• Home
  • Rajasthan News
  • Sirohi News
  • पावापुरी तीर्थ निर्माता एवं जीवदया प्रेमी बाबू काका का मुंबई में हुआ निधन
--Advertisement--

पावापुरी तीर्थ निर्माता एवं जीवदया प्रेमी बाबू काका का मुंबई में हुआ निधन

पावापुरी तीर्थ जीव मैत्री धाम के निर्माता, संस्थापक जीवदया प्रेमी बाबूलाल पी संघवी (बाबू काका) का बुधवार शाम को...

Danik Bhaskar | Jun 07, 2018, 06:25 AM IST
पावापुरी तीर्थ जीव मैत्री धाम के निर्माता, संस्थापक जीवदया प्रेमी बाबूलाल पी संघवी (बाबू काका) का बुधवार शाम को निधन हो गया। 74 वर्षीय बाबू काका पिछले 4 दिनों से गंभीर रूप से बीमार थे तथा ब्रीच केंडी अस्पताल में भर्ती थे। उनका अंतिम संस्कार बाण गंगा श्मशान घाट मुंबई में बुधवार शाम को हुआ। के पी संघवी परिवार ने उनके निधन के बाद किसी तरह का रीति रिवाज प्रार्थना सभा इत्यादि नहीं रखी है। वे अपने पीछे प|ी व 2 पुत्र व एक पुत्री छोड़ गए हैं। सिरोही जिले के मालगांव निवासी बाबू काका ने कई मंदिरों का नव निर्माण, जीर्णोद्धार, गोशालाएं, उपासरे, धर्मशालाएं, स्कूल भवन, अस्पताल बाग बगीचे एवं परोपकार के कई कार्य किए। उनके निधन पर राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, महाराष्ट्र के केबिनेट मंत्री राज के पुरोहित, राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के सदस्य सुनील सिंघी, जीरावला तीर्थ के चेयरमेन रमण भाई जैन, मालगांव जैन संघ के अध्यक्ष पुखराज जे बाफना, सिरोही के पूर्व विधायक संयम लोढा, पूर्व विधानसभा उपाध्यक्ष तारा भंडारी एवं पावापुरी तीर्थ के ट्रस्ट मंडल, तीर्थ के मेनेजिंग ट्रस्टी महावीर जैन ने श्रद्धांजलि दी। उनकी शवयात्रा में बड़ी तादाद मे उद्योगपति, राजनेता, अनेकों ट्रस्टों के ट्रस्टीगण, व्यवसायी व सामाजिक कार्यकर्ता शामिल हुए और उन्हें श्रद्धांजलि दी। बाबू काका की प|ी रतनबेन संघवी पिछले 25 वर्ष से लगातार वर्षीतप की तपस्या मे लीन हैं।