• Home
  • Rajasthan News
  • Sumerpur News
  • सुमेरपुर में पालिका बनाएगी तीन मंजिला भवन में 28 फ्लैट, जरूरतमंदों को रियायती दर पर मिलेंगे
--Advertisement--

सुमेरपुर में पालिका बनाएगी तीन मंजिला भवन में 28 फ्लैट, जरूरतमंदों को रियायती दर पर मिलेंगे

नगर पालिका सभागार में शनिवार को वार्षिक बजट अनुमोदन के लिए बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें वर्ष 2018-19 के लिए...

Danik Bhaskar | Feb 11, 2018, 07:35 AM IST
नगर पालिका सभागार में शनिवार को वार्षिक बजट अनुमोदन के लिए बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें वर्ष 2018-19 के लिए प्रस्तावित वार्षिक बजट पर चर्चा की गई। बैठक में समस्त सदस्यों ने आंशिक सुधार के साथ ध्वनिमत से 5744.96 लाख रुपए के प्रस्तावित बजट का अनुमोदन किया। पालिका सभागार में पालिकाध्यक्ष जोराराम कुमावत, उपमुख्य सचेतक मदन राठौड़, एसडीएम विनोद कुमार मल्होत्रा की मौजूदगी में वार्षिक बजट का पठन वित्त कमेटी के अध्यक्ष लक्ष्मीनारायण मालवीय द्वारा किया गया। बैठक में हाउसिंग बोर्ड स्थित ईडब्ल्यूएस कॉलोनी स्थित पालिका की 6 हजार 7 सौ 45 वर्ग फीट भूमि पर तीन मंजिला भवन निर्माण कर 28 फ्लैट रियायती दर पर जरूरतमंदों को उपलब्ध कराने का प्रस्ताव रखा, जिस पर सभी सदस्यों ने सहमति जताई। अधिशाषी अधिकारी सोमप्रकाश मिश्रा ने सदस्यों को आगामी वित्त वर्ष के लिए प्रस्तावित बजट के बारे में जानकारी दी। बैठक में प्रस्तावित बजट पर बिंदुवार समीक्षा की गई। सदस्यों ने आय-व्यय के बारे में चर्चा की।

बजट में कच्ची बस्ती में विकास के लिए संशोधन : चर्चा के दौरान सदस्यों ने बजट में संशोधन के प्रस्ताव रखे। इस पर प्रस्तावित बजट के विभिन्न मदों में कच्ची बस्ती में विकास के लिए आंशिक संशोधन किया गया। कुल राजस्व प्राप्ति चालू वर्ष में संशोधित अनुमान 2420.20 के एवज में वास्तविक आय जनवरी 2018 तक 1293.60 लाख तथा वर्ष 2018-19 में 2559.70 लाख रखा गया है, जो चालू वर्ष से 139.50 लाख रुपए अधिक है। पूंजीगत प्राप्तियों में विधायक मद से 1 करोड़, सांसद कोष से 1 करोड़ 50 लाख, पंचम राज्य वित्त आयोग के अंतर्गत चालू वर्ष में 4 करोड़ से वर्ष 2018-19 में 4 करोड़ 80 लाख रुपए, 14वें वित्त आयोग के अंतर्गत चालू वर्ष में 4 करोड़ से वर्ष 2018-19 में 4 करोड़ 50 लाख रुपए अनुदान आने की संभावना जताई गई। वहीं निर्बध योजना में 10 लाख, प्राकृतिक आपदा में 10 लाख, आश्रय स्थल में 25 लाख व स्वच्छ भारत मिशन में 1 करोड़ 50 लाख, इस प्रकार विशेष उद्देश्य अनुमान में चालू वर्ष 1254 के एवज में वास्तविक प्राप्त अनुदान राशि 464.46 लाख जनवरी 2018 तक प्राप्त हुआ तथा वर्ष 2018-19 में 1445 लाख रखा गया, जो कि चालू वर्ष से 191 लाख अधिक प्राप्त होने की संभावना है। इसी क्रम में वर्ष 2017-18 में पूंजीगत प्राप्ति 2073 लाख रुपए और 2018-19 में 2271 लाख रुपए रखी गई, जो 198 लाख रुपए अधिक है। चालू वर्ष में वास्तविक पूंजीगत प्राप्तियां 911.03 लाख रुपए प्राप्त हुई। इस प्रकार राजस्व प्राप्तियों में 2017-18 में 2420.20 लाख रुपए की बजाए 2559.70 लाख रुपए रखा गया है, जो 139.50 लाख रुपए अधिक है।









तथा कुल चालू वर्ष 2017-18 में 5601.21 लाख रुपए की बजाए 5744.96 लाख रुपए का प्रावधान रखा गया।

इस तरह से कुल बजट में 143.75 लाख रुपए का चालू वर्ष से अधिक का प्रावधान रखा गया।

पिछले वर्ष था 56 करोड़ का बजट, इस साल का 57.44 करोड़ रुपए

सुमेरपुर. आम बजट में विचार-विमर्श करते जनप्रतिनिधि।

शहर में विकास कार्यों पर यूं खर्च होगी रािश

प्रस्तावित बजट के दौरान पूंजीगत व्यय उद्यान के लिए 15 लाख, कार्यालय भवन के लिए 20 लाख, सामुदायिक भवन के लिए 30 लाख, विद्यालय भवन में 5 लाख, टाउन हॉल में 350 लाख, नवीन कंकरीट सड़क में 100 लाख, डामर सड़क 100 लाख, अन्य सड़क 20 लाख, नालियों में 10 लाख, नलकूप एवं बोरिंग के लिए 10 लाख, पाइप लाइन में 20 लाख, प्रकाश उपकरण में 30 लाख, फोर व्हीलर घर-घर कचरा संग्रहण के लिए 20 लाख, जीप, कार, कैम्पर में 17 लाख, कुर्सी व टेबल में 10 लाख, बिजली फिटिंग सामान में 10 लाख, अन्य में 10 लाख व संपतियों के निर्माण में 50 लाख का प्रावधान रखा है।

पालिका की आय में हुई कमी

उपाध्यक्ष रमेश राखेचा ने बताया कि गत वर्ष की तुलना में इस वर्ष पालिका की आय में कमी हुई है। पार्षद चतराराम मेघवाल ने कच्ची बस्ती में विकास के लिए बजट में प्रावधान रखने की मांग की। वहीं एक पार्षद ने अवैध निर्माण के चलते पालिका को लाखों का नुकसान होना बताया। बैठक में पार्षद फूलाराम सुथार, लक्ष्मीनारायण मालवीय, पोपटलाल जैन, जवानमल मेड़तिया, मगनाराम सुथार, नीतू जैन, दिनेश मीणा, नारंगीदेवी, किशनलाल वछेटा, शारदा जीनगर, श्यामलाल चांवरिया, चतराराम मेघवाल, मेहबूब खान, रतनलाल घांची, शीतल अग्रवाल, पेपी देवी, पाबूदेवी, सुभाष मेवाड़ा, प्रकाश घांची समेत वार्ड सदस्य व सहवृत सदस्य गणपतसिंह राजपुरोहित, अरूण शर्मा, सहायक लेखाधिकारी बाबूलाल दवे, सहायक अभियंता नारायणदान आदि मौजूद थे।