• Home
  • Rajasthan News
  • Sumerpur News
  • गुजरात में कुख्यात बदमाश नाथूराम ने की पाली पुलिस पर फायरिंग, मुठभेड़ में साथी समेत पकड़ा गया
--Advertisement--

गुजरात में कुख्यात बदमाश नाथूराम ने की पाली पुलिस पर फायरिंग, मुठभेड़ में साथी समेत पकड़ा गया

चेन्नई के ज्वेलर्स शॉप से लूटे गए साढ़े 3 किलोग्राम सोना व 5 किलोग्राम चांदी के मामले में आरोपी को पकड़ते वक्त...

Danik Bhaskar | Jan 14, 2018, 07:25 AM IST
चेन्नई के ज्वेलर्स शॉप से लूटे गए साढ़े 3 किलोग्राम सोना व 5 किलोग्राम चांदी के मामले में आरोपी को पकड़ते वक्त चेन्नई से पहुंचे पुलिस दल की गफलत से ही साथी सब इंस्पेक्टर पेरियापांडियन की मौत के बाद से फरार चल रहे कुख्यात अपराधी नाथूराम पिंडेल को पुलिस ने राजकोट जिले के बगोदड़ा इलाके में शनिवार रात मुठभेड़ के बाद उसके साथी सुरेश मेघवाल निवासी मांडा को भी पकड़ लिया। आरोपी ने पुलिस दल से घिर जाने के बाद कार में बैठे-बैठे ही फायर कर दिया। जवाब में एएसआई कमलसिंह की टीम ने 3 राउंड फायर कर मुख्य आरोपी नाथूराम को स्टेयरिंग पर ही दबोच लिया। कार में चेन्नई से जेवरात लूटने का आरोपी दीपाराम जाट समेत चार लोग सवार थे, मगर मुठभेड़ के दौरान कुख्यात साथी नाथूराम को छोड़ दीपाराम व एक अन्य आरोपी भाग गए। रविवार सुबह तक पाली से गई स्पेशल टीम इन दोनों आरोपियों को लेकर जैतारण पहुंच जाएगी।

जानकारी के अनुसार गत 16 नवंबर को चेन्नई में महालक्ष्मी ज्वेलर्स की दुकान की छत में सुराख कर साढ़े तीन किलो सोना, पांच किलोग्राम चांदी व 2 लाख रुपए चोरी हो गए थे। ज्वेलर बाबरा हाल चेन्नई निवासी मुकेश जैन ने रामावास निवासी नाथूराम पिंडेल, खारिया नींव निवासी दीपाराम जाट व बिलाड़ा के घाणा मगरा निवासी दिनेश चौधरी के खिलाफ केस दर्ज कराया था। इन आरोपियों को पकड़ने के लिए चेन्नई के कोलातुर थाना पुलिस ने लोटोती निवासी तेजाराम जाट के करोलिया सरहद में चूना भट्टा पर दबिश दी थी तो आरोपियों ने पुलिस दल पर हमला बोल दिया। हमले के दौरान इंस्पेक्टर मुनि शेखर समेत चारों पुलिसकर्मी जान बचाने दीवार फांद कर बाहर की तरफ चले गए, लेकिन भागते समय इंस्पेक्टर पेरियापांडियन लोहे की फाटक पर चढ़ गए। बाहर खड़े इंस्पेक्टर मुनि शेखर ने हमलावरों पर फायर करने के लिए पिस्टल निकाली और उसे अन कोक करते समय ही एक्सीडेंटल गोली चल गई जो इंस्पेक्टर पेरियापांडियन की बांह के नीचे लगते हुए आरपार हो गई, जिससे उनकी मौत हो गईं।

