सुनवाई नहीं होने पर बेरोजगार हुए रोडवेज चालकों में आक्रोश

Sikar News - राजस्थान रोडवेज से हटाए गए सहारा एजेंसी चालकों को पुनः लगाने की मांग पर कोई कार्रवाई नहीं करने पर चालकों में सरकार...

Dec 04, 2019, 10:31 AM IST
Khandela News - rajasthan news out of hearing roadways drivers became unemployed
राजस्थान रोडवेज से हटाए गए सहारा एजेंसी चालकों को पुनः लगाने की मांग पर कोई कार्रवाई नहीं करने पर चालकों में सरकार के प्रति गहरा आक्रोश है। सहारा एजेंसी चालक हरिसिंह शेखावत, धूड़ाराम, हरिसिंह बिजारणिया, अशोक कुमार, प्रमोद, नानूराम आदि चालकों ने बताया कि प्रदेश के रोडवेज आगारों में करीब 900 चालक सहारा चालक एजेंसी के माध्यम से पिछले 13 सालों से कार्य कर रहे थे। उन्हें रोडवेज निगम ने एक नवंबर से बिना किसी नोटिस के कार्य पर लेने से मना कर दिया। इससे बेरोजगारी के कारण परिवार का पालन पोषण करना मुश्किल हो गया है।

सीकर से खंडेला मार्ग पर चलने वाली रोडवेज बसें जो सबसे ज्यादा एवरेज देती थी, वे 13 बसें दिन में तीन फेरे करती थी। इस प्रकार सीकर से खंडेला के बीच कुल 39 फेरेेे होते थे। अब दिन में पांच बसंे बंद हो जाने से 15 फेरे कम हो गए।

इससे रोडवेज को करीब 40 हजार रुपए प्रतिदिन का नुकसान हो रहा है। रोडवेज की बसें वर्कशॉप में ऐसे ही खड़ी रहती हैं। रोडवेज से हटाए गए सभी चालक मंगलवार को सुबह नौ बजे परिवहन मंत्री से मिलने जयपुर गए। पीड़ित चालकों ने बताया कि अगली प्रक्रिया में अब पलसाना तहसील के सामने अनिश्चितकाल के लिए धरना प्रदर्शन शुरू किया जाएगा। उधर, सीटू के जिला सचिव सांवरमल यादव का कहना है कि हटाए गए परिचालकों को वापस ड्यूटी पर लगाना चाहिए। अगर ऐसा नहीं हुआ तो सरकार का दरवाजा खटखटाया जाएगा।

X
Khandela News - rajasthan news out of hearing roadways drivers became unemployed
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना