• Home
  • Rajasthan
  • Sikar
  • तारानगर के रेड़ी में नानी बाई रो मायरो कथा शुरू
--Advertisement--

तारानगर के रेड़ी में नानी बाई रो मायरो कथा शुरू

गांव रेड़ी के बालाजी मंदिर में सोमवार को तीन दिवसीय नानी बाई को मायरो कथा शुरू हुई। कथावाचक प्रकाशचंद्र स्वामी ने...

Danik Bhaskar | May 02, 2018, 06:50 AM IST
गांव रेड़ी के बालाजी मंदिर में सोमवार को तीन दिवसीय नानी बाई को मायरो कथा शुरू हुई। कथावाचक प्रकाशचंद्र स्वामी ने कथा के पहले दिन कथा के महत्त्व के बारे में जानकारी दी। स्वामी ने कहा कि भगवान संसार के कण-कण में व्याप्त है, जिसे पहचानने के लिए पारखी नजर केवल परम भक्तों के पास ही है। उन्होंने बताया कि नरसी भगत ने भगवान श्रीकृष्ण को आराध्य नहीं समझकर अपना सखा समझकर मित्रता की। पंडाल में भजनों की प्रस्तुतियों पर श्रोता झूम उठे। इस मौके पर भंवरसिंह, गिरवरसिंह, राहुल जोशी, भटू अग्रवाल, रमेश सुथार, चतराराम, पुराराम, बन्नेसिंह, पुष्पा जोशी, सुरज्ञान, शकुंतला कंवर, मांगु गौड़, कल्याणसिंह आदि मौजूद थे।

कथावाचक बोले-भगवान को सखा मान करें पूजा

करणी माता मंदिर में लगा बालाजी का जागरण

साहवा. वार्ड 15 स्थित करणी माता मंदिर में सोमवार रात को बालाजी महाराज का जागरण लगाया गया। नरेश पारीक व गोवर्धन पारीक के सहयोग से लगाए गए जागरण का शुभारंभ गायक कलाकार देवेंद्र व अरूण ने गणेश वंदना से किया। किशन पारीक ने आसरो बालाजी म्हानै थारो.., शिरड़ी वाले सांई बाबा.. सहित अन्य भजनों की प्रस्तुतियां दी। कलाकार कमल कामड़ ने समय का भरोसा कोनी.. सहित श्याम बाबा का भजन सुनाया। नरेश पारीक व गोवर्धन पारीक ने बालाजी व माताजी के भजन सुनाए। जागरण में छगनलाल भार्गव, लीलाधर सांकरोत, राजमोहन शर्मा, राजेंद्र जोशी, प्रवीण पारीक, रामस्वरूप पारीक, बजरंगसिंह शेखावत, रोहिताश सांकरोत, बालचंद व्यास, सुरेंद्र सांकरोत, रामू भार्गव, हनुमान प्रसाद सहित श्रद्धालु महिलाएं उपस्थित थी।

सादुलपुर में शनि जयंती समारोह को लेकर तैयारियां शुरू

सादुलपुर | जैन अस्पताल के पास स्थित सूर्यपुत्र शनिदेव मंदिर में शनि जयंती को होने वाले जागरण की तैयारियां जोर शोर से की जा रही है। पुजारी हीरालाल भार्गव ने बताया कि 13 मई को होने वाले जागरण में सूरत के कलाकार हेमा पासवान व मुकेश दाधीच तथा किशन शर्मा द्वारा भगवान शनिदेव के भजनों की प्रस्तुतियां दी जाएगी। जागरण में जीवंत झांकियों का प्रदर्शन भी किया जाएगा। उन्होंने बताया कि जागरण को लेकर शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में प्रचार-प्रसार किया जा रहा है, वहीं कार्यकर्ताओं को अलग-अलग जिम्मेदारी सौंपी गई है।