• Home
  • Rajasthan News
  • Sumerpur News
  • वैपकॉस कंपनी जयपुर में जवाई पुनर्भरण की डीएफआर मुख्य सचिव को करेगी पेश
--Advertisement--

वैपकॉस कंपनी जयपुर में जवाई पुनर्भरण की डीएफआर मुख्य सचिव को करेगी पेश

भास्कर संवाददाता | पाली/सुमेरपुर सब कुछ सही रहा तो आगामी कुछ दिनों में जवाई पुनर्भरण योजना को लेकर तैयार डीपीआर...

Danik Bhaskar | Feb 19, 2018, 06:40 AM IST
भास्कर संवाददाता | पाली/सुमेरपुर

सब कुछ सही रहा तो आगामी कुछ दिनों में जवाई पुनर्भरण योजना को लेकर तैयार डीपीआर केंद्रीय जल आयोग (सीडब्ल्यूसी) को भेज दी जाएगी। इसको लेकर सोमवार को जयपुर में मुख्य सचिव अशोक जैन को दिल्ली की वैपकॉस कंपनी पॉवर प्वाइंट के जरिए डीएफआर (डिटेल फैक्चुअल रिपोर्ट) दिखाएगी। अगर इसमें किसी प्रकार की कमी नहीं निकाली गई तो इसी सप्ताह में कंपनी पूरी रिपोर्ट सीडब्ल्यूसी को भेज देगी। गौरतलब है कि गत माह कंपनी जवाई पुनर्भरण योजना की डीपीआर बनाकर पहले राज्य और बाद में केंद्र की सीडब्ल्यूसी को भेजी थी। सीडब्ल्यूसी ने नोट लगाकर उसे फिर लौटा दिया। अब कंपनी ने सीडब्ल्यूसी द्वारा दिए गए निर्देश पर डीएफआर तैयार कर ली है।

पॉवर प्वाइंट के जरिए कंपनी बताएगी योजना की डीएफआर : जयपुर में सोमवार को मुख्य सचिव के साथ होने वाले महत्वपूर्ण बैठक में वैपकॉस कंपनी के इंजीनियर्स पॉवर प्वाइंट के जरिए जवाई पुनर्भरण योजना की डीपीआर को लेकर तैयार की गई फैक्चुअल रिपोर्ट दिखाएगी। इसमें पानी लाने के तरीके की ग्राउंड रिपोर्ट होने के साथ टनल या खुली नहर बनाने और पाइपलाइन के जरिए पानी लाने के तरीकों के बारे में बताया जाएगा। साथ ही दोनों पर खर्च आने वाली राशि के बारे में बताया जाएगा।

सीडब्ल्यूसी ने सुझाए थे दो विकल्प, कंपनी उसकी तैयार की रिपोर्ट : केंद्र सरकार की वैपकॉस कंपनी ने जवाई पुनर्भरण योजना की डीपीआर व डीएफआर तैयार कर पहले चरण केंद्रीय जल आयोग को भेजी थी। केंद्रीय जल आयोग ने डीपीआर पर नोट लगाकर दो विकल्प सुझाए थे। इसमें पहला खुली या टनल के माध्यम से पानी लिया जाए तो कितना खर्च आए और दूसरा पाइपलाइन के माध्यम से पानी लिया जाए तो कितनी राशि लगेगी। इन दोनों विकल्पों को लेकर रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश दिए थे। अब कंपनी ने पूरी रिपोर्ट तैयार कर ली है।

...तो स्वीकृत हो सकता है 6 हजार करोड़ का बजट : जवाई पुनर्भरण योजना को लेकर कंपनी ने सीडब्ल्यूसी द्वारा सुझाए विकल्पों की रिपोर्ट तैयार कर दी है। यह रिपोर्ट राज्य सरकार से स्वीकृति मिलने के बाद आगामी कुछ दिनों में सीडब्ल्यूसी को भेज दी जाएगी। सीडब्ल्यूसी भी इस रिपोर्ट पर स्वीकृति दे देती है तो जवाई पुनर्भरण को लेकर घोषित 6 हजार करोड़ का बजट मिल सकता है। गत दिनों मुख्यमंत्री ने बजट में घोषणा की थी।

अच्छी खबर

जवाई पुनर्भरण की डीएफआर तैयार, योजना को लेकर दिल्ली की वैपकॉस कंपनी ने तैयार की पूरी रिपोर्ट



, आज जयपुर में मुख्य सचिव को पॉवर प्वाइंट के जरिए दिखाएंगे कंपनी के अधिकारी, स्वीकृति मिलते ही इसे भेजा जाएगा सीडब्ल्यूसी को

जल्द ही रिपोर्ट सीडब्ल्यूसी को भेजी जाएगी