--Advertisement--

सवारी और ट्रेवल्स कर्मचारियों के बीच मारपीट, बस में सामान रखने को लेकर विवाद

ट्रेवल्स कर्मचारियों का कहना था कि बस की डिग्गी पहले से ही भरी हुई थी, जिसमें सामान रखने के लिए जगह नहीं थी

Danik Bhaskar | Dec 31, 2017, 05:38 AM IST

सीकर. कल्याण सर्किल पर निजी बस में सामान को डिग्गी में रखने को लेकर शनिवार रात को सवारियों व ट्रेवल्स कर्मचारियों के बीच विवाद हुआ। विवाद बढ़ने पर दोनों पक्षों के लोग आमने सामने हो गए। दोनों पक्षों ने एक दूसरे के साथ मारपीट की। ट्रेवल्स कंपनी में से कुर्सी व टेबल को निकालकर सड़क पर फेंक दिया गया। सूचना मिलने पर कोतवाली पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस मौके पर झगड़ रहे लोगों को पकड़कर थाने ले गई। सब इंस्पेक्टर रामकिशोर ने थाने में दोनों पक्षों से पूछताछ की।

कटराथल निवासी नरेंद्र कुमार जाट ने पुलिस को बताया कि वह अपने भाई मुकेश कुमार के साथ सीकर से सूरतगढ़ जा रहा था। जिसके लिए दो टिकट पहले ले ली थी। बस जब जयपुर से आकर रूकी तो वह उसमें बैठ गए। नरेंद्र ने ट्रेवल्स कर्मचारियों को अपना बैग डिग्गी में रखने के लिए कहा। कर्मचारियों ने कहा कि बैग को अपने पास रखो, डिग्गी में नहीं रखा जा सकता है। फिर ट्रेवल्स कर्मचारियों ने उनके साथ मारपीट की।

वहीं, राज ट्रेवल्स के कर्मचारी सचिन कौशिक ने पुलिस को बताया कि जयपुर से बस की डिग्गी भरी हुई आई थी। जिसमें सामान रखने के लिए जगह नहीं थी। जब नरेंद्र ने बैग को डिग्गी में रखने के लिए कहा तो उन्हें बता दिया कि डिग्गी में जगह नहीं है। बैग को डाउन स्लिपर के नीचे रखवा दिया जाएगा। लेकिन सवारी नरेंद्र व मुकेश नहीं माने, इनमें मुकेश फौजी है। बाद में दोनों सवारियों ने कुछ लोगों को बुलाया। जिन्होंने ट्रेवल्स एजेंसी पर आकर तोड़फोड़ व कर्मचारियों के साथ मारपीट शुरू कर दी। हालांकि- दोनों पक्षों की और से देर रात तक थाने में कोई मुकदमा दर्ज नहीं कराया गया।