• Hindi News
  • Rajasthan
  • Sirohi
  • जिले में पहुंची वीवी पैट युक्त ईवीएम, मतदाता को पता चलेगा जिसे दिया वोट उसे डला या नहीं
--Advertisement--

जिले में पहुंची वीवी पैट युक्त ईवीएम, मतदाता को पता चलेगा जिसे दिया वोट उसे डला या नहीं

Sirohi News - निर्वाचन प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने के लिए इस बार सिरोही समेत पूरे प्रदेश में विधानसभा चुनाव वीवी पैट युक्त...

Dainik Bhaskar

May 26, 2018, 06:55 AM IST
जिले में पहुंची वीवी पैट युक्त ईवीएम, मतदाता को पता चलेगा जिसे दिया वोट उसे डला या नहीं
निर्वाचन प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने के लिए इस बार सिरोही समेत पूरे प्रदेश में विधानसभा चुनाव वीवी पैट युक्त ईवीएम से होंगे। जिले को आवंटित ईवीएम पहुंच चुकी है। भारत निर्वाचन आयोग की ओर से निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार जून माह में राजनीतिक दलों के नेताओं की मौजूदगी में वीवी पैट युक्त ईवीएम की प्रथम लेवल जांच होगी।

वीवी पैट में मतदाता को सात सैकंड के लिए एक पर्ची दिखाई देगी, जिसमें वे देख सकेंगे कि उसने जिस प्रत्याशी को वोट दिया वोट उसे ही गया या नहीं?असंतुष्ट होने पर मतदाता शिकायत कर सकेगा। तब तुरंत टेस्ट वोटिंग (पुनर्मतदान) होगी। शिकायत सही पाई जाने पर हाथों-हाथ मतदान केंद्र के सारे सिस्टम को बदल दिया जाएगा, लेकिन मतदाता की शिकायत झूठ निकली तो गिरफ्तारी होकर उसे जेल भी हो सकती है। उसे निर्वाचन अधिनियम की धारा 161 के तहत आरोपी मानते हुए उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। यानी शिकायत झूठी पाए जाने पर संबंधित व्यक्ति को मतदान कार्य में व्यवधान का आरोपी माना जाएगा। चुनाव अधिनियम 1961 धारा 161 के तहत उसे दोषी माना जाएगा और उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है। मौके पर ही उसे पुलिस के हवाले कर दिया जाएगा। प्रदेश में पहली बार इसी साल 29 जनवरी को मांडलगढ़ विधानसभा और अजमेर व अलवर लोक सभा उप चुनाव वीवी पैट का पहली बार प्रयोग किया गया था।

इस बार विधानसभा चुनावों में वीवी पैट युक्त ईवीएम का होगा इस्तेमाल

सिरोही. इस बार विधानसभा चुनाव में वीवी पैट युक्त ईवीएम का उपयोग किया जाएगा। जिसमें मतदाता दिए गए वोट को देख सकेगा।

भास्कर नॉलेज : 2013 में बनी थी वीवी पैट, पहली बार नागालैंड में हुआ था उपयोग






सार्वजनिक स्थानों पर होगा प्रदर्शन

जिले में पहुंची वीवी पैट युक्त नई ईवीएम मशीनों की प्रथम स्तरीय जांच जून माह में राजनीतिक दलों के नेताओं की उपस्थिति में की जाएगी। इसके बाद जिलेभर में सार्वजनिक स्थानों पर प्रदर्शन किया जाएगा। ताकि, मशीनों में गड़बड़ी किए जाने संबंधी उठाए जाने वाले सवालों एवं शंकाओं को दूर किया जा सके। निर्वाचन विभाग का कहना है कि मशीनों का ट्रायल को विधानसभा चुनाव की तैयारियों का ही एक पार्ट माना जाता है।

वीवी पैट से दिए गए वोट को देख सकेंगे


बैंगलुरू में तैयार हुई है वीवी पैट युक्त ईवीएम

वीवी पैट युक्त मशीनों का निर्माण बैंगलुरू में किया गया, जहां से सीधे प्रदेश को भेजी गई। इनका पहली बार उपयोग विधानसभा चुनाव के लिए किया जाएगा। जिले के तीनों विधानसभा क्षेत्रों में कुल 710 पोलिंग बूथ है, जिसके लिए चुनाव आयोग ने 1065 बैलेट यूनिट, 888 कंट्रोल यूनिट और 923 वीवी पैट का आवंटन किया है। विधानसभा चुनाव को लेकर शीघ्र ही मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण का संक्षिप्त कार्यक्रम भी चलाया जाएगा। जिसके जरिए नए नाम जुड़वाने के साथ संशोधन या फिर नाम हटवा भी सकते हैं।

X
जिले में पहुंची वीवी पैट युक्त ईवीएम, मतदाता को पता चलेगा जिसे दिया वोट उसे डला या नहीं
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..