Hindi News »Rajasthan »Sikar» जैकेट व पेज एक का शेष

जैकेट व पेज एक का शेष

एसआईटी के दो डीसीपी के नेतृत्व में भारी पुलिस बल छानबीन में जुटा था। जांच में पता चले तथ्यों के आधार पर सीबीएसई के...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 01, 2018, 04:40 AM IST

जैकेट व पेज एक का शेष
एसआईटी के दो डीसीपी के नेतृत्व में भारी पुलिस बल छानबीन में जुटा था। जांच में पता चले तथ्यों के आधार पर सीबीएसई के कर्मचारियों को देर रात मुख्यालय में ही बुलाकर पूछताछ की गई। छापे की सही-सही कार्रवाई का ब्योरा देर रात तक पता नहीं चला था। हालांकि, सूत्रों का दावा है कि पेपर सेट करने से लेकर उसे सेंटरों तक भेजने की प्रक्रिया से जुड़े दस्तावेज जब्त किए जा रहे हैं। सूत्रों का दावा है कि पेपर लीक की कई अहम कड़ियां पुलिस जोड़ चुकी है। जल्द ही इस मामले में बड़ा खुलासा संभव है। दूसरी तरफ, पेपर लीक कांड में झारखंड पुलिस ने चतरा में 12 लोगों को गिरफ्तार किया है। इनमें एक कोचिंग संस्थान के दो संचालक, एक शिक्षक और नौ छात्र हैं। चतरा में यह पेपर वाट्सएप के जरिये पटना से पहुंचा था। गिरफ्तार किया गया एक कोचिंग संचालक एबीवीपी का जिला संयोजक भी है।

पंजाब से व्हिसलब्लोअर को हिरासत में लिया : सीबीएसई चेयरपर्सन को ईमेल से पेपर लीक की सूचना देने वाले व्हिसलब्लोअर को पुलिस ने पंजाब से हिरासत में लिया है। उससे पेपर के सोर्स पर पूछताछ जारी है। उसके बारे में गूगल से जानकारी थी। शनिवार तक 53 छात्रों सहित 60 लोगों से एसआईटी पूछताछ कर चुकी थी। तीन लोगों के मोबाइल फोन भी जब्त किए गए हैं। एसआईटी ने वाट्सएप को नोटिस भेजकर पूछा है कि पेपर सबसे पहले किस ग्रुप पर आया था। दिल्ली और हरियाणा के साथ यूपी के भी कई शहरों में छापे मारे जा रहे हैं।

पॉलिटिकल व हिंदी के पेपर लीक होने का भी दावा : 2 अप्रैल को होने वाले 12वीं के हिंदी इलेक्टिव और 6 अप्रैल को होने वाले पॉलिटिकल साइंस के पेपर लीक होने की भी शनिवार को सूचना आई। हालांकि, सीबीएसई ने दोनों पेपर पिछले साल के होने का दावा किया है। वहीं, मानव संसाधन विकास मंत्रालय के सचिव अनिल स्वरूप ने कहा कि हिंदी इलेक्टिव लीक बताया जा रहा पेपर पिछले साल कंपार्टमेंट वाला है। सीबीएसई ने छात्रों से अपील की है कि वह सोशल मीडिया पर चल रही सूचनाओं पर ध्यान न दें।

4 साल में स्मार्टफोन...

सेलफोन के दम पर ये सब: 2011 से 2015 के बीच दो साल में आनलाइन बैंकिंग के यूजर 16%, दो से चार साल में 19% और चार वर्ष में 30% तक बढ़े। आनलाइन टिकट खरीदी दो वर्ष में 31, दो से चार वर्ष में 36 और चार वर्ष में 44% बढ़े।

दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा सेलफोन बाजार भारत में

दुनिया का दूसरा सबसे बड़ा सेलफोन बाजार भारत है। एप इकोनामी में हम चौथे स्थान पर हैं। दो साल में मोबाइल उद्योग 14 लाख करोड़ रु. का होगा। इससे भारत में टेलीकॉम सेवा का बाजार 10.3 गुना बढ़कर 103.9 अरब डॉलर का हो जाएगा।

गूगल की रिसर्च में पता चला...

