बीएस-4 वाले 1750 वाहन नहीं बिक रहे नवरात्र में बुकिंग कराने वाले भी नहीं ले पा रहे

Sikar News - बीएस-4 वाहनों की बिक्री पर एक अप्रैल से रोक लग जाएगी। आरटीओ भी इनका रजिस्ट्रेशन नहीं करेगा। ऑटो मोबाइल सेक्टर को...

Mar 27, 2020, 09:47 AM IST
Sikar News - rajasthan news 1750 vehicles of bs 4 are not selling even those booking in navratri are unable to take

बीएस-4 वाहनों की बिक्री पर एक अप्रैल से रोक लग जाएगी। आरटीओ भी इनका रजिस्ट्रेशन नहीं करेगा। ऑटो मोबाइल सेक्टर को उम्मीद थी कि नवरात्र में स्टॉक में पड़े वाहनों की बिक्री हो जाएगी। क्योंकि-ऑटो कंपनियों ने इन पर भारी छूट भी दी थी। छूट के कारण लोगों ने नवरात्र के लिए बुकिंग भी करा ली थी। अब हालात यह है कि लॉक डाउन के कारण ऑटो मोबाइल सेक्टर पूरी तरह बंद है। लोग वाहन नहीं ले पा रहे। डीलर्स एसोसिएशन फाडा ने ऑटो मोबाइल वाहन निर्माता एसोसिएशन को पत्र लिखकर मांग रखी है। सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करके मांग की जा रही है कि बीएस-4 वाहनों की बिक्री के लिए आगे वक्त और बढ़ाया जाए। सीकर में बजाज, टीवीएस, हीराे, हाेंडा सहित अन्य कंपनियां के 68 से ज्यादा आउटलेट्स हैं। प्रत्येक डीलर के पास 350 से ज्यादा वाहनाें का अभी स्टाॅक बचा हुअा है। जिले में 1750 से ज्यादा बीएस-4 की गाड़ियां अभी भी बिना बिके हुए पड़ी है। कंपनियाें ने ग्राहकों को 20-20 हजार रुपए तक की छूट भी दी है। बजाज तो वाहनों की ऑनलाइन बुकिंग कर रहा है। अाॅटाेमाेटिव स्कील डबलमेंट काउंसलिंग के चेयरमैन निकुंज सिंह का कहना है कि हमारी अाेर से सुप्रीम काेर्ट में याचिका दायर की गई है। इसकी सुनवाई 27 मार्च काे है। राहत मिलने की उम्मीद है।


मार्केट का ट्रेंड बताता है मंदी में फायदेमंद होता है निवेश

शेयर बाजार में हो रही बड़ी गिरावट के बीच 10 दिन में सीकर के लोगों को करीब 25 करोड़ रुपए का नुकसान उठाना पड़ा है। इनमें ज्यादातर शॉर्ट टर्म और नियमित ट्रेडिंग करने वाले निवेशक शामिल है। लगातार गिरावट होने से ये लोग नुकसान उठाकर बाजार से बाहर आ गए। एक्सपर्ट्स संजय गुप्ता ने बताया कि अगर आप इस लेवल पर मार्केट में पैसा लगाते हैं तो आपको एक साल में करीब 30 पर्सेंट का रिटर्न आसानी से मिल सकता है। शेयर ब्रोकर अशोक पारीक का कहना है कि एनालिस्ट्स का मानना है, जब बाजार में 30 पर्सेंट तक का करेक्शन आ जाए तो उस वक्त निवेश करना फायदेमंद होता है। अबतक के ट्रेंड्स यही बता रहे हैं।

शेयर मार्केट में निवेश का मौका, दो दशक में 6 बार 30% गिरावट के बाद मिला अच्छा रिटर्न

भास्कर संवाददाता | सीकर

कोरोना वायरस के कहर में दुनियाभर के शेयर बाजार और इकॉनामी के खस्ताहाल है। जबर्दस्त गिरावट के बाद गुरुवार को बढ़ोतरी के साथ खुले शेयर बाजार ने निवेशकों काे राहत दी। बाजार विशेषज्ञों के अनुसार, उतार चढ़ाव के इन 10 दिनाें में सीकर के लाेगाें काे 25 कराेड़ रुपए का नुकसान हाे चुका है। बाजार के जानकारों की मानें तो शेयर मार्केट में 30 फीसदी की गिरावट के दौर में निवेश करने वालों को एक से दो साल में अच्छा रिटर्न मिल सकता है। दाे दशक में छह ऐसे मौके आए जब मार्केट में 30 फीसदी गिरावट या इससे ज्यादा उतार-चढाव देखने मिला। इसके बाद एक से दो साल में निवेशकों को 30 से 50 फीसदी तक रिटर्न मिला है। शेयर बाजार गुरुवार को तेजी के साथ खुला। मुंबई स्टॉक एक्सचेंज का 30 शेयरों वाला सूचकांक सेंसेक्स 246.24 अंकों की तेजी के साथ 28,782.02 पर खुला तो नेशनल स्टॉक एक्सचेंज के निफ्टी ने 120 अंकों के उछाल के साथ 8,451 पर कारोबार की शुरुआत की। शुरुआत के 15 मिनट के कारोबार में ही सेंसेक्स में 600 अंकों की तेजी आई गई। इधर, 21 दिनों के लाँक डाउन के कारण हाजिर सोने के बाजार बंद हैं। हालांकि लोग वायदा बाजार से इसमें पैसा लगा रहे हैं। शाम को शेयर बाजार 1410.99 अंको की बढ़ोतरी साथ 29,946 और निफ्टी 323.60 अंको की बढ़ोतरी के साथ 8,641.45 अंकों पर बंद हुआ। जबकि बुधवार को सेंसेक्स 28,535.78 पर बंद हुआ था। सेंसेक्स पर शुरुआती कारोबार में इंडसइंड बैंक, एक्सिस बैंक, इन्फोसिस, एचडीएफसी, टेक महिंद्रा, आईसीआईसीआई बैंक, एचसीएल टेक, सनफार्मा, एलटी, बजाज ऑटो, बजाज फाइनेंस, हिंदुस्तान यूनिलिवर लिमिटेड, एचडीएफसी बैंक, भारती एयरटेल के शेयरों में अच्छी तेजी दिखी। कोटक बैंक, एनटीपीसी, पावर ग्रिड, ओएनजीसी और मारुति के शेयर ही लाल निशान में थे। इधर, निफ्टी पर इंडसइंड बैंक, एक्सिस बैंक, यूपीएल, इन्फोसिस, टेक महिंद्रा के शेयर टॉप बढ़ोतरी तो आईओसी, ओएनजीसी, जेएसडब्ल्यू स्टील, मारुति और ग्रासिम के शेयर गिरावट में रहे।

ऑटो मोबाइल कंपनियांं दे रही 5 से 25 हजार तक की छूट

बुकिंग कंफर्म हाेने के बाद डिलीवरी लॉक डाउन खुलने के बाद दी जाएगी। बजाज ने अपने ग्राहकों काे यह भी स्पष्ट किया है कि अगर किसी कारण से वाहन की अारटीअाे से पासिंग नहीं हुई ताे नकदी खाते में ट्रांसफर कर दी जाएगी। इसके अलावा टीवीएस ने अपने ग्राहकों काे पांच हजार रुपए से लेकर 25 हजार रुपए तक की छूट दी जा रही है। टीवीएस की जुपीटर स्कूटी सेगमेंट है, इसकी कीमत अब 64 हजार रुपए हाे चुकी है। अगर चाैपहिया वाहनाें की बात करें ताे जिले में सभी के पास करीब 100 चाैपहिया वाहन ही हाेंगे। क्याेंकि-ज्यादातर चाैपहिया वाहन निर्माता कंपनियाें की अाेर से वाहनाें काे बनाना काफी समय पहले ही बंद कर दिया था।

दो हजार वाहनों का रजिस्ट्रेशन नहीं हो रहा

कंपनियाें की अाेर से दिए जा रहे अाॅफर्स के चलते जिले में करीब दाे हजार से ज्यादा एेसे वाहन हैं जिनकी डिलीवरी ताे ग्राहकाें काे दी गई है, लेकिन परेशानी यह है कि अंतिम दाे दिनाें के दाैरान जिन्हाेंने वाहनाें का रजिस्ट्रेशन नहीं कराया ताे उन्हें परेशानी का सामना करना पड़ सकता है। अादेशाें के अनुसार एक अप्रैल से केवल बीएस-6 मानक के वाहनाें का ही रजिस्ट्रेशन किया जाएगा। यह वाहन बीएस-4 की तुलना में कम प्रदूषण करते हैं।

जयपुर राेड स्थित यार्ड में बिकने के इंतजार में खड़ी बाइक।

गिरावट का समय टाइम गिरावट एक साल में रिटर्न दो साल में रिटर्न

जनवरी-मार्च 2020 तीन महीनें 31 फीसदी - -

मार्च 2015-फरवरी 2016 12 महीनें 25 फीसदी 30 फीसदी 54 फीसदी

नवंबर 2010-दिसंबर 2011 14 महीनें 29 फीसदी 30 फीसदी 39 फीसदी

जनवरी 2008-अक्टूबर 2008 10 महीनें 65 फीसदी 109 फीसदी 167 फीसदी

मई 2006-जुलाई 2006 2 महीनें 31 फीसदी 66 फीसदी 56 फीसदी

फरवरी 2000-सितंबर 2001 20 महीनें 53 फीसदी 13 फीसदी 67 फीसदी

नोट : दो दशक में मार्केट में आई गिरावट और उसके बाद मिले रिटर्न।

10 दिन में हुआ था करोड़ों का नुकसान, गुरुवार को बढ़ोतरी के साथ शुरू हुआ शेयर मार्केट

X
Sikar News - rajasthan news 1750 vehicles of bs 4 are not selling even those booking in navratri are unable to take

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना