सिरोही

--Advertisement--

शनि जयंती कल, 9 राशियों के लिए शुभ रहेगा समय

15 मई को ज्येष्ठ मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या है, इस दिन शनि जयंती है। शास्त्रों के अनुसार प्राचीन समय में इस तिथि पर...

Dainik Bhaskar

May 14, 2018, 06:40 AM IST
15 मई को ज्येष्ठ मास के कृष्ण पक्ष की अमावस्या है, इस दिन शनि जयंती है। शास्त्रों के अनुसार प्राचीन समय में इस तिथि पर सूर्य और छाया के पुत्र शनि का जन्म हुआ था। शनि का जन्म कृति का नक्षत्र में हुआ था। ये सूर्य के स्वामित्व वाला नक्षत्र है। शनि जयंती के समय शनि हमेशा वक्री होता है। साथ ही 15 को एक दुर्लभ योग बन रहा है। इस योग के कारण 9 राशियां प्रभावित रहेगी, लेकिन उनके लिए योग अच्छा रहेगा। यह अलग विषय है कि कुंडली में राशि के अनुसार जन्मे लोगों के लिए कौनसे ग्रह पड़े हुए है। ज्योतिषियों के मुताबिक कि शनि जयंती पर लोगों को चाहिए कि वह शनि मंदिर में तेल से अभिषेक करे। इससे शनि से प्रभावित लोगों को फायदा मिलेगा। वैसे जिनकी कुंडली में शनि अच्छे भाव में पड़ा हुआ हो तो उन लोगों को किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं है।

205 साल बाद बन रहा है शनि और मंगल के साथ रहने का संयोग

जानिए, सभी 12 राशियों पर शनि का असर













1988 में 15 मई को ही जयंती थी

शनि जयंती और मंगलवार का योग रहेगा। मंगलवार का कारक मंगल है। मंगल ग्रह इस समय अपनी उच्च राशि मकर में है। ज्योतिषियों के अनुसार मंगल के उच्च राशि में रहते हुए शनि जयंती 205 साल पहले 30 मई 1813 में आई थी। उस समय भी मंगल, केतु के साथ मकर राशि में और राहु कर्क राशि में था, बुध मेष में था। इसवर्ष शनि धनु राशि में वक्री है। 29 साल पहले भी शनि धनु राशि में था और उस समय शनि जयंती मनाई गई थी। 1988 में 15 मई को ही शनि जयंती थी। ये भी एक शुभ योग है।

X
Click to listen..