Hindi News »Rajasthan »Sirohi» सीजन का सबसे गर्म दिन, पारा 45 डिग्री पर, भीषण गर्मी ने लगाया अघोषित कर्फ्यू, कारोबार पर भी असर

सीजन का सबसे गर्म दिन, पारा 45 डिग्री पर, भीषण गर्मी ने लगाया अघोषित कर्फ्यू, कारोबार पर भी असर

जिला मुख्यालय पर रविवार का दिन इस सीजन का सबसे गर्म दिन रहा। मौसम विभाग की वेबसाइट के मुताबिक सिरोही में दिन का...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 28, 2018, 06:10 AM IST

सीजन का सबसे गर्म दिन, पारा 45 डिग्री पर, भीषण गर्मी ने लगाया अघोषित कर्फ्यू, कारोबार पर भी असर
जिला मुख्यालय पर रविवार का दिन इस सीजन का सबसे गर्म दिन रहा। मौसम विभाग की वेबसाइट के मुताबिक सिरोही में दिन का तापमान 45 डिग्री सेल्सियस और रात का पारा 30 डिग्री सेल्सियस रिकार्ड किया गया। तन झुलसाने तेज धूप और लू के थपेड़ों से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया। सप्ताहभर से गर्मी के तीखे तेवर का असर व्यापार पर भी साफ दिखाई देने लगा है। जिन बाजारों में दिनभर भीड़ रहती थी, अब वहां दोपहर 12 बजे से शाम 5 बजे तक सन्नाटा रहता है। सिरोही के बाजार सुबह 10 बजे तक खुलते हैं और रात 8 से 9 बजे के बीच बंद हो जाते हैं। अक्सर लोग खरीदारी करने दोपहर में जाते हैं, लेकिन इन दिनों भीषण गर्मी पड़ने के कारण लोग घरों से बाहर ही नहीं निकल रहे हैं। केवल शाम को 3-4 घंटे की ही ग्राहकी रहती है। भास्कर ने जब शहर के प्रमुख बाजारों में हालात देखे तो व्यापारियों ने बताया कि बिजनेस सर्दियों के मुकाबले लगभग आधा रह गया है। जिले के सबसे बड़े शिवगंज बाजार में आम तौर पर रोजाना करीब एक से डेढ़ करोड़ का कारोबार होता है। गर्मी के असर से ये घटकर लगभग 40 से 50 लाख ही रह गया।

कल तक चलेगी हीट वेव, एसडीआरएफ ने जारी किया अलर्ट : 29 मई तक 45 डिग्री के तापमान के बीच 12 से 15 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से हवाएं चलेंगी। इसके चलते एसडीआरएफके एडीजी बीएल सोनी ने अलर्ट जारी किया है।

रविवार को दोपहर 12 से शाम 5 बजे तक बाजारों में पसरा सन्नाटा

शिवगंज. भीषण गर्मी के दौरान दोपहर में सूनसान पड़ा बाजार।

जानिए, सिरोही, शिवगंज और आबूरोड शहर में बाजार के हालात

शिवगंज: केवल 25 लाख का बिजनेस

जिले के सबसे बड़े शिवगंज बाजार में करीब 1500 दुकानें हैं। न्यू मार्केट व्यापार संघ के अध्यक्ष मदन माली व कपड़ा मार्केट के पूर्व सचिव वजींराम घांची ने बताया कि यहां हर रोज 1 से डेढ़ करोड़ रुपए का बिजनेस होता था, लेकिन इन दिनों 50 लाख रुपए ही रह गया है। दोपहर में तो दुकानदार खाली बैठे रहते हैं। शाम को जरूर लगभग 2 से 3 घंटे के लिए रौनक आती है।

आबूरोड: शाम को ही रहती है रौनक

शहर में 1000 से अधिक दुकानें हैं। दोपहर में यहां सन्नाटा पसरा रहता है। होलसेल व्यापार संघ के अध्यक्ष सागरमल अग्रवाल के अनुसार जहां सामान्य दिनों में 80-90 लाख रुपए का बिजनेस होता था, लेकिन इन दिनों बाजार में ग्राहक नजर ही नहीं आ रहे हैं। इन दिनों बिजनेस घटकर आधे से ज्यादा घटकर लगभग 40-45 लाख रह गया।

सिरोही: आधी रह गई ग्राहकों की संख्या

दिनभर खरीदारों की चहल पहल से आबाद रहने वाले सदर बाजार और न्यू बस स्टैंड मार्केट में चलने के लिए जगह नहीं मिलती थी, लेकिन इन दिनों दोपहर में ये हालात हैं कि आराम से बाइक घूम सकते हैं। व्यापार महासंघ के अध्यक्ष हमारीमल छीपा का कहना है कि ग्राहक दुकानों पर तो दूर बाजार में भी देखने को नहीं मिल रहे हैं।

पृथ्वी-सूरज में घटी दूरी, इसलिए बढ़ी गर्मी

अचानक गर्मी बढ़ने की वजह नौतपा को माना जा रहा है। सूर्य के रोहिणी नक्षत्र में प्रवेश करते ही पृथ्वी और सूर्य के बीच की दूरी थोड़ी कम हो जाती है। इससे पृथ्वी पर सूर्य की तपन ज्यादा पड़ती है, जिससे गर्मी भी बढ़ जाती है। ज्योतिषियों के मुताबिक सूर्य जब वृष राशि में भ्रमण करते हुए 10 अंश पर आता है तो नौतपा शुरू हो जाता है। सूर्य के 23 अंश 40 कला आने तक नौतपा रहता है। हर राशि 1 से 30 अंश तक होती है। नौतपा मानसून का गर्भ काल भी माना जाता है। यानी नौतपा में बारिश आई तो मानसून में छितराई या कम होती है।

दोपहर 12 से 3 बजे तक नहीं निकलें बाहर

दोपहर 12 से 3 बजे तक बाहर जाने, कठिन व भारी कामों से बचें।

प्यास नहीं लगने पर भी खूब पानी पिएं। हल्के रंगों के ढीले व सूती कपड़े ही पहनें। चश्मा और कैप जरूर लगाएं।

अल्कोहल, चाय, कॉफी, सॉफ्ट ड्रिंक का सेवन तेज गर्मी में नहीं करें।

धूप में निकलना जरूरी है तो खुद को कवर करके ही निकलें।

कमजोरी महसूस होने पर ओआरएस का घोल व नींबू पानी पिएं। छाछ व लस्सी भी खूब पिएं।

कमरे में ये बदलाव करें, कम होगी गर्मी

सूरज की किरणों को घर के अंदर आने से रोकने के लिए घर के खिड़की, दरवाजों पर मोटे और गहरे रंग के पर्दे लगाएं। यह गर्मी सोख कर घर को ठंडा रखते हैं।

यदि कमरे में कालीन बिछा हो तो उसे एयर कंडीशनर न होने पर हटा देना चाहिए, क्योंकि कालीन गर्मी बढ़ाता है। खाली फर्श ठंडा रहता है।

कमरे में कूलर है तो एक खिड़की जालीदार होनी चाहिए। ताजी हवा भी कमरे में आ सके। कूलर चलने पर क्रॉस वेंटीलेशन होने से भी कमरा ठंडा रहता है।

शयन कक्ष में बेडकवर आदि के रंग हल्के होने चाहिए। हल्के नीले और हरे रंग सौम्य रहते हैं, जबकि गुलाबी और लाल रंग गर्मी बढ़ाते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From Sirohi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×