• Home
  • Rajasthan News
  • Sumerpur News
  • पुलिस ने शुरू की बिरामी टोल बूथ पर महिला चिकित्सक व टोलकर्मी के उलझने की जांच
--Advertisement--

पुलिस ने शुरू की बिरामी टोल बूथ पर महिला चिकित्सक व टोलकर्मी के उलझने की जांच

सुमेरपुर की महिला रोग विशेषज्ञ डॉ. अनिता राजपुरोहित व उनके पति राकेश राजपुरोहित के खिलाफ टोलकर्मी से मारपीट का...

Danik Bhaskar | Feb 26, 2018, 07:30 AM IST
सुमेरपुर की महिला रोग विशेषज्ञ डॉ. अनिता राजपुरोहित व उनके पति राकेश राजपुरोहित के खिलाफ टोलकर्मी से मारपीट का मामला

भास्कर संवाददाता | पाली

सांडेराव थाना क्षेत्र के बिरामी टोल नाके पर शनिवार देर शाम सुमेरपुर की प्रमुख महिला रोग विशेषज्ञ डॉ. अनिता राजपुरोहित तथा उनके पति राकेश राजपुरोहित द्वारा टोलकर्मी को धमकाने तथा उसके साथ मारपीट करने के मामले में पुलिस ने रविवार को घटनास्थल का मौका मुआयना किया । टाेल बूथ पर लगे सीसीटीवी से वीडियो फुटेज भी लिए हैं।

मामले में खिंवाड़ा निवासी बिजेंद्र कुमार पुत्र मदनलाल ने मामला दर्ज करवाया है कि बिरामी के एलएंडटी टोल बूथ के 9 नंबर काउंटर पर शुक्रवार शाम उसकी ड्यूटी थी। शाम करीब 5.25 बजे टोल बूथ पर ओवरलोडेड वाहनों के कारण अन्य वाहनों की लंबी कतार लग गई थी। इसी दौरान कार में सवार सुमेरपुर निवासी महिला डॉ. अनिता राजपुरोहित अपने हाथ में चप्पल लेकर तमतमाते हुए पहुंची तथा बूथ के कांच पर मारने लगी। शिफ्ट इंचार्ज सर्वेश चौधरी ने समझाइश का प्रयास किया। लेकिन उनके साथ भी धक्का-मुक्की व गाली गलौच की। इस बीच वह दुबारा आई और खिड़की खोलकर मुझे चप्पलों से पीटा तथा अभद्रता की। गालियां दी। टोल पर कार्यरत साथियों ने विंडो का कांच बंद करने का प्रयास किया ताे उनसे भी उलझ गईं। समझाइश का प्रयास किया तो पति प|ी दोनों मारपीट पर उतारू हो गए। अन्य कर्मचारियों ने हंगामा होते देखकर समझाइश का प्रयास किया। रिपोर्ट में कहा है कि पूरा घटनाक्रम टोल बूथ पर लगे सीसीटीवी में कैद है। थाना प्रभारी सीमा जाखड़ ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है। साथ ही वीडियाे फुटेज भी पुलिस ने जुटाए हैं।

चप्पल से मारपीट के सीसीटीवी फुटेज जुटाए

आए दिन जाम की स्थिति, टोल बूथों पर बढ़ रही मारपीट की घटनाएं

जिले में ब्यावर से पिंडवाड़ा हाईवे पर तीन टोल प्लाजा हैं। तीनों पर आए दिन जाम लगता है। सुबह व शाम को यह स्थिति ज्यादा रहती है इसके बावजूद सभी विंडो नहीं खोली जाती। टोल कर्मचारियों द्वारा अभद्रता की शिकायतें भी वाहन चालक लगातार करते हैं फिर भी टोल कंपनी प्रशासन इसे गंभीरता से नहीं लेता। दो दिन पहले ही जिले के बर टोल बूथ पर कहासुनी के बाद ट्रक चालकों ने जाम लगाकर हंगामा किया था। इसका खमियाजा अन्य वाहन चालकों को भुगतना पड़ता है। भारी-भरकम टोल चुकाने के बावजूद वाहन चालकों को टोल बूथ से निकलने के लिए लंबा इंतजार करना पड़ता है।

हॉस्पिटल में मरीज था, टोल पर जाम लगा, कहा तो टोलकर्मियों ने अभद्रता की- डॉ. राजपुरोहित


पूरा मामला सीसीटीवी में कैद, अभद्रता जैसी कोई बात नहीं- टोल मैनेजर