• Home
  • Rajasthan News
  • Sumerpur News
  • पाली के पुलिसकर्मियों की एक और बड़ी नजीर- सबने दो दिन का वेतन कटवाया, दिवंगत साथियों के परिवारों को मिले 5-5 लाख
--Advertisement--

पाली के पुलिसकर्मियों की एक और बड़ी नजीर- सबने दो दिन का वेतन कटवाया, दिवंगत साथियों के परिवारों को मिले 5-5 लाख

पाली. पाली जिले के श्रेष्ठ कार्य करने वाले 33 पुलिस कर्मियों व अधिकारियों को पुलिस महानिदेशक ने किया सम्मानित।...

Danik Bhaskar | Feb 11, 2018, 07:35 AM IST
पाली. पाली जिले के श्रेष्ठ कार्य करने वाले 33 पुलिस कर्मियों व अधिकारियों को पुलिस महानिदेशक ने किया सम्मानित।

भास्कर संवाददाता | पाली

समारोह में वर्ष 2017 में दिवंगत सात पुलिसकर्मियों के आश्रितों को सहायता राशि के चेक दिए गए। इस दौरान कलेक्टर सुधीर शर्मा व विधायक ज्ञानचंद पारख भी मौजूद थे। एसपी दीपक भार्गव ने बताया कि जिला पुलिस के सभी अधिकारी-कर्मचारियों ने दो दिन की वेतन कटौती कराकर सहायता राशि के रूप में प्रत्येक मृतक के आश्रित को 5 लाख 20 हजार 257 रुपए उपलब्ध कराए।

श्रेष्ठ कार्य के लिए सुमेरपुर डीएसपी-सीआई सहित 33 अधिकारी-कर्मचारियों को सम्मानित किया डीजीपी ने : समारोह के दौरान डीजीपी द्वारा श्रेष्ठ कार्य करने वाले 33 पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों का सम्मान किया गया। इनमें तखतगढ़ के पिचावा गांव में तिहरे हत्याकांड के अपराधियों को पकड़ने के लिए सुमेरपुर सीओ अमरसिंह चंपावत व उनकी टीम में शामिल नाणा थाने के तत्कालीन थानेदार नारायणलाल विश्नोई, एएसआई रघुनाथसिंह, हैडकांस्टेबल भगवतसिंह, श्रवणसिंह, तखतगढ़ थाने के कांस्टेबल प्रकाश व आबूरोड के कांस्टेबल जयंतीलाल का सम्मान किया गया। साइबर सेल में रहते हुए साइबर तकनीक से नाइजीरियन ठग के साथ विभिन्न गिरोह को पकड़ने के लिए सादड़ी एसएचओ पदमपाल सिंह भाटी, सदर थाना साइबर सेल के हैडकांस्टेबल गौतम आचार्य, कांस्टेबल राकेश शर्मा, मगनाराम के साथ रायपुर थाना प्रभारी राजेंद्रसिंह चारण, बर चौकी प्रभारी धौलाराम परिहार, वहां के कांस्टेबल राजेश को सम्मानित किया गया। सुमेरपुर थाना प्रभारी सुमेरसिंह, नाणा थानेदार दाऊद खान, रानी एसएचओ दीपसिंह भाटी, रास थानेदार राजेश मीणा, पुलिस लाइन के आरआई मादाराम मेहरड़ा, कंट्रोल रूम के एएसआई दीपाराम देवड़ा, मिलगेट चौकी प्रभारी सुरेश कुमार बारोलिया,बाढ़ के दौरान हेमावास बांध के ओवरफ्लो में फंसे तीन लोगों की जान बचाने पर हैडकांस्टेबल चंपालाल प्रजापत, एसपी ऑफिस के साइबर सेल के कांस्टेबल ओमप्रकाश सीरवी, राजेंद्रसिंह, हैडकांस्टेबल दीपाराम, पुलिस लाइन के हैडकांस्टेबल गणेश, कालू थाने के हैडकांस्टेबल उमराव खान, नामी तस्कर हड़मान विश्नोई को पकड़ने के दौरान फायरिंग में जख्मी हुए सदर थाने के कांस्टेबल राजेश जाट, ट्रैफिक पुलिस की कांस्टेबल किनिया, एसपी के ड्राइवर दिलीपसिंह, गनमैन राजेश सीरवी, कोतवाली थाने के साइबर एक्सपर्ट कांस्टेबल जितेंद्र बागौड़ा, पुलिस लाइन के कांस्टेबल स्वतंत्र कुमार व राजेंद्र को भी सम्मानित किया गया।

समारोह में डीजीपी द्वारा श्रेष्ठ कार्य करने वाले पुलिस अधिकारी-कर्मचारियों किया सम्मान

आत्मरक्षा का डेमो देख अभिभूत हुए डीजीपी

पुलिस लाइन में डीजीपी के साथ एडीजीपी व आईजी ने पुलिसकर्मियों की ओर से आत्मरक्षा के प्रशिक्षण का डेमो देखा। डीजीपी आत्मरक्षा का डेमो देख अभिभूत हो गए और उन्होंने इसका प्रशिक्षण देने वाले कोच मोहम्मद आसिफ की सराहना की।

जवानों से मिले, अफसरों को दिए क्राइम कंट्रोल के टिप्स

पुलिस लाइन में ही डीजीपी ने संपर्क सभा कर जवानों से उनकी समस्याओं के बारे में विस्तार से जानकारी ली। सभी जवानों से वे बड़ी आत्मीयता से मिले। इसके बाद उन्होंने एसपी कक्ष में जिले के पुलिस अफसरों के साथ बैठक कर क्राइम कंट्रोल के टिप्स दिए।