नीट / चेयरमैन ने माना-अाॅफलाइन काउंसलिंग नहीं कराने दी, इसीलिए खाली रह गई प्रदेश में मेडिकल की सीटें



High Court on the matter of 705 seats vacant in the Medical College
X
High Court on the matter of 705 seats vacant in the Medical College

  • 705 सीटें खाली रहने के मामले को लेकर आज हाईकोर्ट में सुनवाई

Dainik Bhaskar

Aug 19, 2019, 05:46 AM IST

सीकर. मेडिकल काॅलेजाें में दाखिले के लिए नीट काउंसलिंग में हुए विवाद पर हाईकोर्ट में सोमवार को सुनवाई होगी। प्रदेशभर के स्टूडेंट्स मेरिट के हक की लड़ाई लड़ रहे हैं। अच्छी रैंक वाले स्टूडेंट्स को पेमेंट सीट मिलने के विवाद के लिए काउंसलिंग बोर्ड सवालों के घेरे में है।

 

दैनिक भास्कर ने राज्य काउंसलिंग बोर्ड के चेयरमैन डॉ. सुधीर भंडारी से बात कर मामले की तह तक जाने का प्रयास किया। भास्कर ने भंडारी से पूछा कि क्या वो मानते हैं कि काउंसलिंग प्रक्रिया में गड़बड़ी हुई अाैर स्टूडेंट्स को न्याय नहीं मिला? जवाब में भंडारी ने माना कि सैकंड काउंसलिंग के लिए उन्होंने सरकार के आदेशों की पालना की।

 

बोर्ड ने अपनी तरफ से किसी तरह का नया नियम नहीं लागू किया। वे तो खुद ऑफलाइन काउंसलिंग करवाना चाहते थे। ऑनलाइन काउंसलिंग में कुछ गड़बड़ियां हुई हैं। उसमें खामियां रही हैं। अब इन्हें सुधार किया जाएगा। सोमवार को हाईकोर्ट के आदेशों का इंतजार है। इसके बाद सरकार से जो भी निर्देश मिलेंगे। उसके आधार पर आगे फैसला लेंगे।

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना