Hindi News »Rajasthan »Sikar» पुराना बस स्टैंड शिफ्ट करने को लेकर नहीं बन पाई सहमति, अगले सप्ताह तक टाली शिफ्टिंग

पुराना बस स्टैंड शिफ्ट करने को लेकर नहीं बन पाई सहमति, अगले सप्ताह तक टाली शिफ्टिंग

भास्कर संवाददाता | झुंझुनूं शहर के पुराने बस स्टैंड की खेमी शक्ति मंदिर के पास नई जगह शिफ्टिंग शुरू से ही...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 17, 2018, 06:40 AM IST

पुराना बस स्टैंड शिफ्ट करने को लेकर नहीं बन पाई सहमति, अगले सप्ताह तक टाली शिफ्टिंग
भास्कर संवाददाता | झुंझुनूं

शहर के पुराने बस स्टैंड की खेमी शक्ति मंदिर के पास नई जगह शिफ्टिंग शुरू से ही विवादों में है। पिछले दिनों कलेक्टर ने निर्देश दिए थे कि 15 अप्रैल से पुराने बस स्टैंड की सभी बसें खेमी शक्ति मंदिर के निकट नई जगह से संचालित होंगी, लेकिन बस स्टैंड की शिफ्टिंग के पक्ष (युवा विकास समिति) और विपक्ष (बस ऑपरेटर्स व पुराने बस स्टैंड के दुकानदार) दोनों ही पक्षों के लोगों द्वारा आंदोलन की चेतावनी के बाद मामला फिर अटक गया। इसी बीच कलेक्टर दिनेश कुमार यादव ने नगर परिषद आयुक्त, परिवहन अधिकारी को साथ लेकर सोमवार को वर्तमान व नए (जहां पुराना बस स्टैंड शिफ्ट होना है) स्थान का जायजा भी लिया। बस स्टैंड की शिफ्टिंग को अगले सप्ताह तक टालते हुए दोनों पक्षों से बातचीत कर समाधान निकालने की बात कही।

गौरतलब है कि पंचदेव मंदिर से पुराने बस स्टैंड तक और यहां से गांधी चौक तक सड़क की चौड़ाई कम होने के चलते दो बसें आमने-सामने होने से दिन में कई बार जाम लगता है। जानकारी के मुताबिक ग्रामीण रूट की दो सौ से ज्यादा बसें हैं जिनके दिन में तीन सौ से ज्यादा फेरे होते हैं। कम चौड़ी सड़क पर वाहनों की रेलमपेल से दुर्घटना का खतरा भी बना रहता है। इनको देखते हुए नगर परिषद ने पुराने बस स्टैंड को दूसरी जगह शिफ्ट करने की योजना बनाई। खेमी शक्ति मंदिर के निकट करीब सवा कराेड़ की लागत से नया बस स्टैंड तैयार कर दिया। पेयजल, शौचालय, वेटिंग शेड आदि सभी सुविधाएं भी मुहैया कराने के बाद नगर परिषद ने पुराने बस स्टैंड को यहां शिफ्ट करने की पूरी तैयारी कर ली। लेकिन पुराना बस स्टैंड के दुकानदारों व मोटर यूनियन ने इसका विरोध किया तो शिफ्टिंग अटक गई। फिर नगर परिषद ने पंचदेव मंदिर से पुराना बस स्टैंड तक की सड़क चौड़ी करने का प्लान बनाया ताकि जाम से निजात मिल सके। लेकिन इसमें दुकान व मकान अड़चन बने। उन्हें ताेड़ने के लिए डिमार्केशन किया तो उन लाेगों ने इसका विरोध करते हुए पुराने बस स्टैंड को शिफ्ट करने की मांग की। आखिरकार, गत दिनों हुई एक बैठक में कलेक्टर ने 15 अप्रैल से पुराने बस स्टैंड की सभी बसों का संचालन खेमी शक्ति मंदिर के पास से किए जाने के सख्त निर्देश दिए। लेकिन पुराने बस स्टैंड के दुकानदारों व बस ऑपरेटर्स के विरोध के चलते शिफ्टिंग नहीं हो सकी। सोमवार को कलेक्टर ने पुराने बस स्टैंड व खेमी शक्ति मंदिर के निकट तैयार स्टैंड का मौका देखा। शिफ्टिंग को एक सप्ताह तक टालते हुए दोनों पक्षों से चर्चा कर समाधान निकालने की बात कही।

निजी बस यूनियन ने नए स्टैंड पर सुविधाओं की कमी का दिया हवाला

कलेक्टर यादव के पुराने व नए बने स्टैंड का जायजा लेने के दौरान बस ऑपरेटर्स ने उन्हें नई जगह पर सुविधाओं की कमी का हवाला दिया। ऑपरेटर्स की यूनियन के अध्यक्ष भोपाल सिंह ने कलेक्टर से कहा कि यहां जगह कम होने से जाम लगेगा। कलेक्टर ने कहा कि फिलहाल जहां बस स्टैंड है वहां कौनसी खुली जगह है? नगर परिषद आयुक्त विनयपाल ने कहा कि यहां सभी सुविधाएं मुहैया कराई गई हैं। इधर, पुराने बस स्टैंड की नई जगह शिफ्टिंग जल्द करने की मांग करते हुए युवा विकास समिति ने कलेक्टर को ज्ञापन दिया।

