पुश्तैनी जमीन का 11 साल से दो भाइयों में था विवाद, लोक अदालत में गले लगाकर सुलझाया

Sirohi News - आबूरोड | न्यायालय परिसर आबूरोड में राष्ट्रीय लोक अदालत आयोजित हुई। इसमें समीपवर्ती किवरली गांव में जमीन के...

Bhaskar News Network

Sep 15, 2019, 06:35 AM IST
Abu road News - rajasthan news dispute of ancestral land between two brothers for 11 years settled in lok adalat
आबूरोड | न्यायालय परिसर आबूरोड में राष्ट्रीय लोक अदालत आयोजित हुई। इसमें समीपवर्ती किवरली गांव में जमीन के मालिकाना हक को लेकर दो भाइयों में 11 साल से चल रहे विवाद को सुलझाया।

इस मौके लोक अदालत के लिए गठित बैंच संख्या एक के अध्यक्ष विरेंद्र कुमार जसूजा, अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश संख्या एक एवं बैंच संख्या दो के अध्यक्ष दलपतसिंह राजपुरोहित तथा अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश संख्या 2 न्यायिक मजिस्ट्रेट अंकित कुमार सिंघल मौजूद थे। जानकारी के अनुसार किवरली हाल मेहसाणा गुजरात निवासी देवेंद्र पुत्र हंसराज सरगरा ने अधिवक्ता मनीष जैन के माध्यम से साल 2008 में मुंसिफ न्यायालय में एक याचिका प्रस्तुत कर बताया था कि किवरली में उसका 2145 स्कवॉयर फीट का एक प्लॉट जिसका भूखंड संख्या 145 है। उसकी पुश्तैनी संपति है। उसके दादा ने यह प्लॉट किवरली हाल अहमदाबाद, गुजरात निवासी पिता की बुवा के लडक़े मफतलाल पुत्र हीराजी सरगरा को रहने के लिए दिया था। लेकिन, आरोपी ने इसका पट्टा बना लिया। दोनों पक्षों में इस प्लॉट पर मालिकाना हक को लेकर पिछले 11 साल से लगातार विवाद चल रहा था। शनिवार को लोक अदालत के दौरान न्यायिक अधिकारियों ने दोनों पक्षों की समझाइश कर प्रकरण को आपसी बातचीत से सुलझाने को प्रेरित किया। इसके बाद मफतलाल ने यह प्लॉट देवेन्द्र को देने पर अपनी सहमति दी। दोनों भाईयों ने एक-दूसरे गले लगाया। विधिक तालुका सचिव किसनाराम मीणा के अनुसार लोक अदालत में मोटरयान दुर्घटना दावा अधिकरण संख्या एक के न्यायालय में 71 लाख 3 हजार 500 रुपए एवं मोटरयान दुर्घटना दावा अधिकरण संख्या दो में 21 लाख 96 हजार रुपए के अवार्ड पारित किए गए। न्यायालय अपर जिला न्यायाधीश संख्या एक की ओर से 29 एमएसीटी के प्रकरणों समेत 30 प्रकरणों का निपटारा किया गया। अपर जिला न्यायाधीश संख्या दो की ओर से 3 दिवानी प्रकरण, 4 हिंदू विवाह अधिनियम व 13 एमएसीटी के प्रकरणों समेत 20 प्रकरणों का निपटारा किया गया। इसके साथ आबूरोड में कुल 105 प्रकरणों का निस्तारण किया गया, जिसमें 92 लाख रुपए से अधिक के अवार्ड पारित किए गए। इस मौके अपर लोक अभियोजक हसीब अहमद सिद्दकी, बार एंसोसिएशन सचिव महेंद्र परिहार, कोषाध्यक्ष आरीफ खान, मनीष जैन, प्रदीप कुमार सक्सेना, विपिन शर्मा, प्रवीण बैरवा, सोहन सैन, विक्रम अग्रवाल व ओम प्रकाश प्रजापत मौजूद थे।

शिवगंज : 49 मामलों का हुआ निस्तारण, 11.71 लाख के अवार्ड पारित

शिवगंज | राजस्थान राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जयपुर एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सिरोही के निर्देश पर शनिवार को अपर मुख्य न्यायालय शिवगंज में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया, जिसमें अपर मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट हरीश कुमार ने दोनों पक्षकारों की आपसी सहमति से 49 मामलों का निस्तारण कर 11 लाख 71 हजार 26 रुपए का अवार्ड पारित किया। तालुका विधिक सेवा समिति शिवगंज की सचिव अर्चना ने बताया कि लोक अदालत में शिवगंज तहसील स्थित राष्ट्रीयकृत बैंकों के प्रबंधक, प्रतिनिधि एवं परिवादी प्रीलिटिगेशन मामलों का निस्तारण कराने के लिए मौजूद हुए। इसमें दोनों पक्षों की आपसी सहमति से राजीनामा के आधार पर 23 प्रीलिटिगेशन मामलों का निस्तारण कर 3 लाख 82 हजार 780 रुपए का अवार्ड पारित किया गया। इसी प्रकार न्यायालय में लंबित 26 मुकदमों का आपसी राजीनामा के आधार पर निर्णय पारित किया गया, जिसमें 7 लाख 88 हजार 246 रुपए का अवार्ड पारित किया। लोक अदालत में वकील मोहब्बतसिंह देवड़ा, सुरेश कुमार खंडेलवाल, राजकुमार चित्तारा, दिलीपसिंह देवड़ा, भवानीसिंह राव, जितेंद्रसिंह राव, अनिल दत्ता, कुंदन सोलंकी, अभियोजन अधिकारी भरत कुमार आर्य मौजूद थे।

आबूरोड. राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया गया।

शिवगंज. लोक अदालत में आपसी समझाइश से मामलों का निस्तारण किया।

Abu road News - rajasthan news dispute of ancestral land between two brothers for 11 years settled in lok adalat
X
Abu road News - rajasthan news dispute of ancestral land between two brothers for 11 years settled in lok adalat
Abu road News - rajasthan news dispute of ancestral land between two brothers for 11 years settled in lok adalat
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना