किसान नौ मार्च को करेंगे उग्र आंदोलन की घोषणा

3 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
अखिल भारतीय किसान सभा के बैनर तले जिलेभर के किसानों द्वारा सीकर कलेक्ट्रेट पर पड़ाव डालकर प्याज की सरकारी खरीद की मांग को लेकर आंदोलन किया जा रहा है। गुरुवार धोद व सीकर तहसील के किसानों द्वारा महा पड़ाव डाला गया। पड़ाव स्थल पर अखिल किसान सभा के पदाधिकारियों ने किसानों को संबोधित किया। प्रदेशअध्यक्ष पेमा राम ने कहा किसान अपनी मांगों को लेकर उग्र रणनीति तय कर रहे है। इसके लिए अखिल भारतीय किसान सभा की टीम गांव व ढाणियों तक जनसंपर्क में जुट गई है। राष्ट्रीय नेता अमरा राम ने कहा नौ दिन से शांतिपूर्वक आंदोलन के बावजूद सरकार ने किसानों की समस्या की तरफ ध्यान नहीं दिया है।

अब सरकार व किसानों के बीच आरपार की लड़ाई होगी। इसके लिए नौ मार्च को अखिल भारतीय किसान सभा के पदाधिकारियों के साथ किसानों की बैठक होगी। जिसमें उग्र आंदोलन की रणनीति तय कर घोषणा की जाएगी। महापड़ाव को सत्यजीत भींचर, सागर खाचरिया, पेमा राम, हरिसिंह गढ़वाल, प्रेम प्रताप, रुड़ सिंह महला व क्यूम कुरैशी सहित अनेक पदाधिकारियों एवं किसानों ने संबोधित किया। किशन पारीक ने बताया कि शुक्रवार को लक्षमणगढ़ व फतेहपुर तथा शनिवार को खंडेला, श्रीमाधोपुर व दांता क्षेत्र के किसानों का पड़ाव होगा।

लोसल में अनाज का खरीद केंद्र खुलवाने की मांग : अखिल भारतीय किसान सभा लोसल इकाई पदाधिकारी एवं किसानों ने मोहन लाल भामू की अगुवाई में कलेक्टर को ज्ञापन देकर लोसल कस्बे में कृषि जिंसों की सरकारी खरीद के लिए समर्थन मूल्य खरीद केंद्र खुलवाने की मांग की है। ज्ञापन में बताया कि क्षेत्र के किसानों को स्थानीय स्तर पर खरीद केंद्र नहीं होने की स्थिति में समर्थन मूल्य पर कृषि जिंस बेचने में बड़ी परेशानी होती है।

भास्कर मुद्‌दा
किसानों को मिले मेहनत की कीमत
खबरें और भी हैं...