• Hindi News
  • Rajasthan
  • Sikar
  • राधाकिशनपुरा स्थित विक्रम गैस गोदाम के पीछे का मामला, स्थाई लोक अदालत में है मामला
--Advertisement--

राधाकिशनपुरा स्थित विक्रम गैस गोदाम के पीछे का मामला, स्थाई लोक अदालत में है मामला

नगर परिषद द्वारा साफ सफाई और पानी निकासी के मामले में स्थाई लोक अदालत के आदेश की पालना नहीं करने पर गुरुवार को लोक...

Dainik Bhaskar

Feb 02, 2018, 07:20 AM IST
नगर परिषद द्वारा साफ सफाई और पानी निकासी के मामले में स्थाई लोक अदालत के आदेश की पालना नहीं करने पर गुरुवार को लोक अदालत के अध्यक्ष गोविंदप्रसाद गोयल खुद मौका देखने पहुंचे। मामला राधाकिशनुपरा स्थित विक्रम गैस गोदाम के पीछे के इलाके से जुड़ा है।

एक दिन पहले मौका निरीक्षण तय होने पर गुरुवार को सुबह से ही नगर परिषद की टीम सफाई में जुटी रही। निरीक्षण में परिषद अधिकारियों को पानी निकासी के पुख्ता प्रबंधन की बात कही गई। मामले की आगामी सुनवाई 15 फरवरी को रखी गई है। स्थानीय निवासी आत्माराम बाहेती, प्रमोद अग्रवाल व नरोत्तम शर्मा द्वारा जारी परिवाद में स्थाई लोक अदालत के अध्यक्ष गोयल, सदस्य पुरुषोत्तम बिल्खीवाल और वीरेंद्रसिंह आर्य ने 13 दिसंबर 2017 को नगर परिषद को क्षेत्र में नियमित सफाई का आदेश दिया था। एडवोकेट अंगद कुमार तिवाड़ी ने बताया कि आदेश पालना की पालना नहीं होने पर पीड़ित पक्षकार ने अधिवक्ता के जरिए नगर परिषद आयुक्त श्रवणकुमार विश्नोई के खिलाफ लोक अदालत में 31 जनवरी 2018 को अवमानना याचिका दायर की। मामले को गंभीरता से लेते हुए लोक अदालत ने एक जनवरी को स्वयं के स्तर पर मौका स्थिति का जायजा लेना तय कर दिया। नगर परिषद अधिकारियों को भी पाबंद किया गया कि वे भी मौके पर उपस्थित रहें।

नगर परिषद ने नहीं की स्थाई लोक अदालत के आदेश की पालना जलभराव और सफाई व्यवस्था का जायजा लेने खुद पहुंचे अध्यक्ष

सीकर. सफाई व्यवस्था का जायजा लेने पहुंचे स्थाई लोक अदालत अध्यक्ष।

लोक अदालत के निरीक्षण तय होते ही परिषद ने करवाई सफाई : लोक अदालत का निरीक्षण तय होने के साथ ही नगर परिषद प्रशासन भी हरकत में आ गया। परिषद प्रशासन ने सुबह ही इलाके में सफाई कर्मचारियों की टीम लगा दी। सड़क पर जमा मिट्टी और कचरा हटा दिया। स्थानीय लोगों ने मौके पर पहुंचे लोक अदालत अध्यक्ष व सदस्यों से कहा कि आपके आने पर ही आज यहां सफाई की गई है। वरना आम रास्ते से निकल पाना भी मुश्किल भरा होता है।

यह है मामला : इस इलाके में पानी निकासी की कोई व्यवस्था नहीं है। कुछ समय पहले एक दो लोगों ने पानी को रोकने के लिए सड़क पर मिट्टी डलवा दी थी। ऐसे में बीच रास्ते पर जलभराव होने लगा। लगातार शिकायत के बाद भी परिषद द्वारा समाधान नहीं किया गया। इस पर पीड़ित लोगों ने लोक अदालत में याचिका दायर की। इसके बाद नगर परिषद ने यहां टैंकर से पानी उठाने के लिए रास्ते पर गड्ढा खोदकर एक चेंबर बनाया गया। इसके बाद भी यहां जलभराव की स्थिति बनी रही।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..