मलमास के कारण 15 से एक माह के लिए रुक जाएंगे मांगलिक कार्य

Sikar News - सीकर | देव गुरु बृहस्पति 15 दिसंबर दोपहर 2:02 को पश्चिम दिशा में अस्त हो जाएंगे, जिनका 10 जनवरी सुबह 4:23 को पूर्व दिशा में...

Dec 04, 2019, 12:25 PM IST
Sikar News - rajasthan news manglik works will be stopped for 15 to one month due to malmas
सीकर | देव गुरु बृहस्पति 15 दिसंबर दोपहर 2:02 को पश्चिम दिशा में अस्त हो जाएंगे, जिनका 10 जनवरी सुबह 4:23 को पूर्व दिशा में उदय होगा। इसी समय के लगभग 16 दिसंबर सोमवार को ग्रह के राजा सूर्य दोपहर 2: 58 बजे धनु राशि में प्रवेश करेंगे।

सूर्य का धनु राशि में भ्रमण 14 जनवरी तक रहेगा। इसके चलते मांगलिक कार्यों में शुभ विवाह जैसे मांगलिक कार्य नहीं होंगे। आगामी विवाह 15 जनवरी से प्रारंभ होंगे। पं अश्वनी मिश्रा के अनुसार बृहस्पति अपनी स्व राशि धनु में चल रहे हैं। उधर ग्रहों के राजा सूर्य अपनी मित्र राशि वृश्चिक से देव गुरु की राशि धनु में 16 दिसंबर को दोपहर 2:58 बजे प्रवेश करेंगे। । मलमास में इसलिए नहीं करते मांगलिक कार्य: सूर्य धनु राशि में रहता है। धनु और मीन राशि में होने पर सूर्य कमजोर हो जाता है। विवाह के लिए सूर्य का मजबूत होना जरूरी है। मकर संक्रांति के दिन तक सूर्य इसी राशि में रहेगा। सूर्य धनु में होने पर जो भी कार्य किए जाते हैं उनका पूर्ण फल प्राप्त नहीं हो पाता है। मलमास के बाद मांगलिक कार्य फिर से प्रारंभ हो जाएंगे। सूर्य का धनु राशि में प्रवेश यानि मलमास शुरू: सूर्य का धनु राशि में भ्रमण मलमास या खरमास कहलाता है। इस अवधि में भी विवाह, जनेऊ संस्कार, नूतन गृह निर्माण व प्रवेश, नामकरण संस्कार करना वर्जित माना जाता है। इसके बाद 15 जनवरी से आगामी शुभ मांगलिक कार्यों का प्रारंभ होगा।

X
Sikar News - rajasthan news manglik works will be stopped for 15 to one month due to malmas
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना