Hindi News »Rajasthan »Sirohi» आदिवासियों को बताए भारतीय रिजर्व बैंक की नीति व उद्देश्य

आदिवासियों को बताए भारतीय रिजर्व बैंक की नीति व उद्देश्य

समूह की महिलाओं के कार्यों की सराहना कर वित्तीय जागरूकता का दिया संदेश भास्कर न्यूज | सिरोही (ग्रामीण) ...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 27, 2018, 03:05 AM IST

समूह की महिलाओं के कार्यों की सराहना कर वित्तीय जागरूकता का दिया संदेश

भास्कर न्यूज | सिरोही (ग्रामीण)

भारतीय रिजर्व बैंक के महाप्रबंधक पीके जैन ने कहा कि भारतीय रिजर्व बैंक की नीति हमेशा देश की तरक्की के लिए रही है। देश आप सब लोगों से बनता है। वे शुक्रवार शाम को पिंडवाड़ा तहसील के आदिवासी गांव कुंडाल में आयोजित वित्तीय साक्षरता शिविर में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि कोशिश करते हंै कि दूर से दूर गांवों तक जाए। वित्तीय साक्षरता का मतलब पैसे से संबंधित है। रिजर्व बैंक का उद्देश्य लोगों के जीवन में खुशहाली लाने का है। सहायक महाप्रबंधक जे.पी जोइया ने कहा कि आदिवासी गांव होते हुए भी महिलाओं में बैंक के प्रति ज्ञान अच्छा है। पुरुषों को भी हर कार्य क्षेत्र में पीछे रख रही है। उन्होंने ग्रामीणों को बैंक की विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी दी। प्रबंधक अखिलेश तिवारी ने कहा कि फाइनेंस के चक्कर में न पड़े। उनके पास कोई जादू की छड़ी नहीं है। उपभोक्ता को फाइनेंस के प्रति सभी दस्तावेज की जानकारी होनी भी जरूरी है। किसी भी स्कीम में न पड़े। सरकार से कोई स्कीम नहीं है। इसमें पैसा ना लगाए। वित्तीय धोखाधड़ी से बचने के लिए सचेत नाम का एप बनाया हुआ है। इस पर उपभोक्ता शिकायत कर सकता है। आपका पैसा मेहनत का है ऐसे में आप सही जानकारी जुटाकर ही सही जगह पर पैसा जमा करवाए। नाबार्ड के जितेंद्र मीना ने कहा कि दूर-दराज के गांवों में ऐसे शिविरों की जरूरत है। विकास की धारा से जुड़ने का रास्ता अपनाना होगा। महिलाओं को बैंकों से होने वाले लाभों के बारे में जानकारी दी। आरएमजीबी के क्षेत्रीय प्रबंधक एसके शर्मा, लीड बैंक अधिकारी मनोज कुमार ने भी विचार व्यक्त किए। इस मौके समद्धि एग्रीकल्चर के सीईओ रविकुमार ओझा समेत कई ग्रामीण मौजूद थे।

कुंडाल गांव में वित्तीय साक्षरता शिविर में भारतीय रिजर्व बैंक के महाप्रबंधक ने दी जानकारी

सवालों के जवाब पर खुश हुए बैंक के अधिकारी, दिया ईनाम

भारतीय रिजर्व बैंक की ओर से आयोजित वित्तीय साक्षरता शिविर में बैंक से संबंधित अधिकारी जानकारी दी। इस बीच अधिकारियों ने जाना कि बैंक से संबंधित महिलाओं को कितनी जानकारी है। अधिकारियों ने महिलाओं से सवाल किए कि रिजर्व बैंक किसका बैंक है..., नोट कौन छापता है..., सबसे बड़ा नोट कितने का है...समेत कई बैंक से संबंधित सवाल किए। इस पर महिलाओं ने प्रश्नों के उत्तर दिए। सही उत्तर देने पर बैंक के अधिकारियों ने उन्हें पुरस्कत भी किया।

समूह के कार्यों की सराहना

वित्तीय साक्षरता शिविर के बाद कुंडाल गांव की समूह में काम करने वाली महिलाओं ने उनके किए गए कार्यों को देखने के बारे में कहा। इस पर बैंक अधिकारियों ने उनके कार्यों को देखकर आधुनिक युग में महिलाओं के कार्यों की सराहना की। महिलाएं खेतों में ट्रैक्टर चला रही थी तो अधिकारियों को काफी अच्छा लगा। आज के युग में महिलाएं भी पुरुषों की तरह हर कार्य क्षेत्र में बराबरी पर आ गई है। समूह की महिलाओं ने जयपुर में रिजर्व बैंक देखने की इच्छा भी जताई। उधर, समारोह में प्रधानमंत्री के स्वच्छ भारत अभियान को लेकर दो डस्टबिन भी वितरित किए गए।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Sirohi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: आदिवासियों को बताए भारतीय रिजर्व बैंक की नीति व उद्देश्य
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Sirohi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×