• Hindi News
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Sikar News rajasthan news speaker speaks environmental education is also increasing pollution creating good people with employment education

वक्ता बोले-पर्यावरण के साथ शिक्षा में भी प्रदूषण बढ़ रहा, रोजगारपरक शिक्षा के साथ अच्छे इंसान भी बनाएं

Sikar News - राजकीय विज्ञान महाविद्यालय में पर्यावरण एवं प्राकृतिक विज्ञान विषय पर अन्तरराष्ट्रीय संगोष्ठी के दौरान मंचस्थ...

Bhaskar News Network

Feb 14, 2019, 06:17 AM IST
Sikar News - rajasthan news speaker speaks environmental education is also increasing pollution creating good people with employment education
राजकीय विज्ञान महाविद्यालय में पर्यावरण एवं प्राकृतिक विज्ञान विषय पर अन्तरराष्ट्रीय संगोष्ठी के दौरान मंचस्थ वक्ता एवं मौजूद लोग।

भास्कर संवाददाता |सीकर

राजकीय विज्ञान महाविद्यालय, सबलपुरा में आयोजित पर्यावरण एवं प्राकृतिक विज्ञान विषय पर आयोजित दो दिवसीय अन्तरराष्ट्रीय संगोष्ठी का बुधवार को समापन हुआ। समारोह के मुख्य अतिथि गोरखपुर और कानपुर विश्वविद्यालय के पूर्व कुलपति प्रो. अशोक कुमार ने कहा कि देेश में पर्यावरण के साथ शिक्षा जगत में बढ़ रहा प्रदूषण बहुत गंभीर विषय है और यह देश व समाज के लिए घातक है। किसी देश को नष्ट करने के लिए एटम बम की जरूरत नहीं है बल्कि उस देश की शिक्षा प्रणाली को कमजोर कर दीजिए तो अपने आप ही उस राष्ट्र का पतन हो जाएगा। उन्होंने कहा कि आज हम शिक्षा के मूल उद्देश्य से भटक गए हैं। शिक्षा का अर्थ सिर्फ कॅरियर बनाना ही नहीं है, वरन अच्छा इंसान बनाना है। उन्होंने विद्यार्थियों को थ्री बी के बारे में बताया इसमें पहला बी बैठने का स्थान, दूसरा बी बुक्स और तीसरा बी ब्रेन यानी दिमाग ये तीनों चीजें उपलब्ध हो तो फिर सुविधा नहीं है ऐसा बहाना नहीं बनाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि हम विकास के नाम पर प्रकृति का प्रतिरोध कर रहे हैं। हम सब हमारी संस्कृति, वेद, पुराणों में दिए गए वैज्ञानिक दृष्टिकोणों को भुलाकर पाश्चात्य संस्कृति को अपना चुके हैं। हमें फिर से जड़ों की ओर लौटना होगा। रामराज्य का तात्पर्य अच्छा व प्राकृतिक वातावरण है। उन्होंने यह भी कहा कि इस सेमीनार में करीब 500 प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया है, इन सबको एक-एक पौधा लगाने का संकल्प लेना चाहिए। समापन समारोह की अध्यक्षता सुखाड़िया विश्वविद्यालय, उदयपुर के पूर्व विभागाध्यक्ष व विख्यात प्राणीशास्त्री प्रो.महीप भटनागर ने की। विशिष्ट अतिथि गुजरात विश्वविद्यालय के प्रो.सी.पी. भसीन व डाॅ हरदेव शर्मा थे। समारोह के अध्यक्ष प्रो.भटनागर ने पर्यावरण संरक्षण के लिए सामूहिक प्रयासों के साथ-साथ समाज मे इसके प्रति जागरूकता उत्पन्न करने पर जोर दिया। समारोह की शुरूआत में मेजबान काॅलेज के प्राचार्य डाॅ के.सी.अग्रवाल ने अतिथियों का स्वागत किया। संगोष्ठी के समन्वयक डाॅ ए.के.चैहान व आयोजन सचिव डॉ. महेश पालीवाल ने संगोष्ठी का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया। इस मौके पर सहयोगी के रूप में मौजूद भामाशाह सी.एल.सी. कोचिंग के निदेशक इंजीनियर श्रवण चौधरी, प्रिंस एजु हब के चेयरमैन डाॅ. पीयूष सुण्डा सहित अन्य भामाशाहों का सम्मान किया गया। समारोह का संचालन डाॅ. जे.डी.सोनी व एम.एम.बलडोदिया ने किया। आयोजन सचिव डाॅ. चेतन जोशी ने आभार व्यक्त किया। दो दिन चली अंतरराष्ट्रीय संगोष्ठी में देश- विदेश के वैज्ञानिकों के अलावा 500 से अधिक विद्वानों व शोधार्थियों ने भाग लेकर विभिन्न शोधों पर गहन मंथन किया।

देवप्रयाग से गंगा में प्रदूषण शुरू हो जाता है : आईपी पांडे

दून यूनिवर्सिटी, देहरादून के एमेरिटस प्रो. आईपी पाण्डे ने कहा कि उन्होंने गंगा के प्रदूषण पर शोध किया है। गंगा के गंदा होने का प्रमुख कारण सीवरेज, गंदे नालों का पानी, भस्म, मालाएं, अन्य सामग्री एक दिन में कई टन डाली जाती है। देव प्रयाग से गंगा में प्रदूषण शुरू होता है जो हरिद्वार आते-आते बहुत ज्यादा बढ़ जाता है। गंगा के दोनों ओर 200 मीटर की दूरी में निर्माण बंद हो और हरियाली विकसित की जाए। उन्होंने इस पर गहन शोध किया है जिसे सरकार को भेजेंगे। एक शाेद्यार्थी ने थर्माकोल व प्लास्टिक के बजाय पुरानी फूल मालाओं से सामान पैकिंग का तरीका इजाद किया जिसे काफी सराहा गया।

Sikar News - rajasthan news speaker speaks environmental education is also increasing pollution creating good people with employment education
X
Sikar News - rajasthan news speaker speaks environmental education is also increasing pollution creating good people with employment education
Sikar News - rajasthan news speaker speaks environmental education is also increasing pollution creating good people with employment education
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना