पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उद्योग समागम सेमीनार का हुआ समापन

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

आबूरोड के रीको कम्युनिटी हॉल में चल रहे दो दिवसीय उद्योग समागम सेमीनार समापन किया गया। शिविर राज्य सरकार की ओर से राजस्थान के औद्योगिक विकास के लिए घोषित की नई औद्योगिक नीति, राजस्थान निवेश प्रोत्साहन योजना-2019, मुख्यमंत्री लघु उद्योग प्रोत्साहन योजना से आमजन को रूबरू कराए जाने के उद्देश्य से राजस्थान के प्रत्येक जिले में निर्णय के परीपेक्ष्य में आयोजित हुआ।

शिविर में करीब 23 स्टॉलों में उद्यमियों की ओर से अपने उत्पादों का प्रदर्शन किया, जिसमें जिले के मुख्य उत्पाद एसएस यूटेंशिल्स मार्बल आर्टिकल एवं हस्तकला, खादी वस्त्र उत्पाद, अंगूरा प्रोडक्ट शॉल, सिरोही की तलवार एवं ढाल प्रोडक्ट का प्रदर्शन किया गया। समापन पर जिले में एमएसएमई विभाग की ओर से आयोजित प्रतियोगिताओं में चयनित युवा/युवतियों को प्रमाण-पत्र वितरित किए गए तथा प्रदर्शनी में भाग लेने वाले सभी उद्यमियों को प्रशस्त्रि-पत्र एवं मोमेंटो महाप्रबंधक भानूप्रताप सिंह की ओर से वितरित किए गए। सेमीनार के समापन पर राजस्थान प्रशासनिक सेवा के अधिकारी हरिसिंह ने प्रदूषण मुक्त उद्योगों को बढावा देने का आव्हान किया। रूचि सिंह ने टूरिज्म क्षेत्र के बारे में, सीए रौनक ओरिया ने भारत सरकार एवं राज्य सरकार की योजनाओं, नाबार्ड के डीडीएम जितेंद्र मीणा ने कृषि आधारित उद्योगों के बारे में, महेंद्र जांगिड़ ने मार्बल एवं ग्रेनाइट इकाइयों के लिए नई तकनीक के बारे में तथा उद्यमी रेखा मेड़तिया ने नवाचार के बारे में उद्यमियों को जानकारी दी। इस मौके हेमंत व्यास, सीए मनीष अग्रवाल ने भी विचार व्यक्त किए। कार्यक्रम में जिले के उद्योग संघो, उद्यमियों, राज वित्त निगम, रीको, कृषि उपजमंडी, आर-सेटी, खादी बोर्ड एवं कर्मचारियों ने भाग लिया। मंच का संचालन नरपतसिंह ने किया।

सिरोही. आबूरोड के रीको कम्युनिटी हॉल में चल रहे उद्यम समागम कार्यक्रम में मंचासीन अतिथि।
खबरें और भी हैं...