स्मार्टफोन के बिना खरीदारी करने वाले 84 दिन में कुछ खरीदते हैं।

जो मोबाइल का कम उपयोग करते हैं, वे 65 दिन में कुछ लेते हैं।

स्मार्टफोन का उपयोग करने वाले हर 49 दिनों में कुछ खरीद लेते हैं।

शुरुआती आधे कॅरिअर...

स्मिथ के कॅरिअर को इसलिए भी बड़ा धक्का लगा है क्योंकि हाल ही में एशेज के शानदार प्रदर्शन के बाद उन्हें ‘बेस्ट सिंस ब्रैडमैन' कहा जा रहा था, जबकि अब ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल ने कहा है कि- मुझे नहीं लगता कि स्मिथ अब कभी टीम के कप्तान बन पाएंगे। क्योंकि कप्तान के प्रति टीम के अन्य खिलाड़ियों में सम्मान होना चाहिए, लेकिन मुझे नहीं लगता कि वे दोबारा यह सम्मान पा सकेंगे।

पति-प|ी का बैंक...

जांच में यह भी पता चला कि कंपनी को जनवरी 2012 से अगस्त 2012 के बीच करीब 145.76 करोड़ रुपए की राशि प्राप्त हुई थी। जिसमें से सिर्फ 16.51 करोड़ रुपए कंसोर्टियम बैंक के खातों में जमा किए गए, जबकि 121.25 करोड़ रुपए गलत तरीके से दूसरे खातों में डाइवर्ट कर दिया गया। शिकायत में इस बात का भी जिक्र किया गया है कि कंपनी ने अपने खर्चों को अधिक दिखाने के लिए लेबर चार्ज को बढ़ा कर दिखाया, जबकि दूसरी लागतों में किसी तरह की वृद्धि नहीं हुई। यह काम फंड को गलत तरीके से दूसरे खातों में स्थानांतरिक करने के लिए किया गया था।

1173 करोड़ का...

वर्ष 2010-11 में जहां एज्युकेशन लोन का प्रति छात्र अकाउंट 2.5 लाख रुपए था वहीं वर्ष 2016-17 में यह बढ़कर 6.77 लाख रुपए हो गया है। शुक्ल ने बताया कि सरकार ने शिक्षा ऋण में एनपीए को कम करने के लिए छात्रों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए आईबीए आदर्श शिक्षा योजना में बदलाव किया है। जिसके तहत पुनर्भुगतान अवधि को 15 वर्ष तक बढ़ाना शामिल है। साथ ही एज्युकेशन लोन के लिए क्रेडिट गारंटी फंड स्कीम (सीजीएफईएल) शुरू की है, जिसके तहत 7.5 लाख रुपए तक के लोन दिए जाते हैं। इसमें 75 फीसदी चूक की राशि की गारंटी केंद्र सरकार देगी। सरकार द्वारा पेश किए गए आंकड़ों के अनुसार मार्च 2017 तक 67,678.5 करोड़ रुपए के एज्युकेशन लोन का बकाया था जिसमें 5,191.72 करोड़ रुपए का एनपीए था। अगर बैंकों के हिसाब से देखें तो इस दौरान केनरा और इंडियन आेवरसीज बैंक का एनपीए बीते वर्ष की तुलना में घटा है। केनरा बैंक का मार्च 2016 में एनपीए 316.6 करोड़ रुपए था जो मार्च 2017 में घटकर 265.49 करोड़ रुपए पर आ गया। इसी दौरान इंडियन ओवरसीज बैंक का एनपीए 651.16 करोड़ से घटकर 384.2 करोड़ रुपए पर आ गया। देश के सबसे बड़े बैंक स्टेट बैंक ऑफ इंडिया और पंजाब नेशनल बैंक का एनपीए बढ़ा है।

घर खर्च चलाने...

इस बारे में महिला थाना की एएसआई ममता शर्मा बताती हैं कि सीमा महिला थाने आई थी। पूछताछ में उसने बताया कि उसे अपने पति से ही जान का खतरा है। वो उसे पीटता है। प्रेग्नेंसी की हालत में पेट में लातें मारता है। महिला थाना प्रभारी और पुलिस उप महानिरीक्षक को अपने पति के खिलाफ सीमा ने शिकायत दर्ज कराई है। उसने लिखा है कि उसे जान का खतरा है।

(स्टोरी में महिला की पहचान छिपाने के उद्देश्य से पति-प|ी के नाम परिवर्तित किए गए हैं।)

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sikar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×