• Home
  • Rajasthan
  • Sikar
  • आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए महिलाओं को उद्यमों से जोड़कर बना रहे हैं समूह
--Advertisement--

आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए महिलाओं को उद्यमों से जोड़कर बना रहे हैं समूह

गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों तथा अत्यंत निर्धन वर्ग की महिलाओं को छोटे-छोटे उद्यमों से जोड़कर...

Danik Bhaskar | Apr 17, 2018, 06:30 AM IST
गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों तथा अत्यंत निर्धन वर्ग की महिलाओं को छोटे-छोटे उद्यमों से जोड़कर उनकी आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए महिला स्वयं सहायता समूह बनाए जा रहे हैं। उदयपुरवाटी नगरपालिका क्षेत्र में सामाजिक संस्था सत्यं शिवम सुंदरम की संचालक अनिता राजावत अब तक साढ़े तीन सौ महिलाओं के 35 समूह बना चुकी है।

केंद्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं का महिलाओं को लाभ दिलवाने के लिए महिलाओं के स्वयं सहायता समूह बनाए जा रहे हैं। समूहों का गठन होने पर एनयूएलएम के तहत 10 हजार रुपए प्रति समूह के हिसाब से सरकारी अनुदान दिया जा रहा है। करीब 31 समूहों को 3.10 लाख रुपए का अनुदान दिलवाया जा चुका है। बकौल अनिता राजावत महिलाओं की आर्थिक स्थिति मजबूत करने के लिए सभी समूहों से दो-दो महिलाअों की छंटनी करके बड़ा संगठन एएलएफ बनाया जा रहा है। तीन एएलएफ का गठन भी किया जा चुका है। इनके माध्यम से सरकार महिलाओं के उद्यम स्थापित कराने के लिए करीब 50 हजार रुपए देती है जो पूरी तरह से अनुदान रहता है। इसके अलावा बैंक से कम ब्याज दर पर लोन उपलब्ध करवाया जाता है। इन संगठनों से जुड़ी महिलाएं सामूहिक रूप से तथा व्यक्तिगत रूप से अपना उद्यम स्थापित कर सकती है। संगठन में सुमित्रा सैनी, मंजू शर्मा, शर्मिला, सुनीता कुमावत, पिंकी कंवर, पूजा कंवर, शबनम बानो आदि महिलाएं जुड़ी हुई हैं।

समूह तैयार करतीं अनिता राजावत।