Hindi News »Rajasthan »Sirohi» झाडोली वीर में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए ग्रामीणों का प्रदर्शन, 38 घंटे बाद उठाया शव

झाडोली वीर में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए ग्रामीणों का प्रदर्शन, 38 घंटे बाद उठाया शव

भास्कर न्यूज | सिरोही/कैलाशनगर निकटवर्ती झाडोली वीर गांव में गुरुवार रात चोरी करने पहुंचे बदमाशों की ओर से घर के...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 27, 2018, 03:05 AM IST

झाडोली वीर में आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए ग्रामीणों का प्रदर्शन, 38 घंटे बाद उठाया शव
भास्कर न्यूज | सिरोही/कैलाशनगर

निकटवर्ती झाडोली वीर गांव में गुरुवार रात चोरी करने पहुंचे बदमाशों की ओर से घर के आंगन में सो रही वृद्धा की हत्या के मामले ने शनिवार को तूल पकड़ लिया। सवेरे आंध्र प्रदेश व हरियाणा से वृद्धा के बेटे पहुंचने के बाद परिजनों व ग्रामीणों ने हत्यारों की गिरफ्तारी नहीं होने तक शव उठाने से इंकार कर दिया। वृद्धा की हत्या के विरोध में शनिवार को झाडोली वीर का बाजार बंद रहा। ग्रामीणों ने बताया कि पहले भी झाडोली गांव में ताराराम देवासी का शव फंदे पर झूलता हुआ मिला था, जिसका आजतक खुलासा नहीं हुआ। झाडोली वीर सहित आसपास के गांवों से काफी संख्या में भीड़ जुट गई। सूचना पर शिवगंज एसडीएम प्रकाशचंद्र अग्रवाल, एएसपी पन्नालाल मीणा,डीएसपी भवानीसिंह, शिवगंज तहसीलदार प्रदीप कुमार मालवीय, कैलाशनगर उपतहसीलदार शंकरलाल मीणा मौके पर पहुंचे। पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों ने आक्रोशित ग्रामीणों से समझाईश का प्रयास किया, लेकिन दो बार वार्ता विफल रही। तीसरी बार पांच दिन में मामला खोलने के आश्वासन पर अपरान्ह 3 बजे शव उठा लिया। कैलाशनगर अस्पताल में शव का मेडिकल बोर्ड से पोस्टमार्टम करवा कर परिजनों को सौंप दिया। शाम 6 बजे अंतिम संस्कार किया गया। ऐतिहातन बरलूट थानाधिकारी बाबूलाल राणा और पालडीएम थानाधिकारी बिहारीलाल शर्मा की मौजूदगी में दोनों थानों के जाब्ते सहित अतिरिक्त जाब्ता तैनात रहा।

आंध्रप्रदेश व हरियाणा से बेटों के पहुंचने पर परिजनों व ग्रामीणों ने किया प्रदर्शन, दोपहर बाद तीन बजे उठाया शव, मेडिकल बोर्ड से कराया पोस्टमार्टम

कैलाशनगर. झाडोलीवी गांव में वृद्धा की हत्या के मामले में आरोपियों को जल्द गिरफ्तार करने की मांग को लेकर प्रदर्शन करते ग्रामीण।

मामले का राज खोलने की मांग पर किया प्रदर्शन

ग्रामीणों ने वृद्धा की हत्या के मामले को शीघ्र खोलने के लिए विरोध प्रदर्शन किया। सरपंच डायाराम मीणा, पूर्व सरपंच उगमसिंह देवड़ा, मगनलाल रावल, केवाराम देवासी, लालाराम देवासी,उत्तमसिंह देवड़ा, शंकरलाल सुथार, गणपतसिंह, भीखसिंह, भूपेन्द्रसिंह, केसाराम चौधरी, परिजन व ग्रामीणों के बीच वार्ता का दौर चला। अंत में पुलिस अधिकारियों ने भरोसा दिलाया कि पांच 5 दिन में इस हत्याकांड का पर्दाफाश कर दिया जाएगा। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार वृद्धा की मौत गले की हड्डी टूटने से हुई है। किसी भारी चीज से गला दबाया गया है, जिसमें लोहे का डंडा या लाठी हो सकती है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sirohi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×