सऊदी जेल में बंद युवक की भारत वापसी के लिए जुटाए 50 लाख रुपए

2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
सड़क दुर्घटना के क्लेम के रुपए जमा नहीं हाेने के कारण 5 साल से युवक सउदी अरब की जेल में बंद है। एेसे में लाेसल के लाेगाें ने सउदी अरब की जेल से युवक काे लाने के लिए मुहिम छेड़ी है। राजेश हरिपुरा ने बताया कि लाडनूं तहसील के गांव रताऊ रहने वाले गोविंद भाकर सितम्बर 2012 में सउदी अरब में काम करने के लिए गए थे। 2014 में उसकी गाड़ी से एक युवक की टक्कर लगने से माैत हाे गई। कंपनी की अाेर से गाड़ी का इंशयाेरेंस नहीं कराया गया था। काेर्ट ने युवक के परिवार काे क्लेम के रुप में 67 लाख रुपए चुकाने के अादेश जारी किए। रुपए नहीं देने के कारण गोविंद भाकर काे जेल में डाल दिया गया। अादेश दिए गए कि जब तक रुपए जमा नहीं हाेंगे तब तक उसे जेल में ही रखा जाएगा। भागीरथ बाजिया (जाचास) ने बताया कि एक-एक कर कई गांव के लाेग मुहिम में जुड़ चुके है। करीब 50 लाख रुपए एकत्रित किए जा चुके है। उन्हाेंने बताया िक सीकर के भागीरथ नेतड़, निवास नेतड़, सुनील नेतड़, राजेश हरिपुरा, मेजर शंकरलाल सेसमा, अमर जाखड़, महे, बडकेस्या, अाेमप्रकाश सेसमा, विनाेद बिजारणिया, प्रताप बुरडक ने भी सहयोग दिया।

खबरें और भी हैं...