• Home
  • Rajasthan News
  • Sumerpur News
  • पैरामेडिकल छात्रों को व्यवहार व उपस्थिति के आधार पर नंबर
--Advertisement--

पैरामेडिकल छात्रों को व्यवहार व उपस्थिति के आधार पर नंबर

पैरामेडिकल छात्रों को व्यवहार व उपस्थिति के आधार पर नंबर सुमेरपुर| प्रदेश में संचालित पैरामेडिकल संस्थानों...

Danik Bhaskar | Apr 05, 2018, 07:30 AM IST
पैरामेडिकल छात्रों को व्यवहार व उपस्थिति के आधार पर नंबर

सुमेरपुर|
प्रदेश में संचालित पैरामेडिकल संस्थानों में डिप्लोमा व डिग्री कर रहे विद्यार्थियों के व्यवहार, प्रायोगिक कक्षा में उपस्थिति, नॉलेज व काम का मूल्यांकन कर इंटरनल परीक्षा के अंक भेजे जाएंगे। यह व्यवस्था अगले सत्र से लागू हो जाएगी। इसमें 100 अंकों के होने वाले पेपर में 20 अंक इंटरनल व 80 अंक थ्योरी पर आधारित होंगे। इसके अलावा डिप्लोमा कोर्सेज में अब पास होने के लिए 50 की जगह न्यूनतम 45 फीसदी अंक लाने होंगे। जबकि डिग्री कोर्सेज में यूनिफोर्मेटी को देखते हुए 50 फीसदी ही रखा गया है। आरयूएचएस के प्रवक्ता डॉ.ए.चौगले का कहना है कि राजस्थान स्वास्थ्य विज्ञान विश्वविद्यालय की बोर्ड ऑफ स्टडीज की बैठक में पैरामेडिकल संस्थाओं के छात्रों की पढ़ाई व मरीजों को बेहतरीन उपचार उपलब्ध कराने से संबंधित कई निर्णय लिए गए । उल्लेखनीय है कि राज्य में वर्तमान में 12 तरह के पैरामेडिकल कोर्सेज संचालित है तथा सीटों की संख्या 485 है। आरयूएचएस की ओर से अगले सत्र से दो वर्षीय डिप्लोमा इन जीआई एंडोस्कोपी टेक्नोलॉजी, ब्लड बैंक टेक्‍नोलॉजी व डिप्लोमा इन आर्थोपेडिक्स टेक्‍नोलॉजी शुरू होंगे। हरेक में प्रवेश टेस्ट के जरिए होगा। तीनों के लिए सिलेबस तैयार कर लिया गया है।