• Home
  • Rajasthan News
  • Siwana News
  • सड़क पर निजी ट्रेवल एजेंट खड़ी कर देते हैं बसें, दिन में कई बार लग जाता है जाम
--Advertisement--

सड़क पर निजी ट्रेवल एजेंट खड़ी कर देते हैं बसें, दिन में कई बार लग जाता है जाम

कस्बे में निजी के साथ ही सरकारी बसों का ठहराव बस स्टेंड पर नहीं होकर मुख्य मार्गो पर हो रहा है, इस वजह से बाजार में...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 04:25 AM IST
कस्बे में निजी के साथ ही सरकारी बसों का ठहराव बस स्टेंड पर नहीं होकर मुख्य मार्गो पर हो रहा है, इस वजह से बाजार में यातायात व्यवस्था बिगड़ी रहती है। सिवाना तहसील कार्यालय के आगे रोडवेज बस स्टेंड बना हुआ है, लेकिन रोडवेज बस व निजी बसें मुख्य मार्ग पर ठहराव करती है, ऐसे में यात्री परेशान होते हैं। यातायात व्यवस्था भी प्रभावित हो रही है। मुख्य मार्ग पर कई बार जाम की स्थिति हो जाती है।

गांधी चौक पर शाम के समय तो यातायात व्यवस्था ओर बिगड़ जाती है। यहां पर कई ट्रेवल्स एजेंटों के कार्यालय चलते है। ऐसे में शाम के समय इस मार्ग पर बसों का ठहराव होता है। पहले अतिक्रमण से संकरे इस मार्ग पर अब बसों का ठहराव होने से मार्ग से गुजरने लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। कई बार यहां दुर्घटनाएं भी हो चुकी है।

सिवाना. गांधी चौक पर बसों का संचालन होने से लगा जाम।

शाम के समय गांधी चौक में पैदल चलना भी मुश्किल

गांधी चौक की सड़क पर कई ट्रेवल्स एजेंसियों के कार्यालय खुले हुए है। यहां से अहमदाबाद, सुरत, मुंबई, जयपुर, उदयपुर के अलावा अन्य जगहों के लिए निजी बसें संचालित होती है। शाम करीब छह बजे से यहां पर निजी बसों का ठहराव हो जाता है। ऐसे में इस मार्ग पर निजी बसों की लाइन लग जाती है। सब्जी मंडी व हाइवे 325 होने से यहां शाम के समय भीड़भाड़ भी ज्यादा रहती है। यहां ना तो बसों के पार्किंग जितनी जगह है और ना ही कोई खुला मैदान। ऐसे में ये निजी ट्रेवल्स संचालक मुख्य मार्ग पर ही बसों को खड़ी करवा देते हैं, लेकिन पुलिसकर्मी इन्हें यहां से हटाने में रूचि नहीं ले रहे है। स्थिति यह बन जाती है कि दूसरे वाहनों को निकलने के लिए जगह तक नहीं मिल पाती है। कई बार तो निजी बस संचालक बस को मार्ग पर इस तरह खड़ी कर देते हैं कि उसके पास से मोटरसाइकिल के अलावा अन्य कोई भी बड़ा वाहन नहीं निकल सकता।

एकल खिड़की पर अतिक्रमण : बस स्टेंड पर रोडवेज की एकल खिड़की बनी हुई है, लेकिन रोडवेज बस का बस स्टेंड पर ठहराव नहीं होने से अतिक्रमियों ने अतिक्रमण कर दिया है। वहां पर दुकान संचालित कर अतिक्रमी कमाई कर रहे हैं, फिर भी जिम्मेदार विभाग कोई कार्रवाई नहीं कर रहा है।

दिन में कई बार बनती जाम की स्थिति : वैसे भी सिवाना के मुख्य बाजार में दुकानों के आगे सामान रखकर व बीच सड़क पर हाथ ठेले खड़े करने से लोगों को आवागमन में परेशानी होती है, वहीं बाजार में निजी व सरकारी बसों का संचालन होने से दिन में कई बार जाम की स्थिति बनी रहती है। घंटों तक जाम होने से वाहनों को निकालने में चालकों को परेशानी झेलनी पड़ती है। बीच सड़क पर खड़ी बसों को हटाने में पुलिसकर्मी रूचि नहीं लेते है।

जिम्मेदार प्रयास करे, तो हो सुधार

कस्बे के मुख्य मार्गों पर यातायात व्यवस्था में सुधार लाने के लिए सीएलजी सदस्यों की बैठक में कई बार अवगत करवाया दिया है, लेकिन निर्णय पर ठोस कार्रवाई नहीं होती है।