--Advertisement--

10वीं की लड़की को ले भागा टीचर, शक होने पर फैमिली ने बंद करवाई थी पढ़ाई

छात्रा भी इसी स्कूल में 10वीं में पढ़ती थीं। इस हरकत के बाद परिजनों ने छात्रा को स्कूल छुड़वा पढ़ाना बंद करवा दिया।

Dainik Bhaskar

Jan 16, 2018, 10:58 PM IST
सांकेतिक तस्वीर। सांकेतिक तस्वीर।

सीकर. बिकमसरा के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में प्रतिनियुक्ति पर कार्यरत दिव्यांग शिक्षक हरियासर घड़सौतान की एक नाबालिग को भगा ले गया। इसी नाबालिग के साथ छेड़छाड़ के मामले में आरोपी को पहले भी स्कूल से हटाया गया था। मामला 12 जनवरी की रात का है। इसका पता चला तो उन्होंने सरदारशहर पहुंचकर डीएसपी दफ्तर पर प्रदर्शन किया और आरोपी शिक्षक को गिरफ्तार कर नाबालिग को बरामद करने की मांग की।

- पुलिस के अनुसार, हरियासर घड़सौतान के एक व्यक्ति ने रिपोर्ट दी कि उसकी 17 वर्षीय पुत्री को 12 जनवरी की रात टीचर काशीराम जाट भगाकर ले गया।
- बता दें कि अगस्त 2015 में इसी छात्रा के साथ छेड़छाड़ के आरोप में ग्रामीणों के विरोध प्रदर्शन पर उसे भोजासर के स्कूल में प्रतिनियुक्ति पर भेज दिया था। घटना को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश है। गांव के ग्रामीण बड़ी संख्या में सोमवार को डीएसपी कार्यालय पहुंचे और आक्रोश व्यक्त किया।
- इसके बाद ग्रामीणों का प्रतिनीधि मंडल डीएसपी वेदप्रकाश शर्मा से मिला और आरोपी शिक्षक को जल्द गिरफ्तार करने की मांग की। प्रतिनिधिमंडल में जगदीश प्रसाद स्वामी, पूर्णसिंह भाटी, किशनलाल स्वामी, ओमप्रकाश सैनी, बुधाराम शामिल थे।


ग्रामीणों के विरोध पर दो साल पहले हटाया था
- अध्यापक काशीराम ने छात्रा के साथ अगस्त 2015 में भी छेड़छाड़ की थी। तब काशीराम पहले हरियासर घड़सौतान के राउमावि में तैनात था। छात्रा भी इसी स्कूल में 10वीं में पढ़ती थीं। इस हरकत के बाद परिजनों ने छात्रा को स्कूल छुड़वा पढ़ाना बंद करवा दिया।
- वहीं ग्रामीणों के विरोध करने पर विभाग ने उसे प्रतिनियुक्ति पर भोजासर के स्कूल में भेज दिया, लेकिन इसके बावजूद वह छात्रा के संपर्क में रहा। सात माह पहले उसने अपनी पोस्टिंग बिकमसरा के स्कूल में करवा ली।

सांकेतिक तस्वीर। सांकेतिक तस्वीर।
X
सांकेतिक तस्वीर।सांकेतिक तस्वीर।
सांकेतिक तस्वीर।सांकेतिक तस्वीर।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..