• Hindi News
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Sikar in order to prevent illegal mining and transportation the director of the department of mine had created the vigilance wing

अवैध खनन व परिवहन काे रोकने के लिए खान विभाग निदेशक ने बनाई थी विजिलेंस विंग, अक्टूबर में दो ही कार्रवाई की विंग ने / अवैध खनन व परिवहन काे रोकने के लिए खान विभाग निदेशक ने बनाई थी विजिलेंस विंग, अक्टूबर में दो ही कार्रवाई की विंग ने

Sikar News - जिले में अवैध खनन व उसके परिवहन पर कार्रवाई के लिए बनाई गई खान विभाग की विजिलेंस प्रभावी कार्रवाई नहीं कर रही है।...

Bhaskar News Network

Nov 11, 2018, 09:11 AM IST
Sikar - in order to prevent illegal mining and transportation the director of the department of mine had created the vigilance wing
जिले में अवैध खनन व उसके परिवहन पर कार्रवाई के लिए बनाई गई खान विभाग की विजिलेंस प्रभावी कार्रवाई नहीं कर रही है। लगातार अवैध खनन और परिवहन को लेकर शिकायतें आने के बावजूद विजिलेंस विंग सितंबर व अक्टूबर में केवल आठ मामलों में ही कार्रवाई कर सकी है। कार्रवाई ना होने से जिले में कई स्थानों पर अवैध खनन नहीं थम रहा। वही कोर्ट की रोक के बाद भी जिले में अवैध परिवहन के माध्यम से बजरी लाई जा रही है। सितंबर में विजिलेंस विंग ने जिले भर में केवल 6 मामलों में कार्रवाई की।

अक्टूबर में यह आंकड़ा दो कार्रवाई पर आकर थम गया। जिले में बजरी के अवैध खनन समेत अन्य खनिजों के अवैध खनन के मामले सामने आने के बाद खान विभाग के निदेशक ने जिले में एमई विजिलेंस नियुक्त किया था। वही फोरमैन समेत कार्रवाई के लिए पूरी टीम बनाई गई। विजिलेंस टीम को वाहन भी विभाग द्वारा उपलब्ध कराया गया। इसके उलट खनि अभियंता की टीम ने दो महीने में 16 कार्रवाई की है। इनमें एमई की टीम ने सितंबर में 12 व अक्टूबर में चार कार्रवाई की है। मामले में एमई मनोजकुमार शर्मा का कहना है कि अवैध खनन की सूचना पर विजिलेंस कार्रवाई करते है। वही विभाग की दूसरी टीम भी कार्रवाई कर रही है। अक्टूबर में कार्रवाई करने वाली टीम को निदेशक ने जयपुर ऑपरेशन में लगा दिया। इसके कारण कम कार्रवाई हो पाई है।

एमई विजिलेंस की कार्रवाई...खान विभाग की विजिलेंस टीम की और से सात सितंबर को श्रीमाधोपुर में दो कार्रवाई की गई। इसमें 40 टन के दो ट्रकों को पकड़ उनसे 2.32 लाख जुर्माना वसूला गया। 18 सितंबर काे अजीतगढ़ में तीन ट्रैक्‍टर ट्रॉलियों को पकड़ा गया। इनमें 71 हजार 400 रुपए का जुर्माना वसूला गया। वही 28 सितंबर को पलासिया के निकट बजरी का ट्रक पकड़ कर 1.10 लाख का जुर्माना लिया गया। वही अक्टूबर में दो कार्रवाई हुई। इनमें 2 अक्टूबर को चौकडी में सिलिका सेंड से भरे ट्रक व श्रीमाधोपुर में बजरी के ट्रैक्‍टर को पकड़ा गया। ट्रक से 1.19 लाख व ट्रैक्‍टर से 27 हजार 400 रुपए वसूले गए।

खनि अभियंता की कार्रवाई...सीकर खनि अभियंता द्वारा बनाई गई जांच टीम ने शिकायतों पर एक्शन करते हुए दो महीने में विजिलेंस टीम से दुगनी कार्रवाई की है। खनि अभियंता की टीम ने रानोली व खाटूश्यामजी में 2 सितंबर को बजरी से भरे चार वाहनों पर कार्रवाई की। इनसे 4.60 लाख का जुर्माना, 5 सितंबर बजाज सर्किल से बजरी के डम्पर से 1.14 लाख, 7 सितंबर को चेजा पत्थर के ट्रैक्‍टर से 25 हजार, 8 सितंबर को रानोली में बजरी ट्रैक्‍टर से 27 हजार 400, 10 सितंबर को थोई से बजरी ट्रैक्‍टर से 26 हजार 600, 11 सितंबर को रानोली में बजरी ट्रक से 1.18 लाख, 13 सितंबर को खंडेला में चेजा पत्थर ट्रैक्‍टर से 27 हजार 410, 28 सितंबर को सांवली चौराहे से बजरी ट्रक से 1.10 लाख, 28 सितंबर को पिपराली से बजरी ट्रक से 1.09 लाख रुपए वसूले। वही एमई टीम ने अक्टूबर में भी विजिलेंस टीम से दुगनी चार कार्रवाई की।

खनि अभियंता की टीम ने दो महीने में 16 कार्रवाई की, विजिलेंस टीम ने आठ

कैमरे नहीं लगाने वाले वे-ब्रिज खनन सामग्री परिवहन वाले वाहनों का नहीं कर पाएंगे वजन

खान विभाग ने वे-ब्रिज पर दो कैमरे नहीं लगाने वाले तुलाई यंत्रों का पंजीयन निरस्त कर दिया है। विभाग के इस एक्शन के बाद इन पर खनन सामग्री लेकर जाने वाले वाहनों की तुलाई नहीं हो पाएंगी। खनि अभियंता मनोज कुमार शर्मा ने बताया कि जिले में 81 तुलाई यंत्रों ने खान विभाग में अधिस्वीकरण करवा रखा था। इनमें से 68 तुलाई यंत्रों ने विभागीय निर्देशों के बाद तय समय सीमा में कैमरे लगा लिए हैं। इनकी रिपोर्ट आने के बाद इनका पंजीयन जारी रखा गया है। शर्मा ने बताया कि कैमरे नहीं लगाने वाले तुलाई यंत्र संचालकों का अधिस्वीकरण निरस्त कर दिया गया। इस कार्रवाई के बाद इन पर ई-रवन्ना नहीं खुलेगा। जिसके कारण से इनके द्वारा तुलाई नहीं हो पाएगी। ज्ञातव्य है कि खान विभाग ने अपने यहां पंजीकृत तुलाई यंत्रों को 31 अक्टूबर तक वाहन तुलाई के समय फोटो के लिए दो कैमरे लगाने के निर्देश दिए थे। जो तुलाई के समय ही वाहन का दो तरह का फोटो खींच कर सीधे खान विभाग को देना था। 31 अक्टूबर तक कैमरे नहीं लगाने वाले तुलाई यंत्रों का पंजीयन विभाग ने निरस्त कर दिया है।

जिले में 68 तुलाई यंत्रों ने विभागीय आदेश पर लगाए कैमरे, 13 का पंजीकरण हुआ निरस्त

X
Sikar - in order to prevent illegal mining and transportation the director of the department of mine had created the vigilance wing
COMMENT