सीकर / कांस्टेबल ने फंदे से लटककर की आत्महत्या, महिलाकर्मी सहित चार पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा

कांस्टेबल लक्ष्मीकांत कांस्टेबल लक्ष्मीकांत
कमरे में फंदे पर लटका हुआ कांस्टेबल कमरे में फंदे पर लटका हुआ कांस्टेबल
X
कांस्टेबल लक्ष्मीकांतकांस्टेबल लक्ष्मीकांत
कमरे में फंदे पर लटका हुआ कांस्टेबलकमरे में फंदे पर लटका हुआ कांस्टेबल

  • सीकर के उद्योग नगर थाने में तैनात था, व्हाट्सएप पर मिला सुसाइड नोट
  • थाने के साथी स्टाफ से प्रताड़ित होकर खुदकुशी करने की बात लिखी

 

दैनिक भास्कर

Sep 15, 2019, 07:47 PM IST

सीकर. जिले में पदस्थापित एक पुलिस कांस्टेबल लक्ष्मीकांत ने शनिवार देर रात को कमरे में फंदे से लटककर खुदकुशी कर ली। देर रात करीब साढ़े तीन बजे घटना का पता चलने पर पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। मौका मुआयना कर शव को नीचे उतारा। वहीं, घटना के बाद कांस्टेबल के व्हाट्सएप पर एक सुसाइड नोट मिलने की जानकारी सामने आई। जिसमें मौत से पहले कांस्टेबल लक्ष्मीकांत ने लिखते हुए आरोप लगाया कि वह पूजा पूनियां व समस्त स्टॉफ से परेशान होकर सुसाइड को मजबूर हो रहा है।

 

जो जातिवाद शब्द है, वो इन्होंने ही चलाया। मेरी ड्यूटी के प्रति लड़ाई होने के कारण 10 सितंबर को जब वह महिला थाने में  ड्यूटी पर गया तब से मुकेश चालक की वजह से समस्त एक होकर जातिवाद को लेकर मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित किया। वह शनिवार, 14 सितंबर को महिला थाना में ड्यूटी करके आया तब कांस्टेबल शिव दयाल व हैडकांस्टेबल झाबरमल ने उसे जातिसूचक शब्द कहे और मुझे मानसिक रूप से प्रताड़ित किया। इससे मजबूरन वह आत्महत्या कर रहा है।

 

जानकारी के अनुसार कांस्टेबल लक्ष्मीकांत सीकर जिले में लक्ष्मणगढ़ कस्बे के सिंगोदड़ा गांव का रहने वाला था। वह उद्योग नगर थाना क्षेत्र के राधाकिशनपुरा में कमरा किराए पर लेकर रहता था। लक्ष्मीकांत के खुदकुशी की घटना ने तूल पकड़ लिया। पूर्व विधायक पेमाराम, भीम सेना के पदाधिकारी, माकपा के सचिव किशन पारीक, सागर खाचरियावास सहित कई लोग अस्पताल की मोर्चरी पर पहुंचे।

 

वहीं, दोषी पुलिसकर्मियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तारी की मांग को लेकर धरने पर बैठ गए। परिजनों ने कांस्टेबल लक्ष्मीकांत के शव का पोस्टमार्टम करवाने से इंकार कर दिया। इस बीच सूचना पर पुलिस अधिकारी मौके पर पहुंचे। वहां उन्होंने जनप्रतिनिधियों और कांस्टेबल के परिजनों से बातचीत की। समझाइश का प्रयास किया। लेकिन बात नहीं बनी।

 

बताया जा रहा है कि देर शाम को सुसाइड नोट के आधार पर कांस्टेबल लक्ष्मीकांत के स्टाफ में महिला पुलिसकर्मी पूजा पूनियां, थाने का ड्राइवर कांस्टेबल मुकेश, कांस्टेबल शिवदयाल व हैडकांस्टेबल शिवदयाल के खिलाफ एसटी एससी और आत्महत्या के लिए उकसाने का मुकदमा दर्ज कर लिया गया। केस की जांच डीएसपी शिव कुमार पाठक को सौंपी गई। वहीं, सुसाइड नोट की हैंड राइटिंग की जांच की जा रही है। 

 

DBApp

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना