• Hindi News
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Sikar News rajasthan news in the stomach 11000 tablets of pain fever still stamp on the pharmacist consultation slip not medicine

स्टाेर में उल्टी, दर्द-बुखार की 11 हजार टेबलेट, फिर भी फार्मासिस्ट परामर्श पर्ची पर मोहर लगा देते हैं-दवा नहीं है

Bhaskar News Network

Jun 10, 2019, 10:15 AM IST

Sikar News - एसके हाॅस्पिटल में दवा उपलब्ध होने के बावजूद मरीजों को निशुल्क दवा स्कीम में इसका फायदा नहीं मिल रहा है।...

Sikar News - rajasthan news in the stomach 11000 tablets of pain fever still stamp on the pharmacist consultation slip not medicine
एसके हाॅस्पिटल में दवा उपलब्ध होने के बावजूद मरीजों को निशुल्क दवा स्कीम में इसका फायदा नहीं मिल रहा है। फार्मासिस्ट परामर्श पर्ची पर अनडिलीवर्ड यानी दवा उपलब्ध नहीं है का टैग लगाकर मरीज काे लाैटा देते हैं। तेज गर्मी में मरीज दवा के लिए भटकते रहते हैं। थक हारकर निजी स्टाेर से दवा खरीदनी पड़ती है। एसके हाॅस्पिटल में मरीजाें काे दवा बांटने के लिए प्रबंधन ने 6 जगह वितरण केंद्र बना रखे हैं। हर वितरण केंद्र पर फार्मासिस्ट अाैर हैल्पराें की नियुक्ति है, लेकिन दवा वितरण केंद्राें पर डाॅक्टराें द्वारा लिखी दवाएं नहीं मिल पाती।

दैनिक भास्कर ने दवा वितरण केंद्राें के सामने 2 घंटे रुककर निशुल्क दवा स्कीम की सच्चाई जानी। दवा वितरण केंद्राें पर माैजूद फार्मासिस्टों ने डाॅक्टराें द्वारा लिखी डाेमपैराडाेम, पीसीएम, एजीथ्राेमाईसिन, डायक्लाेपैरा सरीखी दवा की पर्ची पर अन डिलीवर्ड का टैग लगाकर मरीजाें काे वापस लाैटा दिया। ये दवा सामान्य बीमारियां उल्टी, दर्द अाैर बुखार राेकने के लिए काम में ली जाती है। जबकि हाॅस्पिटल के दवा स्टाेर में इन दवाअाें की 11 हजार टेबलेट माैजूद है। मरीज एक दवा वितरण केंद्र से दूसरी जगह पहुंचे ताे वहां भी दवाई नहीं हाेने का जवाब मिला।

पीएमओ बोले-फार्मासिस्टों पर कार्रवाई होगी

कैंसर मरीज काे कीमाेथैरेपी के दाैरान उल्टियां राेकने के लिए दी जाने वाली डाेमपैराडाेम, डायक्लाेपैरा, पीसीएम सरीखी टेबलेट उपलब्ध होने के बावजूद नहीं देते हैं फार्मासिस्ट

फार्मासिस्टों की मनमर्जी

30 साल का प्रकाशचंद हड्डियाें की बीमारी के कारण चैकअप के लिए एसके हाॅस्पिटल अाए। अाॅर्थाेपेडिक्स डिपार्टमेंट में चैकअप कराया। डाॅक्टर ने दर्द-बुखार के काम अाने वाली सामान्य टेबलेट लिखी। प्रकाश टेबलेट लेने दवा िवतरण केंद्र 2 पर पहुंचे। फार्मासिस्ट ने पीसीएम टेबलेट हाेने से मना कर दिया। अन डिलीवर्ड लिख दिया। प्रकाशचंद भटकते रहे, हाॅस्पिटल में टेबलेट नहीं मिली।

एसके हॉस्पिटल के पीएमओ डॉ. अशोक चौधरी का कहना है कि शिकायत अाई थी। स्टाेर में दवा माैजूद हाेने के बावजूद नहीं देने वाले फार्मासिस्टों पर कार्रवाई की जाएगी। मामले में दवा स्टोर इंचार्ज मनीष सोनी का कहना है कि दवा की कमी नहीं है। फार्मासिस्ट मरीजाें काे क्याें लाैटा रहे हैं, यह ताे वे ही बात सकते हैं।

मरीजों को गर्मी में दवा के लिए भटकना पड़ा है

 85 साल के हार्ट पेशेंट हनुमानराम लाेसल से चैकअप के लिए एसके हाॅस्पिटल पहुंचे। डाॅक्टर ने एस्प्रिन दवा लिखी। वह दवा वितरण केंद्र 6 पर पहुंचे। वहां पर फार्मासिस्ट ने परामर्श पर्ची पर अन डिलीवर्ड का टैग लगाकर लाैटा दिया। जबकि दवा स्टाेर में एस्प्रिन दवा की टेबलेट माैजूद थी।

72 साल के बाेदूराम कैंसर वार्ड में भर्ती हैं। बाेदूराम की कीमाेथैरेपी हाेनी थी। डाॅक्टर ने उल्टियां राेकने के लिए डाेमपैराडाेम टेबलेट लिखी। भतीजा छाेटूराम दवा लेने के लिए दवा वितरण केंद्र 2 पर पहुंचा। लेकिन फार्मासिस्ट ने दवा नहीं हाेने का हवाला दिया।

45 साल के मदनलाल के दर्द की शिकायत थी। डाॅक्टर ने डायक्लाेपैरा अाैर कैल्शियम की दवा लिखी। वह दवा वितरण केंद्र पर 6 पर गए। लेकिन फार्मासिस्ट ने दाेनाें दवा हाेने से मना कर दिया।

Sikar News - rajasthan news in the stomach 11000 tablets of pain fever still stamp on the pharmacist consultation slip not medicine
X
Sikar News - rajasthan news in the stomach 11000 tablets of pain fever still stamp on the pharmacist consultation slip not medicine
Sikar News - rajasthan news in the stomach 11000 tablets of pain fever still stamp on the pharmacist consultation slip not medicine
COMMENT