Hindi News »Rajasthan »Sikari» सीकरी बांध में यमुना पानी व क्षेत्र के विकास के लिए किसान महापंचायत

सीकरी बांध में यमुना पानी व क्षेत्र के विकास के लिए किसान महापंचायत

बुधवार को सीकरी के गांव बेला में किसान नेता नेम सिंह फौजदार के नेतृत्व में क्षेत्र के विकास और गुडगांव कैनाल से...

Bhaskar News Network | Last Modified - Apr 26, 2018, 06:40 AM IST

सीकरी बांध में यमुना पानी व क्षेत्र के विकास के लिए किसान महापंचायत
बुधवार को सीकरी के गांव बेला में किसान नेता नेम सिंह फौजदार के नेतृत्व में क्षेत्र के विकास और गुडगांव कैनाल से पानी की मांग को लेकर किसान महापंचायत का आयोजन किया गया। इसमें कार्यक्रम की अध्यक्षता मोहम्मद इलियासकारी ने की। इस महापंचायत में गुडगांव कैनाल का पानी सीकरी बांध में डालने के लिए मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे को वादे याद दिलाने की बात कहते हुए एवं सीकरी को उप तहसील से तहसील बनवाने की बात कही। किसान नेता नेम सिंह फौजदार ने कहा है कि जब तक गुड़गांव कैनाल का पानी सीकरी बांध में नहीं डाला जाता तब तक क्षेत्र का किसान चुप नहीं बैठंेगे और अपना हक लेकर रहेगी।

क्षेत्र में सिंचाई के लिए बिल्कुल पानी नहीं है। इससे किसानों की हालत दयनीय है। अब किसान चुप नहीं बैठेगा और अपने हक के लिए आर पार की लड़ाई लड़ेगा। इससे पहले किसानों ने नेमसिंह फौजदार का चांदी का मुकुट पहनाकर स्वागत किया। इस मौके पर मोहम्मद इलियासकारी ने भी सभी समाजों को एकजुट होकर पानी के लिए लड़ाई लड़ने को तैयार रहने का आह्वान किया। क्षेत्रीय संघर्ष समिति के संयोजक जगतार सिंह ने जनता से एकजुट होकर गुडगांव कैनाल का पानी सीकरी बांध में लाने के लिए अपील की। फौजदार ने यमुना पानी को सीकरी बांध में संग्रहित करने की मांग की, जहां से 28 नहर जिले में अलग हिस्सों में बहती हैं। बांध की परियोजना को पहारी नहर पर 30 मीटर की लिफ्ट बनाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सीकरी बांध, डीग, नगर, सीकरी, पहाड़ी के 62,800 एकड़ कृषि क्षेत्र को सिंचाई के पानी प्रदान कर सकता है। राज्य सरकार ने राज्यों के बीच पानी के वितरण के समाधान के लिए अंतरराज्यीय जल वितरण समाधान समिति की स्थापना की थी। राजस्थान, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हिमाचल प्रदेश के बीच समझौते में गुड़गांव नहर के माध्यम से 1281 क्यूसेक यमुना पानी को मंजूरी दे दी गई थी। मानसून के मौसम में केवल 150 क्यूसेक पानी मिलता है जो महज एक मजाक है। जिले में यमुना पानी प्राप्त करने के बाद कृषि उत्पादन में चार से पांच गुना वृद्धि होगी। इस अवसर पर क्षेत्रीय संघर्ष समिति के जगतार सिंह, जय प्रकाश मिश्र, राजेश कुमार, संपत फौजी, उम्मर, बल्लू सिंह आदि मौजूद थे।

सीकरी. किसान नेता नेमसिंह फ़ौजदार का स्वागत करते ग्रामीण।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sikari

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×