सुमेरपुर

  • Home
  • Rajasthan News
  • Sumerpur News
  • हवनकुंड मे दी आहूतियां, भागवत कथा से माहौल हुआ धर्ममय
--Advertisement--

हवनकुंड मे दी आहूतियां, भागवत कथा से माहौल हुआ धर्ममय

क्षेत्र के रास कस्बे मे जस्सानाथ मंडी परिसर मे पीर जस्सानाथ महाराज मन्दिर प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव को लेकर दिनभर...

Danik Bhaskar

Mar 06, 2018, 07:30 AM IST
क्षेत्र के रास कस्बे मे जस्सानाथ मंडी परिसर मे पीर जस्सानाथ महाराज मन्दिर प्राण प्रतिष्ठा महोत्सव को लेकर दिनभर विभिन्न अनुष्ठान हुए। पीर नारायणनाथ महाराज के सानिध्य मे पंडित विष्णुप्रसाद शास्त्री ने दिनभर यजमानों को मंत्रोच्चारण के साथ 21 कुंडीय हवनकुंड मे आहुतियां दिलाई गई मन्दिर परिसर मे दिनभर चले धार्मिक आयोजन से माहौल धर्ममय बन गया।

भगवान भाव के भूखे-शास्त्री : जस्सानाथ मंडी परिसर मे आयोजित भागवत कथा मे सोमवार को रामप्रसाद शास्त्री ने कहा कि जब जब पृथ्वी पर अत्याचार बढ़ा हैं तब तब स्वयं भगवान अवतरित हुए हैं। जब भक्त अपने भगवान को दिल से पुकारता हैं तो उन्हें आना ही पड़ता हैं। वे भाव के भूखे हैं दिल से की गई भक्ति उन्हें लुभाती हैं। उनको आडम्बर पसंद नहीं हैं यही वजह हैं कि बचपन मे वे कभी मक्खन चुराते हैं कभी गोपियों के साथ रास रचाते हैं। ये सब उनकी लीलाएं हैं। जिनके माध्यम से वे अपने भक्तों के साथ कुछ समय बिताना चाहते हैं। इस अवसर पर रंगारंग झांकी भी निकाली गई। इस मौके बड़ी संख्या मे श्रद्धालु मौजूद रहे।

दीपाराम महाराज मेले में दर्शन के लिए उमड़े श्रद्धालु

गुंदोज| साकदड़ा ग्राम पंचायत के भावनगर गांव में संत दीपाराम महाराज का मेला सोमवार को भरा गया। दीपा राम जी महाराज के मेले में आस-पास के गांव से दर्जनों की संख्या में श्रद्धालु पहुंचे। मेले मे लोक संस्कृति की विशेष झलक देखने को मिली। मेले की पूर्व रात्रि में संत दीपाराम जी महाराज के नाम विशाल भजन संध्या का आयोजन किया गया। भक्ति संध्या में गायक कलाकार शंकर टॉक एंड पार्टी और प्रसिद्ध ने भजन संध्या की शुरुआत गणपति वंदना से की। मेले मे महाप्रसादी का आयोजन किया कुमावत परिवार टेवाली वालो की ओर से किया गया| लोगों ने खुशहाली की कामना की। मेले में बड़ी संख्या में गैर दलों ने भाग लिया|

यह रहे मौजूद: प्रदेश कांग्रेस कार्यकारिणी सदस्य भूराराम सीरवी, जोगाराम, गिरधारी लाल, बालाराम, लखाराम,दानाराम, बिंजाराम, रुपाराम, भंवरलाल, मांगीलाल समेत बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे|

जिलेभर में हुए कई धार्मिक कार्यक्रम, सेवाड़ी में भरा खेतलाजी का मेला

जैतारण. रास मे आयोजित भागवत कथा मे उपस्थित भक्तगण।

9 दिवसीय इक्कीस कुंडीय यज्ञ का शुभारंभ कई संत पहुंचे

बांजाकुड़ी. रास स्थित जसानाथ जी की मंडी मे चल रहे दस दिवसीय घार्मिक कार्यक्रमों मे जन सैलाब उमड़ रहा है। मंडी के पीर नारायणनाथ महाराज ने बताया कि सोमवार से पंडित विष्णु प्रकाश शास्त्री के सानिध्य मे 9 दिवसीय इक्कीस कुंडीय यज्ञ का मंत्रोच्चारण से शुभारंभ हुआ।

खेतलाजी के लक्खी मेले में प्रदेश की संस्कृति झलकी

बेड़ा| समीप के सेवाड़ी कस्बे में सेवाड़ी खेतलाजी के दो दिवसीय लक्खी मेले में प्रदेश की संस्कृति की झलक देखने को मिली। लक्खी मेला का शुभारंभ सुबह पूजा अर्चना के साथ विभिन्न चढ़ावें को पूर्ण कर किया गया। दोपहर में राजस्थानी पोशाकों में सजे धजे नर्तकों ने गैर नृत्य की समां बांधी, जिसे देखने के लिए दूर दराज के गावों एवं प्रवासी लोगों ने शिरकत की। तत्पश्चात महाप्रसादी में हजारों लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया।

मेले में शांति एवं सुव्यवस्था पुलिस बल का सराहनीय योगदान रहा। मेले में लगी दुकानों से लोगों ने हाट मणिहारी की खरीददारी की। मेला प्रसादी के रूप कड़ाव में मक्के के बाकलों का भी लोगों ने लुप्त उठाया। इस मेले के आयोजन में गजाराम जाट अध्यक्ष, जेठमल परिहार, रताराम मीणा, गणेशमल गर्ग, पुखराज डी. पालीवाल, खुशेन्द्र जोशी, सांकलचंद लौहार, रताराम घांची व सुरेंद्रसिंह राठौड़ कार्यकारिणी सदस्यगण एवं समस्त ट्रस्ट मण्डल, अर्बुदा माता भक्त परिवार, युवा मण्डल व ग्रामवासी सेवाड़ी का विशेष सहयोग रहा।

बांजाकुड़ी. भागवत कथा मे प्रवचन देते संत।

सेवाड़ी. दो दिवसीय लक्खी मेले में आयोजित भजन संध्या में उमड़े श्रद्धालु।

भारुंदा गांव में एक शाम गणपति के नाम भजन संध्या का हुआ आयोजन

नोवी|
सुमेरपुर उपखंड के भारुंदा गांव में स्थित छोटी ब्रह्मपुरी में श्री सिद्धिविनायक व गणपति देव मंदिर में सोमवार को गोमतीवाल ब्राह्मण समाज द्वारा मंदिर मे पंडित संतोष महाराज द्वारा विधि विधान से वेद मंत्रों के साथ हवन में आहुतियां दी गई। समाज के बंधुओं ने बताया कि पिछले 1 महीने से सिद्धिविनायक व गणपति मंदिर में पूजा पाठ बंद था उसको लेकर सोमवार को समस्त गोमतीवाल ब्राह्मण समाज द्वारा मंदिर परिसर में महाराज के सानिध्य में हवन का कार्यक्रम आयोजित किया गया। वहीं मंदिर में पूजा-अर्चना भी की गई इससे पूर्व समाज के भामाशाह बाबूलाल पुत्र मगाजी द्वारा मंदिर को फूलों से सजाया गया। रात्रि में भजन संध्या का आयोजन किया गया।

नोवी. हवन में आहुतियां देते यजमान।

Click to listen..