पुलिस को देखते ही की फायरिंग, जवाबी फायरिंग में दबोचा गया

एसपी दीपक कुमार भार्गव ने चेन्नई से सोना-चांदी के जेवरात लूट व चेन्नई पुलिस पर हमला कर फरार हुए रामावास निवासी कुख्यात अपराधी नाथूराम पिंडेल पुत्र चैनाराम तथा दीपाराम जाट की तलाश के लिए स्पेशल टीमें गठित कर रखी थीं। एक टीम नाडोल चौकी प्रभारी कमलसिंह के नेतृत्व में थी, जिसमें सदर थाने की साइबर सेल के हैडकांस्टेबल गौतम आचार्य, सुमेरपुर के हैडकांस्टेबल चुनाराम जाट व रानी के कांस्टेबल नौरतमल था। दूसरी टीम साइबर सेल प्रभारी उप निरीक्षक डॉ. मनोहर विश्नोई, शिवपुरा के हैडकांस्टेबल पुरखाराम जाट, जैतारण से कांस्टेबल लक्ष्मणराम व रायपुर से चैनाराम शामिल थे। शनिवार रात राजकोट के बगोदड़ा गांव के समीप आरोपी नाथूराम व दीपाराम अपने 2 अन्य साथियों के साथ अहमदाबाद जा रहा था। बगोदड़ा टोल प्लाजा के निकट एएसआई कमलसिंह की टीम ने नाथूराम की कार को रुकवाया तो पुलिस को देखते ही आरोपी नाथूराम ने पिस्टल से फायर कर दिया। इससे एकबारगी पुलिस दल हड़बड़ा गया। इसके बाद सतर्कता बरतते हुए एएसआई कमलसिंह ने भी जवाब में 3 राउंड फायर किए। इसके बाद दल में शामिल जवानों ने सीधे ही मुख्य आरोपी को स्टेयरिंग पर ही दबोच कर अपने काबू में कर लिया। जीप में बैठा दीपाराम जाट एक साथी के साथ मौके से भाग गया। नाथूराम के साथ ही उसके सहयोगी निंबली मांडा के रहने वाले सुरेश मेघवाल को भी पुलिस ने पकड़ लिया।

चेन्नई से करीब सवा करोड़ के जैवरात व चेन्नई पुलिस के हमले के मामले में 1 माह से फरार था आरोपी

भास्कर संवाददाता | पाली

चेन्नई के ज्वेलर्स शॉप से लूटे गए साढ़े 3 किलोग्राम सोना व 5 किलोग्राम चांदी के मामले में आरोपी को पकड़ते वक्त चेन्नई से पहुंचे पुलिस दल की गफलत से ही साथी सब इंस्पेक्टर पेरियापांडियन की मौत के बाद से फरार चल रहे कुख्यात अपराधी नाथूराम पिंडेल को पुलिस ने राजकोट जिले के बगोदड़ा इलाके में शनिवार रात मुठभेड़ के बाद उसके साथी सुरेश मेघवाल निवासी मांडा को भी पकड़ लिया। आरोपी ने पुलिस दल से घिर जाने के बाद कार में बैठे-बैठे ही फायर कर दिया। जवाब में एएसआई कमलसिंह की टीम ने 3 राउंड फायर कर मुख्य आरोपी नाथूराम को स्टेयरिंग पर ही दबोच लिया। कार में चेन्नई से जेवरात लूटने का आरोपी दीपाराम जाट समेत चार लोग सवार थे, मगर मुठभेड़ के दौरान कुख्यात साथी नाथूराम को छोड़ दीपाराम व एक अन्य आरोपी भाग गए। रविवार सुबह तक पाली से गई स्पेशल टीम इन दोनों आरोपियों को लेकर जैतारण पहुंच जाएगी।

