Hindi News »Rajasthan »Sirohi» जिले में पहुंची वीवी पैट युक्त ईवीएम, मतदाता को पता चलेगा जिसे दिया वोट उसे डला या नहीं

जिले में पहुंची वीवी पैट युक्त ईवीएम, मतदाता को पता चलेगा जिसे दिया वोट उसे डला या नहीं

निर्वाचन प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने के लिए इस बार सिरोही समेत पूरे प्रदेश में विधानसभा चुनाव वीवी पैट युक्त...

Bhaskar News Network | Last Modified - May 26, 2018, 06:55 AM IST

जिले में पहुंची वीवी पैट युक्त ईवीएम, मतदाता को पता चलेगा जिसे दिया वोट उसे डला या नहीं
निर्वाचन प्रक्रिया में पारदर्शिता लाने के लिए इस बार सिरोही समेत पूरे प्रदेश में विधानसभा चुनाव वीवी पैट युक्त ईवीएम से होंगे। जिले को आवंटित ईवीएम पहुंच चुकी है। भारत निर्वाचन आयोग की ओर से निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार जून माह में राजनीतिक दलों के नेताओं की मौजूदगी में वीवी पैट युक्त ईवीएम की प्रथम लेवल जांच होगी।

वीवी पैट में मतदाता को सात सैकंड के लिए एक पर्ची दिखाई देगी, जिसमें वे देख सकेंगे कि उसने जिस प्रत्याशी को वोट दिया वोट उसे ही गया या नहीं?असंतुष्ट होने पर मतदाता शिकायत कर सकेगा। तब तुरंत टेस्ट वोटिंग (पुनर्मतदान) होगी। शिकायत सही पाई जाने पर हाथों-हाथ मतदान केंद्र के सारे सिस्टम को बदल दिया जाएगा, लेकिन मतदाता की शिकायत झूठ निकली तो गिरफ्तारी होकर उसे जेल भी हो सकती है। उसे निर्वाचन अधिनियम की धारा 161 के तहत आरोपी मानते हुए उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी। यानी शिकायत झूठी पाए जाने पर संबंधित व्यक्ति को मतदान कार्य में व्यवधान का आरोपी माना जाएगा। चुनाव अधिनियम 1961 धारा 161 के तहत उसे दोषी माना जाएगा और उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जा सकती है। मौके पर ही उसे पुलिस के हवाले कर दिया जाएगा। प्रदेश में पहली बार इसी साल 29 जनवरी को मांडलगढ़ विधानसभा और अजमेर व अलवर लोक सभा उप चुनाव वीवी पैट का पहली बार प्रयोग किया गया था।

इस बार विधानसभा चुनावों में वीवी पैट युक्त ईवीएम का होगा इस्तेमाल

सिरोही. इस बार विधानसभा चुनाव में वीवी पैट युक्त ईवीएम का उपयोग किया जाएगा। जिसमें मतदाता दिए गए वोट को देख सकेगा।

भास्कर नॉलेज : 2013 में बनी थी वीवी पैट, पहली बार नागालैंड में हुआ था उपयोग

वीवीपैट में वोट डाने के तुरंत बाद कागज़़ की एक पर्ची निकलेगी। इस पर जिस उम्मीदवार को वोट दिया है, उनका नाम और चुनाव चिह्न छपा होता है। मशीन में लगी स्क्रीन पर यह पर्ची सात सेकंड तक दिखती है। इसे मशीन से बाहर नहीं निकाल सकते।

भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड और इलेक्ट्रॉनिक कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया लिमिटेड ने यह मशीन 2013 में डिजाइन की।

सबसे पहले इसका इस्तेमाल नागालैंड के चुनाव में वर्ष 2013 में हुआ था।

चुनाव आयोग ने जून, 2014 में तय किया किया कि वर्ष 2019 के चुनाव में सभी मतदान केंद्रों पर वीवी पैट का इस्तेमाल किया जाएगा।

वीवी पैट और ईवीएम दोनों मशीन एक-दूसरे से कनेक्ट रहती है। ईवीएम में वोटिंग के बाद वीवी पैट में पर्ची दिखाने के बाद बीप की आवाज आएगी, जो वोटिंग का इशारा है।

सार्वजनिक स्थानों पर होगा प्रदर्शन

जिले में पहुंची वीवी पैट युक्त नई ईवीएम मशीनों की प्रथम स्तरीय जांच जून माह में राजनीतिक दलों के नेताओं की उपस्थिति में की जाएगी। इसके बाद जिलेभर में सार्वजनिक स्थानों पर प्रदर्शन किया जाएगा। ताकि, मशीनों में गड़बड़ी किए जाने संबंधी उठाए जाने वाले सवालों एवं शंकाओं को दूर किया जा सके। निर्वाचन विभाग का कहना है कि मशीनों का ट्रायल को विधानसभा चुनाव की तैयारियों का ही एक पार्ट माना जाता है।

वीवी पैट से दिए गए वोट को देख सकेंगे

मतदाताओं के सशक्तिकरण व विश्वास को मजबूत करने के लिए भारत निर्वाचन आयोग ने यह व्यवस्था की गई है कि मतदाता अपने दिए गए वोट को देख सके। वीवी पैट और ईवीएम दोनों मशीन एक-दूसरे से कनेक्ट रहती है। ईवीएम में वोटिंग के बाद वीवी पैट में पर्ची दिखाने के बाद बीप की आवाज आएगी, जो वोटिंग का इशारा है। जिले में वीवी पैट युक्त ईवीएम पहुंच चुकी है। -आशाराम डूडी, उप जिला निर्वाचन अधिकारी, सिरोही

बैंगलुरू में तैयार हुई है वीवी पैट युक्त ईवीएम

वीवी पैट युक्त मशीनों का निर्माण बैंगलुरू में किया गया, जहां से सीधे प्रदेश को भेजी गई। इनका पहली बार उपयोग विधानसभा चुनाव के लिए किया जाएगा। जिले के तीनों विधानसभा क्षेत्रों में कुल 710 पोलिंग बूथ है, जिसके लिए चुनाव आयोग ने 1065 बैलेट यूनिट, 888 कंट्रोल यूनिट और 923 वीवी पैट का आवंटन किया है। विधानसभा चुनाव को लेकर शीघ्र ही मतदाता सूचियों के पुनरीक्षण का संक्षिप्त कार्यक्रम भी चलाया जाएगा। जिसके जरिए नए नाम जुड़वाने के साथ संशोधन या फिर नाम हटवा भी सकते हैं।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Sirohi News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: जिले में पहुंची वीवी पैट युक्त ईवीएम, मतदाता को पता चलेगा जिसे दिया वोट उसे डला या नहीं
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From Sirohi

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×