकर अपहरण कर ले गए।

Click to listen..