• Hindi News
  • Rajasthan
  • Sikar
  • Sikar News rajasthan news the habit of excessive person of excessive life life imprisonment has already been done twice punishment will take a penalty

ज्यादती के आदतन अभियुक्त को उम्रकैद, पहले भी दो बार हो चुकी है सजा, जुर्माना लगेगा

Seekar News - रानोली थाना क्षेत्र में महिला के साथ ज्यादती के बाद उसकी हत्या कर शव जंगल में डालने व सबूत नष्ट करने के आरोपी पर...

Bhaskar News Network

Mar 17, 2019, 06:05 AM IST
Sikar News - rajasthan news the habit of excessive person of excessive life life imprisonment has already been done twice punishment will take a penalty
रानोली थाना क्षेत्र में महिला के साथ ज्यादती के बाद उसकी हत्या कर शव जंगल में डालने व सबूत नष्ट करने के आरोपी पर न्यायालय ने आजीवन कठोर कारावास और 50 हजार रुपए का जुर्माना लगाया है। आरोपी को शनिवार को पॉक्सो एक्ट न्यायाधीश अनिल कौशिक ने सजा सुनाई। अभियुक्त ज्यादती का आदतन अपराधी है और पूर्व में भी एक बार विवाहिता के साथ ज्यादती करने व दूसरी बार ज्यादती का प्रयास करने के मामले में अलग-अलग न्यायालयों द्वारा उसे सजा सुनाई जा चुकी है।

लोक अभियोजक शिवरतन शर्मा ने बताया कि 30 सितंबर 2014 में को रानोली थाना में परिवादी बेटे ने मामला दर्ज कराया था कि उसकी मां 29 सितंबर 2014 को घर से खेत के लिए निकली थी। रास्ते में उसे ताई मिली जो पहले ही अपने खेत में रुक गई। वह हर रोज शाम को घर आती थी लेकिन उस दिन घर नहीं लौटने पर हमने आसपास मोहल्ले में पूछताछ की। बेटा और पति भी खेत व आसपास के क्षेत्र में ढूंढ़कर आए, लेकिन वह नहीं मिली। गांव के 50-60 लोग उसे ढूंढ़ने निकले। इस दौरान मां का शव बीहड़ में पेड़ों के बीच पड़ा मिला। उसके गले में शॉल का फंदा लगा हुआ था। शरीर के कई हिस्सों पर चोट के निशान थे। पुलिस द्वारा जांच व पूछताछ करने पर गांव की दो महिलाओं ने आरोपी हरदेवाराम उर्फ महेंद्र उर्फ सुरेश पुत्र मांगूराम बावरिया निवासी खाटूश्यामजी हाल भैंरूपुरा को उसकी मां के पीछे जाते हुए देखा था। आरोपी ने दोनों महिलाओं से भी बातचीत की थी। आरोपी के खिलाफ पूर्व में ज्यादती के मामले का पता चलते ही उसे पकड़ लिया। उसने ज्यादती के बाद हत्या कर साक्ष्य छुपाए। इस मामले में आरोपी के खिलाफ जुर्म धारा 302, 376 व 201 भादस में चालान पेश किया। प्रकरण में अभियोजन की ओर से कुल 14 गवाह के बयान करवाए व कुल 21 दस्तावेज पेश किए गए। न्यायालय विशिष्ट न्यायाधीश पॉक्सो एक्ट अनिल कौशिक ने आरोपी को अलग-अलग धाराओं में सजा सुनाई। अभियाेजन की ओर से पैरवी विशिष्ट लोक अभियोजक शिवरतन शर्मा ने की।

ज्यादती के मामलों में पूर्व में दो बार हो चुकी सजा : आरोपी हरदेवाराम उर्फ महेंद्र उर्फ सुरेश पुत्र मांगूराम बावरिया निवासी खाटूश्यामजी हाल भैंरूपुरा ने 2007 में विवाहिता के साथ रानोली थाना क्षेत्र में ज्यादती की थी। उसे 10 वर्ष का कारावास और पांच हजार रुपए का जुर्माना लगाया था। इस दौरान 2011 में अभियुक्त पेशी के दौरान भाग गया था जो 2015 में पकड़ में आया था। इसके बाद आरोपी ने 2014 में ज्यादती एक विवाहिता के साथ रानोली थाना क्षेत्र में ही ज्यादती का प्रयास किया था।

X
Sikar News - rajasthan news the habit of excessive person of excessive life life imprisonment has already been done twice punishment will take a penalty
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना