• Home
  • Rajasthan
  • Sikar
  • सीकर में बाजौर के पास कार पलटी, ड्यूटी पर जयपुर जा रही झुंझुनूं की महिला कांस्टेबल की मौत, 1 जयपुर रैफर
--Advertisement--

सीकर में बाजौर के पास कार पलटी, ड्यूटी पर जयपुर जा रही झुंझुनूं की महिला कांस्टेबल की मौत, 1 जयपुर रैफर

भास्कर न्यूज | सीकर/झुंझुनूं जयपुर-सीकर हाइवे पर सोमवार दोपहर बाजौर गांव के पास बाइक को बचाने में कार अनियंत्रित...

Danik Bhaskar | May 01, 2018, 03:00 AM IST
भास्कर न्यूज | सीकर/झुंझुनूं

जयपुर-सीकर हाइवे पर सोमवार दोपहर बाजौर गांव के पास बाइक को बचाने में कार अनियंत्रित होकर डिवाइडर से टकरा कर पलट गई। हादसे में कार सवार महिला कांस्टेबल की मौत हो गई व एक अन्य घायल को जयपुर रैफर कर दिया। महिला कांस्टेबल के जयपुर के करधनी थाने में तैनात थीं और दस दिन पहले ही पदोन्नति मिली थीं। पुलिस ने महिला के शव का पंचनामा करवाकर परिजनों को सौंप दिया।

एएसआई विद्याधर सिंह ने बताया कि शारदा चौधरी (46) प|ी झाबरमल निवासी गाडोतिया की ढाणी तन उदावास झुंझुनूं महिला कांस्टेबल के पद पर करधनी थाने में तैनात थीं। वह सोमवार को अपने एक परिचित हरिसिंह (50) पुत्र सुखदेवाराम निवासी उदावास झुंझुनूं के साथ गाड़ी से जयपुर जा रही थीं। दोपहर करीब डेढ़ बजे बाजौर के पास आगे आए बाइकसवार को बचाने के चक्कर गाड़ी अनियत्रिंत हो गई। कार डिवाइडर से टकरा कर सड़क के दूसरी तरफ जाकर तीन-चार बार पलटी खा गई। कार को हरिसिंह चला रहा था। कार में सवार शारदा चौधरी व हरिसिंह गंभीर रूप से घायल हो गए। लोगों ने दोनों को क्षतिग्रस्त कार में से निकाला। उद्योगनगर पुलिस ने दोनों घायलों को एसके अस्पताल में पहुंचाया। डॉक्टरों ने शारदा को मृत घोषित कर दिया, वहीं हरिसिंह को जयपुर रैफर कर दिया। पुलिस ने महिला के शव का पंचनामा कर कांस्टेबल के पति झाबर मल को सौंप दिया।

हादसे में घायल की इलाज के दौरान मौत

खेतड़ी नगर | उपचार के दौरान एक व्यक्ति की मौत हो गई। पुलिस ने बताया कि खेतड़ी नगर निवासी जगदीश सिंह चौहान को एक लोडिंग टैंपो ने 27 फरवरी को टक्कर मार दी थी। जयपुर में इलाज चल रहा था। बेटे गोविंद सिंह ने बताया कि पिता को 19 अप्रैल को जयपुर से कॉपर लेकर आ गए थे, लेकिन तीन चार दिनों से तबीयत फिर से खराब हो गई जिसके चलते रविवार देर रात को उनकी मौत हो गई।

ड्राइवर साइड का एयर बैग खुलने से युवक बच गया

कार डिवाइडर से टकरा कर सड़क के दूसरी ओर जाने पर पलट गई। कार की ड्राइवर साइड का एयरबैग तो खुल गया जिससे हरिसिंह बच गया। कार के दूसरी ओर शारदा बैठी हुई थीं, जैसे ही गाडी पलटने लगी तो उस तरफ का एयरबैग समय पर नहीं खुला। गाडी पलटने के कारण आगे का शीशा टूट गया। इसके कारण वह सीधे ही बाहर आ गई। उसके सिर व शरीर के अन्य हिस्सों में गंभीर चोटें आई। महिला कांस्टेबल शारदा चौधरी करधनी थाने से 25 अप्रैल को काम करके छुट्टी लेकर आई अपने गांव आई थीं। छुट्टी पूरी होने के बाद उसे सोमवार दोपहर को पहुंचना था। उसके पति झाबरमल खेती करते हैं। उनके दो बच्चे हैं।