सिरोही

  • Hindi News
  • Rajasthan News
  • Sirohi News
  • जानकार ने ही चोरी के लिए बाहर से बुलाया था बदमाश, जाग होने पर की वृद्धा की हत्या
--Advertisement--

जानकार ने ही चोरी के लिए बाहर से बुलाया था बदमाश, जाग होने पर की वृद्धा की हत्या

थानाधिकारी बाबूलाल राणा ने बताया कि आरोपी लखमाराम शातिर बदमाश है। उसने आंध्रप्रदेश, मध्यप्रदेश, बिहार, गुजरात...

Dainik Bhaskar

May 29, 2018, 06:40 AM IST
थानाधिकारी बाबूलाल राणा ने बताया कि आरोपी लखमाराम शातिर बदमाश है। उसने आंध्रप्रदेश, मध्यप्रदेश, बिहार, गुजरात समेत विभिन्न जगहों पर तरह-तरह के काम किए है। इस वारदात को अंजाम देने से पहले लखमाराम गुजरात के खेडब्रह्मा में था। जहां उसने किसी बदमाश को चोरी के लिए अपने गांव बुलाया। 24 मई की शाम करीब 6 बजे दोनों बदमाश जावाल कस्बे में बस स्टैंड पर मिले। इसके बाद ठेके पर जाकर देसी शराब ली और दोनों लखमाराम के झाड़ोली वीर गांव में पैतृक सूने पड़े घर में जाकर शराब पी। अगले दिन 25 मई को गांव में घूमकर सूने पड़े मकानों की रैकी की। इस दौरान लाडूदेवी प|ी गणेशाराम देवासी को अकेला देखकर उसी घर में चोरी करने की प्लानिंग बनाई। 25 मई की रात लखमाराम अपने चाचा के घर चला गया। जबकि, मुख्य आरोपी वारदात को अंजाम देने के लिए निकल गया।

आरोपी को पुलिस आज कोर्ट में पेश करेगी

भास्कर न्यूज | सिरोही

निकटवर्ती झाड़ोली वीर गांव में हुई वृद्धा की हत्या का पुलिस ने खुलासा कर दिया है। इस मामले में बरलूट पुलिस ने सहआरोपी को गिरफ्तार किया है, जिसे मंगलवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा। सहआरोपी मृतका का स्वजातीय और झाड़ोली वीर गांव का ही निवासी है। उसी ने बाहरी बदमाश को चोरी के लिए अपने गांव बुलाया था। घटना से एक दिन पहले दोनों ने गांव में घूमकर सूने घरों की रैकी की थी और उसी रात दोनों मिलकर शराब पी तथा मुख्य आरोपी ने वारदात को अंजाम दिया। मुख्य आरोपी वृद्धा की हत्या कर 20 तौला सोना, 5 किलो चांदी और ढाई रुपए चुरा कर फरार हो गया। पुलिस ने मुख्य आरोपी को पकड़ने के लिए टीमें भेजी हुई है। बरलूट थानाधिकारी बाबूलाल राणा ने बताया कि झाड़ोली वीर गांव निवासी लखमाराम पुत्र हमीराराम रेबारी को गिरफ्तार किया है। लखमाराम ने एक अन्य बदमाश को चोरी के लिए अपने गांव बुलाया। लखमाराम खुद गुजरात के खेडब्रह्मा में रहता है। चोरी के लिए उसने बाहरी व्यक्ति को बुलाया और खुद भी अपने गांव के लिए रवाना हो गया। 24 मई की शाम दोनों जावाल कस्बे में मिले और रात को दोनों मिलकर लखमाराम के सूने पड़े घर में शराब पी। अगले दिन दोनों ने घूमकर झाड़ोली वीर गांव में सूने पड़े 5-6 मकानों की रैकी की। वृद्धा का घर चोरी के लिए चुना। इसके बाद रात को लखमाराम अपने चाचा के घर चला गया। जबकि, मुख्य आरोपी वारदात के लिए वृद्धा के घर पहुंच गया। संभवतया वृद्धा के जगने पर आरोपी ने उसकी गला दबाकर कर हत्या कर दी। इसके बाद चोरी की वारदात को अंजाम दिया।

जानकार युवक ही बाहरी बदमाश को चोरी करने के लिए लेकर आया था गांव

जावाल में मिले दोनों आरोपी और चोरी की प्लानिंग बना दिया वारदात को अंजाम

एक गिरफ्तार, शीघ्र पकड़ जाएगा मुख्य आरोपी भी


जाग होने पर वृद्धा का गला दबा की हत्या, सोना-चांदी के जेवर व नकदी ले गए

थानाधिकारी ने बताया कि वारदात को अंजाम देने से पहले संभवतया वृद्धा लाडूदेवी जग गई होगी। इसलिए आरोपी ने उसकी गला दबाकर हत्या कर दी। मुख्य आरोपी ने वृद्धा के घर से 20 तौला सोना, 5 किलो चांदी और ढाई लाख रुपए की नकदी चुराई और मौके से फरार हो गया। मुख्य आरोपी कैलाशनगर के रास्ते फरार हुआ। सह आरोपी लखमाराम भी सुबह आहोर के रास्ते जालोर होते हुए वापी जाने की फिराक में था, लेकिन पुलिस को शक होने पर उसे रामसीन से पकड़ लिया। थानाधिकारी ने बताया कि लखमाराम बदमाश प्रवृत्ति का युवक है, जिसे दिन में रैकी करते हुए ग्रामीणों ने देख लिया था। इसलिए पुलिस को पहले से ही शक था। गिरफ्तारी के दौरान आरंभिक पूछताछ में उसने वारदात में शामिल होना स्वीकार किया है।

X
Click to listen..