--Advertisement--

गर्लफ्रेंड के पति की हत्या के आरोपियों को सजा, पत्नी बोली मुझे भी उम्रकैद की सजा दो

पुनियाणा में 2009 में हुई थी हत्या, मृतक की पत्नी एक अन्य को संदेह का लाभ देकर बरी किया।

Dainik Bhaskar

Dec 14, 2017, 07:52 AM IST
Sentenced to the accused of murder of girlfriends husband

सीकर। दांतारामगढ़ के पुनियाणा गांव में प्रेमिका के पति की हत्या कर शव खेत मंे दबाने के मामले में अपर सेशन न्यायाधीश क्रम-1 राजकुमार ने दो आरोपियों प्रहलाद जाट महावीर प्रसाद जाट को उम्रकैद की सजा सुनाई। दोनों पर 22500-22500 रुपए का जुर्माना भी लगाया है। वहीं अभियुक्ता रूपा देवी दातारसिंह राजपूत को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया है। एक आरोपी अभी तक फरार चल रहा है।

आरोपी ने कोर्ट से लगाई उम्रकैद की सजा की गुहार

- आरोपी रुपा देवी पत्नी मृतक नोलाराम जाट न्यायाधीश की ओर से उसे बरी करने का आदेश सुनकर कोर्ट रूम में ही रो पड़ी। उसने न्यायाधीश से कहा कि आप मुझे भी उम्रकैद की सजा दे दो। अब मैं बाहर रहकर कहां जाऊंगी। एपीपी रामअवतार शर्मा ने बताया कि हमने 28 गवाहों के बयान करवाए और सबूतों सहित 109 दस्तावेज न्यायालय के समक्ष पेश किए। कोर्ट ने सारे सबूत पत्रावली को सुरक्षित करने के भी आदेश दिए हैं।

- एपीपी रामअवतार शर्मा ने बताया कि दांतारामगढ़ का पुनियाणा निवासी नोलाराम जाट 23 जनवरी 2009 को घर से 10 मिनट में आने की कहकर गया था, लेकिन दो दिन तक नहीं लौटा। उसके भाई सांवरमल ने थाने में गुमशुदगी दर्ज करवाई।

- तीन दिन बाद 28 जनवरी को परिवादी सांवरमल ने दांतारामगढ़ थाने में रिपोर्ट लिखवाई कि उसका भाई श्यामलाल खीचड़ के घर गया था। जहां उसके भाई के पास प्रहलाद डोगीवाल का फोन आया था और वह भाई को मोटरसाइकिल दिलाने के बहाने सामेर के महावीर के पास छोड़ने की बात कह रहा था। प्रहलाद महावीर उसकी भाभी के पास आते-जाते थे।

कॉल डिटेल से आरोपी हुआ गिरफ्तार

- सांवरमल ने आशंका जताई कि इन्होंने उसे बंधक बना रखा है या खत्म कर दिया। उक्त रिपोर्ट के बाद पुलिस ने मामले की जांच की। मृतक की कॉल डिटेल निकलवाई गई और आरोपी प्रहलाद को गिरफ्तार किया गया। दोनों आरोपियों ने पूछताछ से मिली जानकारी के अाधार पर सामेर गांव में महावीर के खेत से नोलाराम का शव जमीन से निकाला।

- मृतक नोलाराम के गले में एक मफलर कस कर बांधा हुआ था। मृतक के जूतों को एक कुएं में डाल दिया था। पुलिस ने आरोपियों से पर्स, तोड़ा गया मोबाइल सिम भी जब्त की। दोनों पक्षों की बहस सुनने के बाद अपर सेशन न्यायाधीश क्रम-1 राजकुमार ने प्रहलाद जाट पुत्र रामदेव जाट निवासी पुनियाणा, महावीर प्रसाद पुत्र रामधन जाट निवासी बिजारणियों की ढाणी तन सामेर खाटूश्यामजी को उम्रकैद की सजा सुनाई। दोनों पर 22500 रुपए का जुर्माना लगाया।

- जुर्माना नहीं चुकाने पर दोनों अभियुक्तों को 15-15 दिन, एक-एक वर्ष एक-एक महिने का साधारण कारावास अलग से भुगतना होगा। मूल सजाएं साथ-साथ चलेंगी। अभियुक्ता रुपा देवी तथा अभियुक्त दातारसिंह उर्फ कालूसिंह पुत्र तेजसिंह राजपूत निवासी सांडेला नागौर को संदेह का लाभ देते हुए बरी कर दिया गया। एक आरोपी ने गिरफ्तार होने पूरे गवाह पेश होने के बाद बेल पर रिहा हो गया था, जिसके बाद वह फरार चल रहा है।

मृतक के भाई और मां ने कोर्ट में दिए बयान

- मृतक के भाई सांवरमल और मृतक की मां चंद्री देवी ने पहली बार कोर्ट में सही बयान दे दिए। अभियुक्त के वकीलों ने हाईकोई में रिट दायर कि उसने उक्त दोनों गवाहों से जिरह नहीं की है। हाईकोर्ट ने इसे मान्य कर दिया।

- दोनों गवाह दूसरी बार कोर्ट में बयानों से मुकर गए। इस पर परिवादी की ओर से राज्य सरकार सुप्रीम कोर्ट गई। सुप्रीम कोर्ट ने अपने निर्णय में कहा कि एक बार यदि कोर्ट में स्वतंत्र निष्पक्ष रुप से गवाही हो जाती है तो उसकी दोबारा गवाही लिए जाने की कोई जरूरत नहीं है।

Sentenced to the accused of murder of girlfriends husband
X
Sentenced to the accused of murder of girlfriends husband
Sentenced to the accused of murder of girlfriends husband
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..