--Advertisement--

दो महीने में 28 ऊंटों को बचाया

सिरोही (ग्रामीण) | ऊंट को वधशाला जाने से पूर्व गऊ ध्यान फाउण्डेशन एवं पीएफए के प्रयास से ऊंटों को बचाकर इन्हे पीएफए...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 06:45 AM IST
सिरोही (ग्रामीण) | ऊंट को वधशाला जाने से पूर्व गऊ ध्यान फाउण्डेशन एवं पीएफए के प्रयास से ऊंटों को बचाकर इन्हे पीएफए सिरोही ऊंट आश्रय स्थल पर संरक्षण के लिए भेजा जा रहा है। यहां पर ऊंट के लिए पर्याप्त मात्रा में चारा पानी एवं अन्य सुविधा संस्था की ओर से उपलब्ध की जा रही है। गत दो माह में देश भर से 28 ऊंटों को वध जाने से बचाकर सिरोही पहुंचाए गए। जिसमें 1 ऊंट भोपाल से, 6 ऊंट हैदराबाद से, 7 ऊंट इस्लामपुर व चाचौर (पश्चिमी बंगाल) से एवं 12 ऊंट आगोलाई (जोधपुर) पशु मेले से बचाकर सिरोही पीएफए को सुपुर्द किए गए।







पीएफए के सचिव अमित दियोल ने बताया कि प्रदेश के विभिन्न पशु मेलों से तस्करों की ओर से तस्करी कर पश्चिमी बंगाल होते हुए बांग्लादेश वध के लिए ऊंटों को तस्करों द्वारा पहुंचाया जाता हैं। बचाए गए स्वस्थ ऊंटों को जिले के ही ऊंट पशुपालकों को स्टाम्प पर अनुबंध पत्र भरवाकर पहचान पत्र की ओर से एवं ग्राम पंचायत की अनुमोदन पर पशुपालकों को नि:शुल्क संस्था की ओर से रोजगार के लिए दिए जा रहे है।