• Home
  • Rajasthan News
  • Sirohi News
  • Sirohi - आबादी क्षेत्र में मोबाइल टाॅवर के खिलाफ भड़का जनाक्रोश, प्रशासन ने रुकवाया काम
--Advertisement--

आबादी क्षेत्र में मोबाइल टाॅवर के खिलाफ भड़का जनाक्रोश, प्रशासन ने रुकवाया काम

शहर के कुम्हारवाड़ा मोहल्ले में घनी आबादी के बीच लगाए जा रहे मोबाइल के खिलाफ जनाक्रोश भड़क गया। आयुर्वेदिक...

Danik Bhaskar | Sep 12, 2018, 06:30 AM IST
शहर के कुम्हारवाड़ा मोहल्ले में घनी आबादी के बीच लगाए जा रहे मोबाइल के खिलाफ जनाक्रोश भड़क गया। आयुर्वेदिक अस्पताल के पास निजी भवन के ऊपर लगाए जा रहे मोबाइल टावर का काम रुकवाने के लिए कॉलोनीवासी एकत्रित हुए, लेकिन बात नहीं बनीं। कॉलोनीवासियों की सूचना पर पूर्व विधायक संयम लोढ़ा और कांग्रेस जिलाध्यक्ष जीवाराम आर्य मौके पर पहुंचे। पूर्व विधायक ने इसको नियमों के खिलाफ बताया। इसके बाद उनके नेतृत्व में कॉलोनीवासी कलेक्ट्रेट पहुंचे तथा एडीएम आशाराम डूडी को ज्ञापन सौंपा।

पूर्व विधायक लोढ़ा ने एडीएम को क्षेत्रवासियों की आपत्ति के बावजूद आबादी क्षेत्र में नियमों के खिलाफ लगाए जा रहे मोबाइल टॉवर का काम रुकवाने की बात कहीं। लोढ़ा ने बताया कि नियमानुसार टावर पूरी तरह से गलत है। इसके बावजूद मोहल्ले के लोगों के एतराज पर भी निर्माण कार्य जारी रखना गलत है। वैसे भी किसी भी सरकारी अस्पताल की एक सौ मीटर की परिधि के में टावर नहीं लगाया जा सकता जबकि इस टॉवर के पास आयुर्वेदिक अस्पताल है। लोढ़ा इस मामले में कोर्ट व सुप्रीम कोर्ट के फैसलों का हवाला भी दिया। जिस पर कलेक्टर अनुपमा जोरवाल ने नगरपरिषद आयुक्त को गाइड लाइन की समीक्षा करने तक मोबाइल टावर लगाने के काम को तत्काल प्रभाव से काम रोकने के आदेश किए।

पूर्व विधायक संयम लोढ़ा के नेतृत्व में एडीएम को सौंपा ज्ञापन, रुकवाया काम

सिरोही. मोबाइल टावर के विरोध में पूर्व विधायक लोढ़ा के नेतृत्व में एडीएम को ज्ञापन सौंपते लोग।

आपत्ति के बावजूद नहीं रोका काम, इसलिए भड़के लोग

मोहल्ले के लोगों ने बताया कि उन्होंने कई बार नगरपरिषद में आपत्ति दर्ज करवाई। बावजूद इसके निर्माण कार्य रुकवाया नहीं जा रहा है। मोहल्लेवासियों ने बताया कि टावर लगाने का विज्ञापन देखते ही नगर परिषद आयुक्त को आपत्ति दर्ज करवानी शुरु की थी। तीन पार्षदों ने भी उसे गलत मानते हुए टावर लगाने की अनुमति नहीं देने का ज्ञापन आयुक्त के सौंपा था। कुम्हारवाड़ा के लोगों ने कलेक्टर को भी पूर्व में ज्ञापन देते हुए मंदिर संपत्ति पर वाणिज्यिक गतिविधियों को बढावा देने का आरोप लगाते हुए कहा कि मोबाइल टावर स्थापित किया जा रहा है। टावर से निकलने वाली विकिरणों से उनके एवं उनके आने वाली पीढियों के स्वास्थ्य पर विपरीत असर पड़ेगा। परिषद की शह पर निर्माणकार्य किया जा रहा है।

कलेक्टर ने रुकवाया निर्माण कार्य, नगर परिषद आयुक्त ने कंपनी को भेजा नोटिस

ज्ञापन सौंपने के बाद कलेक्टर ने नगरपरिषद आयुक्त को तत्काल प्रभाव से मोबाइल टावर का काम रोकने के निर्देश दिए। उन्होंने इस मामले में गाइड लाइन की समीक्षा करने को कहा है। कलेक्टर के आदेश पर आयुक्त ने निर्माण कार्य रुकवा दिया है। आयुक्त ने इस मामले में मोबाइल टावर कंपनी को नोटिस भेजकर कॉलोनीवासियों की आपत्ति और पट्टे की भूमि की जांच होने तक काम रोकने के आदेश किए है।

मोबाइल टावर की इलेक्ट्रोमैग्नेटिक वेव्स है खतरनाक, कैंसर होने की आशंका ज्यादा

विशेषज्ञों के मुताबिक मोबाइल टावर से निकलने वाली इलेक्ट्रोमैग्नेटिक वेव्स कैंसर का कारण बनती है। एक्सपटर््स की मानें तो मोबाइल टावर के 300 मीटर एरिया में सबसे ज्यादा रेडिएशन होता है। मोबाइल टावर से होने वाले नुकसान में यह बात भी अहमियत रखती है कि घर टावर पर लगे एंटीना के सामने है या पीछे। टावर के एक मीटर के एरिया 100 गुना ज्यादा रेडिएशन होता है। टावर पर जितने ज्यादा एंटीना होंगे, रेडिएशन भी उतना ज्यादा होगा।