• Hindi News
  • Rajasthan
  • Sikar
  • प्रदेश की दूसरी सीपीसी कैंटीन झुंझुनूं में शुरू, 10 हजार से ज्यादा सेवानिवृत्त पैरामिलिट्री जवानों को मिलेगा रियायती दरों पर सामान
--Advertisement--

प्रदेश की दूसरी सीपीसी कैंटीन झुंझुनूं में शुरू, 10 हजार से ज्यादा सेवानिवृत्त पैरामिलिट्री जवानों को मिलेगा रियायती दरों पर सामान

Sikar News - भास्कर संवाददाता | झुंझुनूं सेवानिवृत्त पैरामिलिट्री जवानों को रियायती दरों पर घरेलू सामान मुहैया कराने के...

Dainik Bhaskar

May 01, 2018, 02:55 AM IST
प्रदेश की दूसरी सीपीसी कैंटीन झुंझुनूं में शुरू, 10 हजार से ज्यादा सेवानिवृत्त पैरामिलिट्री जवानों को मिलेगा रियायती दरों पर सामान
भास्कर संवाददाता | झुंझुनूं

सेवानिवृत्त पैरामिलिट्री जवानों को रियायती दरों पर घरेलू सामान मुहैया कराने के लिए सरकार की ओर से सोमवार को स्वर्ण जयंती स्टेडियम के सामने नागाैरी कॉम्पलैक्स में सीपीसी (सेंट्रल पुलिस कैंटीन) का शुभारंभ हुआ। गृह मंत्रालय के अधीन संचालित होने वाली यह प्रदेश की दूसरी कैंटीन है। इस कैंटीन से जिले के 10 हजार से अधिक पैरामिलिट्री जवानों को रियायती दरों पर घरेलू सामान मिल सकेगा।

दोपहर में सीपीसी कैंटीन का उद्घाटन सांसद संतोष अहलावत व कलेक्टर दिनेश कुमार यादव ने किया। सांसद अहलावत ने कहा कि पैरामिलिट्री जवानों के योगदान को भुलाया नहीं जा सकता। जिले के सैनिकों, पैरामिलिट्री जवानोें की आवाज को उन्होंने संसद में पुरजोर तरीके से सरकार के समक्ष रखा है। प्रदेश में नागौर-डीडवाना के बाद यह दूसरी कैंटीन है। अहलावत ने कहा कि देश की रक्षा के लिए शहादत देने में झुंझुनूं जिला आगे है। एक्स पैरामिलिट्री जवानों की मांगों के लिए प्रधानमंत्री को पत्र लिखा गया है। सांसद अहलावत ने कहा कि जिले में चार नेशनल हाइवे, सैनिक स्कूल, सीपीसी कैंटीन समेत अनेक बड़े कार्य हुए हैं। कार्यक्रम में राजेंद्र फौजी, आरएस शेखावत, एम शर्मा भी मौजूद थे। अध्यक्षता सभापति सुदेश अहलावत ने की। संचालन करते हुए डिप्टी कमाडेंट भागीरथ नेमीवाल ने कहा कि पैरामिलिट्री के सेवानिवृत्त जवान सीजीएचएस कार्ड बनवा लें ताकि बीमार होने पर उनका इलाज कराया जा सके। एक्स पैरामिलिट्री पर्सनल वेलफेयर संस्था अध्यक्ष जेआर चोबदार ने कहा कि पैरामिलिट्री जवानों को भी सेना के समान सुविधाएं एवं दर्जा मिलना चाहिए। संस्था सचिव मामराज सिंह ने अतिथियों का स्वागत किया। इस अवसर पर विजेंद्र भांबू, विद्याधर, अल्लाउद्दीन, नाथूसिंह, दाताराम, सरवर खान, ताराचंद, जीवण सिंह, बनवारीलाल, घासीराम, मनीराम, नगेंद्र सिंह समेत अनेक पैरामिलिट्री के सेवानिवृत्त जवान थे।

सीपीसी कैंटीन मैनेजर नाहर सिंह ने बताया कि सेंट्रल पुलिस कैंटीन में अधिकांश कंपनियों के सभी प्रोडक्ट उपलब्ध रहेंगे। कैंटीन सुबह 10 से शाम चार बजे तक खुलेगी। दोपहर में एक से दो बजे तक लंच टाइम रहेगा। रविवार को कैंटीन में अवकाश रहेगा। कैंटीन के लिए कार्ड बनाए जाने तक पीपीओ लेटर देख कर सामान दिया जाएगा।

सेवानिवृत्त जवानों ने सांसद अहलावत से कैंटीन के लिए जमीन दिलाने की मांग की

सांसद व कलेक्टर कैंटीन को जमीन मुहैया कराने के लिए चर्चा करते हुए।

समारोह में पैरामिलिट्री के सेवानिवृत्त जवानों ने सांसद संतोष अहलावत से सीपीसी कैंटीन के लिए जमीन मुहैया कराने की मांग की। संस्था अध्यक्ष जेआर चोबदार ने कहा कि कैंटीन का किराया आठ हजार रुपए प्रति माह है। यह राशि वहन करना मुश्किल है। सांसद अहलावत ने कलेक्टर दिनेश यादव व सभापति से चर्चा कर कैंटीन के लिए जमीन मुहैया कराने का आश्वासन दिया। सेंट्रल पुलिस कैंटीन को जीएसटी से छूट दिलाने की मांग की। सदस्यों ने सांसद अहलावत से कहा कि कैंटीन में जीएसटी होने से कई वस्तुएं सीएसडी कैंटीन से महंगी है, जबकि सीएसडी कैंटीन में जीएसटी की 50 फीसदी की छूट है।

X
प्रदेश की दूसरी सीपीसी कैंटीन झुंझुनूं में शुरू, 10 हजार से ज्यादा सेवानिवृत्त पैरामिलिट्री जवानों को मिलेगा रियायती दरों पर सामान
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..