--Advertisement--

बैंक में नाइट ड्यूटी कर रहे गार्ड ने कीटनाशक पिया, फिर गोली मारकर आत्महत्या कर ली

दो नंबर डिस्पेंसरी के पास सीकर केंद्रीय सहकारी बैंक में गुरुवार रात को सुरक्षाकर्मी भागीरथ खाखल (50) ने खुदकुशी कर ली।

Danik Bhaskar | Nov 25, 2017, 09:12 AM IST

सीकर। दो नंबर डिस्पेंसरी के पास सीकर केंद्रीय सहकारी बैंक में गुरुवार रात को सुरक्षाकर्मी भागीरथ खाखल (50) ने खुदकुशी कर ली। भागीरथ ने पहले कीटनाशक पीया, फिर खुद को गोली मार ली।मौके पर कीटनाशक दवा राइफल एक कारतूस मिला। कोई सुसाइड नोट नहीं मिला। एफएसएल टीम ने सबूत जुटाए। एएसपी तेजपाल ने दोपहर में मौका मुआयना किया।


बैंक मैनेजर देवेंद्र कुमार सैनी ने बताया कि गुरुवार शाम करीब पांच बजे वह बैंक से घर गए थे। उस समय सुरक्षाकर्मी भागीरथ कैश काउंटर के पास अखबार पढ़ रहा था। शुक्रवार सुबह करीब 9 बजे बैंकिंग असिस्टेंट भागीरथमल ड्यूटी पर आए। बैंक का शटर दरवाजा चैनल गेट बंद था, लेकिन लॉक नहीं लगा था। चैनल गेट के अंदर देखा तो खून बह रहा था। इस दौरान दूसरे सुरक्षाकर्मी हरिसिंह बैंक मैनेजर गए। उन्होंने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मृतक के बेटे पंकज खाखल चाबी बनाने वाले एक व्यक्ति को बुलाया। फिर लोन सुपरवाइजर का कार्यालय खोला, जिसमें भागीरथ का शव था।

कोतवाल महावीर सिंह ने बताया कि पालड़ी निवासी भागीरथ गुरुवार रात को बैंक में ड्यूटी कर रहा था। मौके पर बिखरा खून सर्दी के कारण जम गया। इसके आधार पर सामने रहा है कि सुरक्षाकर्मी ने रात के समय आत्महत्या की है। आशंका है कि पहले भागीरथ ने राइफल में कारतूस लोड किया। उसके बाद वह कुर्सी पर बैठा, फिर उसने एल्ड्रीन पी। उसके बाद भागीरथ ने राइफल को जमीन से लगाकर स्वयं की ठोड़ी के नीचे लगाया और ट्रिगर दबाकर आत्महत्या कर ली। बैंककर्मियों ने बताया कि भागीरथ कई दिनों से गुमसुम रहता था।


दूसरेसुरक्षाकर्मी को फोन किया, सुबह जल्दी आना शादी में जाना है : सुरक्षाकर्मीहरिसिंह ने बताया कि गुरुवार रात भागीरथ ने उसे फोन कर कहा कि सुबह जल्दी जाना। उसे शादी में जाना है। रात को परिवार के लोगाें से भी फोन पर बात की थी।


पुलिससे उलझे परिजन: दोपहरमें परिजन घटनास्थल पर पुलिस से उलझ गए। परिजनों का कहना था कि भागीरथ आत्महत्या नहीं कर सकता। बैंक के सीसीटीवी काम नहीं करने पर भी सवाल उठाया। बाद में पुलिस की समझाइश पर परिजनों को विश्वास हुआ कि भागीरथ ने आत्महत्या की है।