जानकारी के अनुसार गत 16 नवंबर को चेन्नई में महालक्ष्मी ज्वेलर्स की दुकान की छत में सुराख कर साढ़े तीन किलो सोना, पांच किलोग्राम चांदी व 2 लाख रुपए चोरी हो गए थे। ज्वेलर बाबरा हाल चेन्नई निवासी मुकेश जैन ने रामावास निवासी नाथूराम पिंडेल, खारिया नींव निवासी दीपाराम जाट व बिलाड़ा के घाणा मगरा निवासी दिनेश चौधरी के खिलाफ केस दर्ज कराया था। इन आरोपियों को पकड़ने के लिए चेन्नई के कोलातुर थाना पुलिस ने लोटोती निवासी तेजाराम जाट के करोलिया सरहद में चूना भट्टा पर दबिश दी थी तो आरोपियों ने पुलिस दल पर हमला बोल दिया। हमले के दौरान इंस्पेक्टर मुनि शेखर समेत चारों पुलिसकर्मी जान बचाने दीवार फांद कर बाहर की तरफ चले गए, लेकिन भागते समय इंस्पेक्टर पेरियापांडियन लोहे की फाटक पर चढ़ गए। बाहर खड़े इंस्पेक्टर मुनि शेखर ने हमलावरों पर फायर करने के लिए पिस्टल निकाली और उसे अन कोक करते समय ही एक्सीडेंटल गोली चल गई जो इंस्पेक्टर पेरियापांडियन की बांह के नीचे लगते हुए आरपार हो गई, जिससे उनकी मौत हो गईं।

पुलिस को देखते ही की फायरिंग, जवाबी फायरिंग में दबोचा गया

एसपी दीपक कुमार भार्गव ने चेन्नई से सोना-चांदी के जेवरात लूट व चेन्नई पुलिस पर हमला कर फरार हुए रामावास निवासी कुख्यात अपराधी नाथूराम पिंडेल पुत्र चैनाराम तथा दीपाराम जाट की तलाश के लिए स्पेशल टीमें गठित कर रखी थीं। एक टीम नाडोल चौकी प्रभारी कमलसिंह के नेतृत्व में थी, जिसमें सदर थाने की साइबर सेल के हैडकांस्टेबल गौतम आचार्य, सुमेरपुर के हैडकांस्टेबल चुनाराम जाट व रानी के कांस्टेबल नौरतमल था। दूसरी टीम साइबर सेल प्रभारी उप निरीक्षक डॉ. मनोहर विश्नोई, शिवपुरा के हैडकांस्टेबल पुरखाराम जाट, जैतारण से कांस्टेबल लक्ष्मणराम व रायपुर से चैनाराम शामिल थे। शनिवार रात राजकोट के बगोदड़ा गांव के समीप आरोपी नाथूराम व दीपाराम अपने 2 अन्य साथियों के साथ अहमदाबाद जा रहा था। बगोदड़ा टोल प्लाजा के निकट एएसआई कमलसिंह की टीम ने नाथूराम की कार को रुकवाया तो पुलिस को देखते ही आरोपी नाथूराम ने पिस्टल से फायर कर दिया। इससे एकबारगी पुलिस दल हड़बड़ा गया। इसके बाद सतर्कता बरतते हुए एएसआई कमलसिंह ने भी जवाब में 3 राउंड फायर किए। इसके बाद दल में शामिल जवानों ने सीधे ही मुख्य आरोपी को स्टेयरिंग पर ही दबोच कर अपने काबू में कर लिया। जीप में बैठा दीपाराम जाट एक साथी के साथ मौके से भाग गया। नाथूराम के साथ ही उसके सहयोगी निंबली मांडा के रहने वाले सुरेश मेघवाल को भी पुलिस ने पकड़ लिया।

आरोपी नाथूराम।

चेन्नई पुलिस पर हमले के मामले में वांटेड दीपाराम कुख्यात साथी को छोड़ भागा

चेन्नई से करीब सवा करोड़ रुपए के जेवरात लूटने तथा चेन्नई पुलिस पर हमले के मामले में दीपाराम जाट भी वांटेड हैं, लेकिन शनिवार रात को पाली पुलिस की मुठभेड़ में वह अपने कुख्यात साथी नाथूराम को छोड़ भाग गया।

1 माह से दे रहे थे पुलिस को चकमा

गत 14 दिसंबर से ही कुख्यात अपराधी नाथूराम व उसका साथी दीपाराम जाट पुलिस को चकमा दे रहे थे, गुजरात के राजकोट जिले में अपने सहयोगियों की मदद से छिपा था आरोपी, नाथूराम व उसके दोस्त सुरेश को लेकर आज जैतारण लेकर पहुंचेगा पुलिस दल