एसके हाॅस्पिटल के ब्लड बैंक के रेफ्रीजरेटर में आग, स्टाफ ने बुझाई

Sikar News - एसके अस्पताल के ब्लड बैंक के फ्रीज में लगी आग। एक दिन पहले ही ट्रायल के लिए शुरू किया था रेफ्रीजरेटर भास्कर...

Bhaskar News Network

Jul 14, 2019, 11:05 AM IST
Sikar News - rajasthan news fire staff at the hospital39s blood bank39s refrigerators
एसके अस्पताल के ब्लड बैंक के फ्रीज में लगी आग।

एक दिन पहले ही ट्रायल के लिए शुरू किया था रेफ्रीजरेटर

भास्कर संवाददाता | सीकर

एसके ट्राेमा सेंटर के ऊपर बनी ब्लड बैंक में शनिवार दाेपहर डेढ़ बजे अचानक शाॅर्ट सर्किट हाेने से अाग लग गई। शाॅर्ट सर्किट हाॅल में ब्लड बैग के लिए रखे रेफ्रीजरेटर (वीडीअार) में हुअा। ट्रायल के लिए एक दिन पहलेक ही रेफ्रीजरेटर शुरू किया गया था। अाग लगने से ब्लड बैंक परिसर में धुअां फैला गया। परिसर में माैजूद स्टाफ काे सांस लेने में तकलीफ हुई ताे उन्हें अाग लगने का अहसास हुअा। इससे अफरा-तफरी मच गई। हाॅल में पहुंचे ताे रेफ्रीजरेटर जलता हुअा मिला। इसके बाद स्टाफ ने हिम्मत दिखाई। लैब टेक्नीशियन सत्येंद्र कुड़ी, राजेंद्र, नरेंद्र बाजिया अाैर राेहित ने परिसर में अग्निशमन यंत्र उठाए। जिस हाॅल में अाग लगी हुई थी, वहां पहुंचे। जलते हुए रेफ्रीजरेटर पर अग्निशमन यंत्राें से फाॅग डालना शुरू किया। 15 मिनट की मशक्कत के बाद स्टाफ ने अाग पर काबू पाया। स्टाफ की बहादुरी के चलते हाॅस्पिटल में बड़ा टल गया। अाग जिस हाॅल में लगी, वहां पर कराेड़ाें के उपकरण रखे हुए थे। पांच रेफ्रीजरेटर, 2 डी-फ्रीज, प्लेटलेट एजीटेटर, रेफ्रीजरेटर सेंट्रफ्यूज मशीनें रखी हुई थी। अाग से एक रेफ्रीजरेट काे नुकसान पहुंचा। लेकिन अाग अागे बढ़ पाती, इससे पहले ब्लड बैंक स्टाफ की सतर्कता के चलते कराेड़ाें का नुकसान हाेने से बच गया। इसके अलावा 439 यूनिट ब्लड भी सुरक्षित बचा लिया गया।

1 माह पहले अलग सप्लाई लाइन डालने के लिए लिखी थी चिट्ठी, लेकिन कार्रवाई नहीं हुई : ब्लड बैंक ट्राेमा सेंटर के ऊपर बना हुआ है। बिजली सप्लाई लाइनें भी ट्राेमा सेंटर से जुड़ी हुई हैं। ट्राेमा सेंटर में 11 साल पहले बिजली लाइनें डाली गई थीं। एक सप्लाई लाइन पर दाे सेंटर की सप्लाई का लाेड था। अंदेशा जताया जा रहा है कि लाेड ज्यादा हाेने के कारण ब्लड बैंक परिसर में शाॅर्ट सर्किट हुअा। ब्लड बैंक इंचार्ज ने ट्राेमा सेंटर से बिजली सप्लाई हाेने के कारण सर्विस लाइन पर ज्यादा लाेड हाेने का हवाला देकर हाॅस्पिटल प्रबंधन काे चिट्ठी लिखी थी। ब्लड बैंक के लिए अलग से बिजली सप्लाई लाइन डालने की जरूरत बताई। हाॅस्पिटल प्रबंधन ने इसके बाद एनएचअारएम एक्सईएन काे चिट्ठी भिजवाकर अलग सप्लाई लाइन डालने काे कहा। लेकिन एनअारएचएम एक्सईएन ने अभी तक काेई कार्रवाई नहीं की।

X
Sikar News - rajasthan news fire staff at the hospital39s blood bank39s refrigerators
COMMENT