बस स्टैंड शिफ्टिंग मामले में आंदोलन की चेतावनी : पुराने बस स्टैंड की नई जगह शिफ्टिंग को लेकर दो पक्ष हो गए हैं। दोनों ही पक्षों ने उनकी मांगें नहीं मानी जाने पर आंदोलन की चेतावनी दी है। मोटर यूनियन के अध्यक्ष भोपाल सिंह ने कहा है कि प्रशासन ने पुराने बस स्टैंड को शिफ्ट किया तो आंदोलन किया जाएगा। वे लोग किसी भी हाल में नए स्टैंड से बसों का संचालन नहीं करेंगे। इधर, दूसरे पक्ष ने भी चेतावनी दी है कि यदि पुराने बस स्टैंड को जल्द नई जगह शिफ्ट नहीं किया गया तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा।

भास्कर संवाददाता | झुंझुनूं

शहर के पुराने बस स्टैंड की खेमी शक्ति मंदिर के पास नई जगह शिफ्टिंग शुरू से ही विवादों में है। पिछले दिनों कलेक्टर ने निर्देश दिए थे कि 15 अप्रैल से पुराने बस स्टैंड की सभी बसें खेमी शक्ति मंदिर के निकट नई जगह से संचालित होंगी, लेकिन बस स्टैंड की शिफ्टिंग के पक्ष (युवा विकास समिति) और विपक्ष (बस ऑपरेटर्स व पुराने बस स्टैंड के दुकानदार) दोनों ही पक्षों के लोगों द्वारा आंदोलन की चेतावनी के बाद मामला फिर अटक गया। इसी बीच कलेक्टर दिनेश कुमार यादव ने नगर परिषद आयुक्त, परिवहन अधिकारी को साथ लेकर सोमवार को वर्तमान व नए (जहां पुराना बस स्टैंड शिफ्ट होना है) स्थान का जायजा भी लिया। बस स्टैंड की शिफ्टिंग को अगले सप्ताह तक टालते हुए दोनों पक्षों से बातचीत कर समाधान निकालने की बात कही।

गौरतलब है कि पंचदेव मंदिर से पुराने बस स्टैंड तक और यहां से गांधी चौक तक सड़क की चौड़ाई कम होने के चलते दो बसें आमने-सामने होने से दिन में कई बार जाम लगता है। जानकारी के मुताबिक ग्रामीण रूट की दो सौ से ज्यादा बसें हैं जिनके दिन में तीन सौ से ज्यादा फेरे होते हैं। कम चौड़ी सड़क पर वाहनों की रेलमपेल से दुर्घटना का खतरा भी बना रहता है। इनको देखते हुए नगर परिषद ने पुराने बस स्टैंड को दूसरी जगह शिफ्ट करने की योजना बनाई। खेमी शक्ति मंदिर के निकट करीब सवा कराेड़ की लागत से नया बस स्टैंड तैयार कर दिया। पेयजल, शौचालय, वेटिंग शेड आदि सभी सुविधाएं भी मुहैया कराने के बाद नगर परिषद ने पुराने बस स्टैंड को यहां शिफ्ट करने की पूरी तैयारी कर ली। लेकिन पुराना बस स्टैंड के दुकानदारों व मोटर यूनियन ने इसका विरोध किया तो शिफ्टिंग अटक गई। फिर नगर परिषद ने पंचदेव मंदिर से पुराना बस स्टैंड तक की सड़क चौड़ी करने का प्लान बनाया ताकि जाम से निजात मिल सके। लेकिन इसमें दुकान व मकान अड़चन बने। उन्हें ताेड़ने के लिए डिमार्केशन किया तो उन लाेगों ने इसका विरोध करते हुए पुराने बस स्टैंड को शिफ्ट करने की मांग की। आखिरकार, गत दिनों हुई एक बैठक में कलेक्टर ने 15 अप्रैल से पुराने बस स्टैंड की सभी बसों का संचालन खेमी शक्ति मंदिर के पास से किए जाने के सख्त निर्देश दिए। लेकिन पुराने बस स्टैंड के दुकानदारों व बस ऑपरेटर्स के विरोध के चलते शिफ्टिंग नहीं हो सकी। सोमवार को कलेक्टर ने पुराने बस स्टैंड व खेमी शक्ति मंदिर के निकट तैयार स्टैंड का मौका देखा। शिफ्टिंग को एक सप्ताह तक टालते हुए दोनों पक्षों से चर्चा कर समाधान निकालने की बात कही।

नए बस स्टैंड पर लोगों से चर्चा करते कलेक्टर।

रेहड़ी यूनियन ने शिफ्टिंग के िवरोध में बैठक की

रेहड़ी यूनियन समिति की ओर से पुराना बस स्टैंड की शिफ्टिंग के विरोध में बैठक हुई। अध्यक्ष श्रीराम सैनी ने कहा कि स्टैंड शिफ्ट हाेने से पुराने बस स्टैंड पर जो रेहड़ी वाले हैं, उनके सामने रोजगार का संकट खड़ा हो जाएगा। शिव सेना की जिला इकाई के सदस्यों उप प्रमुख जयराज जांगिड़, नगर प्रमुख प्रेमप्रकाश सैनी ने भी बस स्टैंड की शिफ्टिंग का विरोध किया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sikar

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×