• Hindi News
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Sikar News rajasthan news sentenced to life imprisonment life imprisonment fine of 50 thousand rupees has already been done twice
विज्ञापन

ज्यादती व हत्या के दोषी को उम्रकैद, 50 हजार रुपए का जुर्माना, पहले भी दो बार हो चुकी है सजा

Dainik Bhaskar

Mar 17, 2019, 06:05 AM IST

Sikar News - रानोली में महिला से ज्यादती के बाद उसकी हत्या कर शव जंगल में डालने व सबूत नष्ट करने के आरोपी पर न्यायालय ने आजीवन...

Sikar News - rajasthan news sentenced to life imprisonment life imprisonment fine of 50 thousand rupees has already been done twice
  • comment
रानोली में महिला से ज्यादती के बाद उसकी हत्या कर शव जंगल में डालने व सबूत नष्ट करने के आरोपी पर न्यायालय ने आजीवन कठोर कारावास और 50 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है। आरोपी को शनिवार को पॉक्सो एक्ट न्यायाधीश अनिल कौशिक ने सजा सुनाई। अभियुक्त ज्यादती का आदतन अपराधी है और पूर्व में भी एक बार विवाहिता के साथ ज्यादती करने व दूसरी बार ज्यादती का प्रयास करने के मामले में अलग-अलग न्यायालयों द्वारा उसे सजा सुनाई जा चुकी है। लोक अभियोजक शिवरतन शर्मा ने बताया कि 30 सितंबर 2014 में को रानोली थाना में परिवादी बेटे ने मामला दर्ज कराया था कि उसकी मां 29 सितंबर 2014 को घर से खेत के लिए निकली थी। रास्ते में उसे ताई मिली जो पहले ही अपने खेत में रुक गई। वह हर रोज शाम को घर आती थी लेकिन उस दिन घर नहीं लौटने पर हमने आसपास मोहल्ले में पूछताछ की।

बेटा और पति भी खेत व आसपास के क्षेत्र में ढूंढ़कर आए, लेकिन वह नहीं मिली। गांव के 50-60 लोग उसे ढूंढ़ने निकले। इस दौरान मां का शव बीहड़ में पेड़ों के बीच पड़ा मिला। उसके गले में शॉल का फंदा लगा हुआ था। शरीर के कई हिस्सों पर चोट के निशान थे। पुलिस द्वारा जांच व पूछताछ करने पर गांव की दो महिलाओं ने आरोपी हरदेवाराम उर्फ महेंद्र उर्फ सुरेश पुत्र मांगूराम बावरिया निवासी खाटूश्यामजी हाल भैंरूपुरा को उसकी मां के पीछे जाते हुए देखा था। आरोपी ने दोनों महिलाओं से भी बातचीत की थी। आरोपी के खिलाफ पूर्व में ज्यादती के मामले का पता चलते ही उसे पकड़ लिया। उसने ज्यादती के बाद हत्या कर साक्ष्य छुपाए। प्रकरण में अभियोजन की ओर से कुल 14 गवाह के बयान करवाए व कुल 21 दस्तावेज पेश किए गए।

X
Sikar News - rajasthan news sentenced to life imprisonment life imprisonment fine of 50 thousand rupees has already been done twice
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन