रमजान पाक महीना है, इसलिए इसमें जितनी नेकी हो सकें, करनी चाहिए

Seekar News - पवित्र माह रमजान के दूसरे जुमे की नमाज जामा मस्जिद सहित शहर की तमाम मस्जिदों में अदा की गई। जामा मस्जिद के पेश इमाम...

Bhaskar News Network

May 18, 2019, 10:20 AM IST
Sikar News - rajasthan news ramzan pak month is so should be as good as possible in this
पवित्र माह रमजान के दूसरे जुमे की नमाज जामा मस्जिद सहित शहर की तमाम मस्जिदों में अदा की गई। जामा मस्जिद के पेश इमाम इब्राहिम साहब ने रमजान के नमाज अदा करवाई। नमाज से पहले खुतबा हुआ। इसके बाद नमाज अदा की गई। जामा मस्जिद के पेश इमाम इब्राहिम साहब ने फरमाया कि इस्लाम में रमजान-का महीना सबसे मुबारक महीना माना जाता है। इसकी बुनियादी वजह ये है कि इस महीने में अल्लाह ने तमाम इंसानों की रहनुमाई के लिए अपनी सबसे मुकद्दस किताब कुरआन -ए-मजीद को दुनिया में नाजिल किया। अल्लाह ने कुरआन को पैगम्बर-ए-इस्लाम हजरत मुहम्मद साहब पर थोड़ा-थोड़ा करके नाजिल किया। इसी महीने में रोजा रखना भी हर मुसलमानों पर फर्ज करार दिया गया। रमजान महीने में जरूरतमंद लोगों की ज्यादा से ज्यादा मदद करें, ताकि सभी गरीब परिवार भी इस पाक महीने में अच्छे से अच्छा भोजन कर सके और सभी के साथ ईद की खुशी में शामिल हो सके। रमजान पाक महीना है, इसलिए इस महीने में जितनी नेकी हो सके उतनी नेकी ज्यादा से ज्यादा कमाएं। इस महीने की फजीलत है कि एक नेकी के बदले 70 नेकियों मिलती है। समाज में सदका-ए-फित्र निकालना हर मुसलमान के लिए जरूरी है। अल्लाह ने हुकम दिया है कि ईद की नमाज से पहले-पहले गरीब व जरूरतमंदों का हक अदा कर दिया जाए, ताकि गरीब भी ईद की खुशियों में शामिल हो सकंे। यानी समाज का एक तबका जो साहिब-ए-हैसियत नहीं उसको भी अपनी तरह ही नए कपड़े व अन्य जरूरी सामान उपलब्ध कराया जाए। क्योंकि अगर गरीबों को ईद की खुशियों के बराबर शरीक नहीं करते हैं तो आप के लिए ईद की खुशियां नहीं हैं।

नमाज अदा करते हुए।

X
Sikar News - rajasthan news ramzan pak month is so should be as good as possible in this
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना