सीकर

--Advertisement--

थाने में भिड़ गए एसएचओ-हैड कांस्टेबल, सोशल मीडिया पर मैसेज वायरल

हैडकांस्टेबल के नाइट ड्यूटी पर नहीं पहुंचने काे लेकर हुआ विवाद, मामले में बड़े अधिकारियों ने साधी चुप्पी

Dainik Bhaskar

Dec 31, 2017, 05:23 AM IST
हैड कांस्टेबल पवन: मैंने कहा औकात में रहकर बात कीजिए हैड कांस्टेबल पवन: मैंने कहा औकात में रहकर बात कीजिए

सीकर. सोशल मीडिया पर शनिवार को मैसेज वायरल हो गया कि रानोली थानाधिकारी अरविंद सिंह शेखावत ने सिपाही पवन को देर रात पीटा। पुलिस अधिकारियों ने इस मामले में चुप्पी साध ली।

एसएचओ अरविंद सिंह ने बताया कि हैड कांस्टेबल पवन कुमार शर्मा गौरियां चौकी में कार्यरत है। गुरुवार शाम को फतेहपुर रोड पर उपद्रव की सूचना पर वह घटनास्थल पर पहुंचे। रात तक उपद्रवियोंं को पकड़कर रानोली थाने में लाया गया। गुरुवार को नाइट ड्यूटी ऑफिसर पवन कुमार शर्मा थे, लेकिन वे नहीं आए। उन्होंने डेढ़ बजे पवन को फोन किया। पवन ने कहा कि उसे नींद आ गई, इसलिए नहीं आया। अरविंद सिंह ने कहा कि 15 मिनट में थाने में आ जाओ। पवन ने जवाब दिया वह चौकी में है, लेने के लिए थाने से गाड़ी भिजवा दी जाए।

एसएचओ ने कहा कि अगर 15 मिनट में नहीं आया तो उसकी गैर हाजिरी लगा दी जाएगी। करीब 2:30 पर पवन कुमार थाने में पहुंचा। जहां अनुशासनहीनता बरतने के मामले में पवन कुमार से जवाब मांगा।

आरोप है कि पवन ने एसएचओ के साथ दुर्व्यवहार किया। मामले में हैड कांस्टेबल पवन का कहना है कि मैंने रात को सोचा कि ड्यूटी ऑफिसर बदल दिया गया होगा, इसलिए सो गया। मेरी बात को एसएचओ नहीं समझ सके। रानोली थाने में हैड कांस्टेबल पवन कुमार के खिलाफ थानाधिकारी से दुर्व्यवहार करने के मामले में रपट लिखी गई है।

सीओ ग्रामीण : मुझे मालूम नहीं है कि क्या हुआ
सीओ ग्रामीण अयूब खान का कहना है कि उन्हें विवाद की जानकारी नहीं है। जबकि एसएचओ ने उन्हें मामले से अवगत करा दिया था। एसपी राठौड़ विनीत कुमार से जानकारी लेने का प्रयास किया गया, लेकिन फोन रिसीव नहीं हुआ।

मैंने कहा औकात में रहकर बात कीजिए |

हैड कांस्टेबल पवन शर्मा ने बताया कि एसएचओ जोर से बात कर रहे थे। मैंने कहा औकात में रहकर बात कीजिए। मामला बढ़ गया। बाद में सीओ ग्रामीण अयूब खान ने मामले में समझाइश की।

एसएचओ अरविंद सिंह : पवन ने मेरे साथ अभद्रता की एसएचओ अरविंद सिंह : पवन ने मेरे साथ अभद्रता की

 एसएचओ अरविंद का कहना है कि हैडकांस्टेबल पवन शर्मा उन्हें बदनाम करने का प्रयास कर रहा है। उन्होंने उसके साथ मारपीट नहीं की। उल्टा पवन ने स्टाफ के सामने उनसे अभद्रता की।

 

X
हैड कांस्टेबल पवन: मैंने कहा औकात में रहकर बात कीजिएहैड कांस्टेबल पवन: मैंने कहा औकात में रहकर बात कीजिए
एसएचओ अरविंद सिंह : पवन ने मेरे साथ अभद्रता कीएसएचओ अरविंद सिंह : पवन ने मेरे साथ अभद्रता की
Click to listen..