• Hindi News
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Shrimadhopur News rajasthan news sports stadium built at the cost of one crore rupees six years ago in srimadhopur in disrepair

श्रीमाधोपुर में छह साल पहले एक करोड़ रुपए की लागत से बना खेल स्टेडियम जिम्मेदारों की अनदेखी से बदहाल

Sikar News - एक करोड़ रुपए की लागत से बना खेल स्टेडियम जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही के कारण बदहाली का शिकार है। रखरखाव के...

Dec 06, 2019, 11:27 AM IST
Shrimadhopur News - rajasthan news sports stadium built at the cost of one crore rupees six years ago in srimadhopur in disrepair
एक करोड़ रुपए की लागत से बना खेल स्टेडियम जिम्मेदार अधिकारियों की लापरवाही के कारण बदहाली का शिकार है। रखरखाव के अभाव में खेल मैदान के बीच घास-फूस व कंटीली झाड़ियां उग आई हैं। इसके कारण क्षेत्र के खिलाड़ियों को स्टेडियम का फायदा आज तक नहीं मिल सका, जबकि क्षेत्र में खेल के प्रति अच्छा रुझान है। ऐसे में स्टेडियम में तैयारी करने की आस आज भी अधूरी है। इसके बदहाली के प्रति अधिकारी और जनप्रतिनिधि भी ध्यान नहीं दे रहे हैं।

बर्बाद हो रहे एक करोड़ रुपए, तैयार होने थे खिलाड़ी, लेकिन भर रहा मेला : करीब सात साल पहले निर्मित स्टेडियम को पीडब्लूडी द्वारा हैंडओवर करने में साढ़े छह साल लग गए। इस दौरान खेल परिषद ने बाउंड्रीवाल के बगैर अपूर्ण स्टेडियम होने की बात कहकर हैंडओवर नहीं लिया था। तत्कालीन कलेक्टर ने खेल और सार्वजनिक निर्माण विभाग के अफसरों को इसके लिए निर्देशित किया तो चार अप्रैल 2018 में खेल विभाग ने अपूर्ण स्टेडियम को हैंडओवर कर लिया, लेकिन इसके बाद भी अफसर यहां पसरी अव्यवस्था दुरुस्त कराने पर ध्यान नहीं दे रहे हैं। नतीजा, जहां खिलाड़ी तैयार होने थे, वहां मेला लगाया रहा है।

प्रदेश में वॉलीबाॅल, टेनिस, बास्केटबॉल सहित दूसरे खेल और इनके खिलाड़ियों को आगे बढ़ाने की दिशा में बना यह स्टेडियम बदहाल हो चुका है। गंभीर बात ये है कि स्टेडियम के बाउंड्रीवाल अभी तक नहीं बनी तथा इसका लोकार्पण भी आज तक नहीं हुआ। खेल स्टेडियम के निर्माण में प्रस्तावित ढाई करोड़ रुपए में से केवल एक करोड़ रुपए खर्च कर छह साल से इसे लावारिस हालत में छोड़ दिया गया। इसके कारण स्टेडियम का कार्य पूरा होने अथवा उद‌्घाटन से पहले ही जर्जर हो रहा है।

खिलाड़ियों ने कहा-यदि श्रीमाधोपुर स्टेडियम में सुविधा मिले तो कई प्रतिभाएं निखरेगी

श्रीमाधोपुर. देखरेख के अभाव में स्टेडियम के मैदान में पसरी गंदगी।




दरवाजे व खिड़कियां टूटी, लोहे की जाली भी तोड़ी, 2012 में शुरू हुआ था निर्माण

दर्शक दीर्घा के पीछे बने कमरे के दरवाजे उखड़ चुके हैं। मुख्य ऑफिस के कांच व लोहे की जालियां टूट गई। खेल कोर्ट के चारों तरफ लगी लोहे की जाली टूट गई है। उपखंड का एकमात्र स्टेडियम गंदगी, बदबू और शराब की बोतलों से अटा है। लोग यहां शौच करने लगे हैं। खिलाड़ियों की मांग के बावजूद कोई कार्रवाई नहीं की गई है। कांग्रेस कार्यकाल में खेल स्टेडियम का निर्माण वर्ष 2012 में शुरू हुआ और जून 2013 में एक करोड़ रुपए खर्च करने के बाद इसका कार्य बंद हो गया। पीडब्लूडी ने स्टेडियम में वॉलीबाॅल, टेनिस, बास्टकेटबॉल के अलग मैदान दर्शकों के बैठने के लिए सीटिंग चेयर का निर्माण कराया था। इसके बाद स्टेडियम की देखभाल और मरम्मत के लिए कोई कर्मचारी तैनात नहीं है।

बिना चारदीवारी के छह सालों तक नहीं हो सका था हैंडओवर : पीडब्लूडी द्वारा खेल विभाग को आधा-अधूरा स्टेडियम हैंडओवर के लिए छह साल पहले लिखा गया था, लेकिन कार्य पूरा नहीं होने के कारण हैंडओवर नहीं हो सका। वहीं देखभाल को लेकर बन असमंजस के कारण स्टेडियम जर्जर हो गया।

इस कारण नहीं हो सका चारदीवारी का निर्माण : दो साल पहले तत्कालीन कलेक्टर ने स्टेडियम का निरीक्षण किया था, तब पीडब्लूडी अधिकारियों ने उन्हें बताया कि एक तरफ की चारदीवारी नहीं बनने से जिला खेल परिषद को हैंडओवर नहीं हो सका। जिस ओर चारदीवारी का निर्माण नहीं हुआ, वहां कुछ रिहायशी मकान बने हैं जो स्टेडियम के अंदर से रास्ते की मांग कर रहे हैं, जबकि राजस्व रिकॉर्ड में कोई रास्ता कटा नहीं है। ये लोग ही रास्ते की मांग को लेकर चारदीवारी का निर्माण नहीं होने दे रहे हैं।


स्टेडियम निर्माण के लिए पूरा बजट नहीं मिला था, जिससे निर्माण अधूरा रह गया। कुछ हिस्से में रास्ते को लेकर विवाद है। सुधार के लिए सरकार से अतिरिक्त बजट मांगा है। बजट आने पर काम पूरा करवाकर शुरू किया जाएगा। सुब्रत सैन, जिला खेल अधिकारी, सीकर

X
Shrimadhopur News - rajasthan news sports stadium built at the cost of one crore rupees six years ago in srimadhopur in disrepair
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना