--Advertisement--

बैठक में लिया मृत्युभोज पर पूर्णत: पाबंदी का संकल्प

गांव उसेर में सर्वसमाज की बैठक एडवोकेट रतीराम देशवाल की अध्यक्षता में हुई। जिसमें मृत्युभोज पर पूर्णत: पाबंदी...

Dainik Bhaskar

Jan 29, 2018, 09:30 PM IST
गांव उसेर में सर्वसमाज की बैठक एडवोकेट रतीराम देशवाल की अध्यक्षता में हुई। जिसमें मृत्युभोज पर पूर्णत: पाबंदी लगाने पर चर्चा की गई। इस मौके पर संयाेजक डाॅ सुरेन्द्र शर्मा ने लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि आज सभी समाजों में फिजूलखर्ची एवं मृत्युभोज कराना शास्त्रोक्त नहीं है। गरीब लोग मृत्युभोज करने में सक्षम नहीं होते जिससे वो दबाव में आकर कर्ज में आ जाते हैं और उनके सामने विषम आर्थिक स्थितियां बनती हैं। इस बुराई को सभी समाजों से जड़ से खत्म करना होगा। रामबाबू देशवाल ने कहा आज लोग नशे का सेवन करने लग गए है जिससे सभी समाजों का स्तर गिरता जा रहा है नशा नाश की जड़ है इस पर प्रतिबंध लगाना जरूरी है। इस मौके पर सभी समाजों के लोगों ने मृत्युभोज में शामिल नहीं होने एवं मृत्युभोज नहीं करने की शपथ ली। इस मौके पर भजन ठेकेदार, रतनलाल, डाॅ. धर्मवीर, भगवानसिंह, दिगम्बरसिंह, बाबूसिंह, निरजंनसिंह सहित गांव के सभी गणमान्य लोग मौजूद थे।

सीकरी। गांव बूड़ली में सर्वसमाज की बैठक सरदार हरदीप सिंह की अध्यक्षता में संपन्न हुई जिसमें गांव में शराब और जुए सट्टे के बढ़ते प्रचलन पर चिंता जताई गई। बैठक में वक्ताओं ने कहा कि बढ़ता नशा और जुए की प्रवृत्ति से युवा वर्ग का भविष्य अंधकारमय हो रहा है। इससे परिवारों में झगड़े बढ़ रहे है और आने वाली पीढ़ी पर विपरीत असर पड़ रहा है। यदि समय रहते इस पर रोक नहीं लगाई गई तो इसके परिणाम बुरे होंगे। इस दौरान सार्वजनिक रूप से निर्णय लिया गया कि गांव में शराब की बिक्री और सेवन पूर्णत: प्रतिबंधित किया जाएगा। जुआ खेलने वालों को भी पुलिस के हवाले किया जाएगा। इसके लिए एक कमेटी बनाई गई जिसका अध्यक्ष सरपंच हाकमदीन को बनाया गया। इस अवसर पर मानसिंह सैनी, असरु खान, चेतराम सैनी, डेरू सिंह, जसवंत सिंह, धनसिंह, रुद्दार खान, रामचंद सैनी आदि मौजूद थे।

गांव उसेर में हुई सर्वसमाज की बैठक में वक्ता बोले - नशे के सेवन से भी गिरता है समाज का स्तर

सर्व समाज की बैठक में सामाजिक बुराइयों पर लिए निर्णय

वैर |गांव
हथौड़ी में हुई सर्व समाज की बैठक ज्ञानसिंह की अध्यक्षता में हुई। प्रवक्ता निरंजनसिंह ने बताया कि सर्व समाज की बैठक में सामाजिक कुरीतियों, शराबबंदी, सट्टा जुआ, जंगलों से अवैध लकड़ी काटने पर पाबंदी, विद्यालय मंदिर सड़क आदि सार्वजनिक स्थानों पर गंदगी फैलाने से रोकना आदि बिंदुओं पर निर्णय लिए गए। शराबबंदी के नियम तोड़ने पर 1100 रुपए का अर्थदंड तथा बताने वाले को 500 रुपए से नकद पुरस्कार देने का निर्णय लिया। इसके अलावा जंगल से हरी लकड़ी काटे जाने पर 51 रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा। बैठक का संचालन छत्तरसिंह ने किया। इस अवसर पर पूर्व सरपंच कुबेरसिंह, लालाराम जाटव, अमरचंद कोली, गुटक गुर्जर, नाहरसिंह जाट, रामसिंह जाटव, हरवीर शर्मा, राजेन्द्र, पूरन, अतरसिंह, बालचंद, राममूर्ति सहित अनेकों गणमान्य लोग मौजूद थे।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..